• Hindi News
  • National
  • The US statement came as defence officials from the two countries held their latest round of Defence Technology and Trade Initiative talks here.
विज्ञापन

चीन और पाकिस्तान के लिए आई बुरी खबर, भारत-अमेरिका साथ मिलकर करेंगे नई रक्षा तकनीक पर काम

dainikbhaskar.com

Mar 16, 2019, 06:02 PM IST

नए प्रोजेक्ट में बनाए जाएंगे कई हथियार, इस चीज पर होगा सबसे ज्यादा फोकस

The US statement came as defence officials from the two countries held their latest round of Defence Technology and Trade Initiative talks here.
  • comment

वॉशिंगटन. भारत-अमेरिका संयुक्त तौर पर एयरक्राफ्ट मेंटेनेंस और रक्षा सहयोग के अलावा किफायती UAV (अनमैन्ड एरियल व्हीकल) बनाने वाले प्रोजेक्ट पर मिलकर काम करेंगे। पेंटागन के मुताबिक हाल ही में दोनों देशों के बीच रक्षा तकनीक और व्यापारिक पहल को लेकर चर्चा हुई। इसका उद्देश्य छोटे हथियारों की नई तकनीक पर काम करना है। इस प्रोजेक्ट का सबसे ज्यादा फोकस किफायती दामों पर हथियार तैयार करना होगा।

बनाए जाएंगे छोटे और सस्ते यूएवी...

- अमेरिका और भारत दोनों देशों के रक्षा अधिकारियों के बीच हाल ही में वॉशिंगटन में नवीनतम दौर की रक्षा प्रौद्योगिकी और व्यापार पहल (DTTI) पर वार्ता हुई। इसी वार्ता के बाद जारी किए गए बयान में ये जानकारी दी गई। बयान के मुताबिक भारत-यूएस DTTI बैठक में सारा ध्यान अमेरिका और भारतीय उद्योग को एक साथ काम करने और अगली पीढ़ी की तकनीकों को विकसित करने पर केंद्रित रहा।
- अमेरिका के रक्षा विभाग की अपर सचिव एलन लॉर्ड ने शुक्रवार को कहा, 'हम UAV बनाने के प्रोजेक्ट पर काम करेंगे।' भारत के रक्षा सचिव अजय कुमार ने बताया, 'हमारी टीम विशेष उत्पादों को तय तारीख में बनाने को लेकर काम कर रही है। इसकी जिम्मेदारी मुख्य व्यक्तियों के पास है।'

किफायती दामों में हथियार बनाने की कोशिश

- लॉर्ड ने कहा, 'हमारी कोशिश युद्ध लड़ने वालों को किफायती दामों में हथियारों में अतिरिक्त सुविधाएं मुहैया कराने की है। इस मिशन में हमारा फोकस तीन बातों पर है। इनमें मानवता को सहयोग, आपदा में राहत, क्रॉस बॉर्डर ऑपरेशन और गुफाओं, सुरंगों के निरीक्षण में मदद करना है।'

अप्रैल तक तैयार होगा योजना का दस्तावेज

- यूएवी को लेकर अमेरिकन एयरफोर्स रिसर्च लेबोरेटरी और भारतीय रक्षा रिसर्च और डेवलपमेंट ऑर्गनाइजेशन (डीआरडीओ) के बीच बातचीत चल रही है। अप्रैल में दोनों देशों के द्वारा तकनीकी योजना दस्तावेज तैयार किया जाएगा।

दोनों ही देशों के लोगों को मिलेगा लाभ

- लॉर्ड ने कहा, 'हम इस योजना पर सितंबर में साइन करेंगे। यह सहयोग हमारी सरकारें और हमारी इंडस्ट्रीज को लेकर है। इसका लाभ भारतीय और अमेरिकन दोनों ही तरफ के लोगों को मिलेगा।'

X
The US statement came as defence officials from the two countries held their latest round of Defence Technology and Trade Initiative talks here.
COMMENT
Astrology
Click to listen..
विज्ञापन
विज्ञापन