• Hindi News
  • National
  • People Arrived At Karachi Bakery And Demanded The Name Of The Bakery Be Changed

\'कराची बेकरी\'पहुंचकर लोगों ने किया हंगामा, की नाम बदलने मांग

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
  • दुकानदार ने ढंका \'कराची\' और लगाया \'तिरंगा\'
  • सिंधी परिवार ने 1952 में की थी इस बेकरी की शुरुआत

बेंगलुरु. यहां के इंदिरापुरम इलाके में अज्ञात लोगों ने कराची बेकरी में तोड़फोड़ की। चश्मदीदों का कहना है कि हंगामा करने वाले लोग बेकरी का नाम बदलने की मांग कर रहे थे। मामले को बिगड़ता देख इसके मालिक ने \'कराची\' शब्द को ढंक दिया। इसके बाद डिस्प्ले में तिरंगा भी लगाया ताकि लोगों को किसी तरह का भ्रम न फैले।

 

घटना की जानकारी सोशल मीडिया पर आने के बाद यूजर्स में हिंदुस्तान और पाकिस्तान को लेकर बहस छिड़ गई। दरअसल, इस बेकरी की शुरुआत 1952 में खानचंद रामनानी ने की थी। उनका परिवार पाकिस्तान के कराची शहर से आंध्रप्रदेश के हैदराबाद आया था। इसी वजह से उन्होंने दुकान का नाम \'कराची बेकरी\' रखा। इस बेकरी के बिस्किट और अन्य प्रोडक्ट मशहूर हैं।

 

यूजर्स ने ट्विटर पर दी प्रतिक्रिया 

Few unidentified people arrived at Karachi Bakery in Bengaluru\'s Indiranagar and demanded that the name of the bakery be changed. The people running the bakery covered the word \'Karachi\' and displayed the India flag to pacify and diffuse the situation. pic.twitter.com/zaqGAK6vvt

— Prajwal (@prajwalmanipal) February 22, 2019