• Hindi News
  • National
  • Petrol Diesel Price Hike/Latest OLD Video Updates; Narendra Modi, Rajnath Singh, Nitin Gadkari, Smriti Irani To Ravi Shankar Prasad

सियासत के VIDEO / बीजेपी के जो नेता डीजल-पेट्रोल के दाम बढ़ने पर सड़कों पर उतर जाते थे, उन्हीं की सरकार डीजल पर 66% टैक्स वसूल रही है

X

  • प्रधानमंत्री मोदी समेत कई मंत्री यूपीए सरकार खिलाफ डीजल-पेट्रोल के मुद्दे पर आंदोलन कर चुके हैं
  • यूपीए सरकार डीजल पर 18% टैक्स वसूलती थी, जबकि मोदी सरकार ने इसे बढ़ाकर 66% कर दिया

दैनिक भास्कर

Jun 30, 2020, 06:13 AM IST

नई दिल्ली. देशभर में डीजल-पेट्रोल के ऊंचे दाम लोगों की जेब पर डाका डाल रहे हैं। लेकिन जो लोग आज केंद्र में सरकार चला रहे हैं, विपक्ष में रहते हुए वही डीजल-पेट्रोल के दाम में इजाफा होने पर प्रदर्शन करने निकल पड़ते थे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से लेकर उनके कई मंत्री डीजल पेट्रोल की कीमतें बढ़ने पर कांग्रेस सरकार को जी भरकर कोसते थे। हम आपको दिखाते हैं कि साल 2010 से लेकर 2014 में सत्ता पर काबिज होने तक क्या कुछ कहते रहे हैं बीजेपी के नेता...

नरेंद्र मोदी

तारीख: 24 मई 2012
बयान: पेट्रोल-डीजल के दाम जिस तरह बढ़ाए गए थे, वो दिल्ली में बैठी सरकार की नाकामी का जीता-जागता सबूत है।

नितिन गडकरी

तारीख: 16 मई, 2010
बयान: जब दाम बढ़ते हैं, तो सरकार का टैक्स भी बढ़ता है। टैक्स में राहत देकर दाम कम किए जा सकते हैं।

राजनाथ सिंह

तारीख : 6 सितंबर, 2011
बयान: पेट्रोल-डीजल की कीमतों में बढ़ोतरी मध्यमवर्गीय लोगों के लिए तो परेशानी है ही, इससे गरीबों के सामने जीने-मरने का सवाल खड़ा हो गया है।

प्रकाश जावड़ेकर

तारीख: 7 नवंबर, 2011
बयान: पेट्रोल-डीजल की कीमतें बढ़ाने का कोई आधार नहीं है। जिस दिन अंतरराष्ट्रीय बाजार में तेल के दाम कम हुए, उसी दिन सरकार ने दाम बढ़ाए।

मुख्तार अब्बास नकवी

तारीख: 1 अप्रैल 2012
बयान: बाजार माफिया पेट्रोल-डीजल की कीमतें बढ़ाकर मंहगाई में इजाफा कर रहा है और सरकार माफिया से मिली हुई है।

स्मृति ईरानी

तारीख: 20 सितंबर, 2012
बयान: मंहगाई कम करने की बात कही थी, लेकिन सरकार क्यों बार-बार पेट्रोल-डीजल की कीमत क्यों बढ़ाती है?

रविशंकर प्रसाद

तारीख: 20 सितंबर, 2012
बयान: सरकार ने डीजल की कीमतें फिर बढ़ा दी हैं। इसका असर गरीबों के खाने की कीमतों तक पर पड़ेगा।

डीजल की कीमत का 66% हिस्सा सरकार की जेब में

सोमवार को पेट्रोल 5 पैसे और डीजल 13 पैसे महंगा हुआ। इस बढ़ोतरी के साथ दिल्ली में डीजल का रेट 80.53 रुपए प्रति लीटर के नए स्तर पर पहुंच गया। दिल्ली में डीजल, पेट्रोल से भी महंगा चल रहा है। 7 जून से अब तक डीजल के रेट में 22 बार इजाफा हो चुका। इस दौरान डीजल 11.14 रुपए महंगा हुआ है। तेल कंपनियों ने 7 जून से रेट बढ़ाने शुरू किए थे। तब से अब तक पेट्रोल के रेट में 21 दिन इजाफा किया गया। इस दौरान पेट्रोल 9.17 रुपए महंगा हुआ है। अभी क्रूड ऑयल 40 डॉलर प्रति बैरल पर है। 16 जून के प्राइस ब्रेकअप के मुताबिक, दिल्ली में डीजल 75.19 रुपए पर था। इसमें बेस प्राइस, किराया भाड़ा और डीलर कमीशन 25.76 रुपया था। इसके ऊपर 50 रुपए सरकार टैक्स के तौर पर वसूल रही है। यानी एक लीटर डीजल के लिए आप जितना पैसा दे रहे हैं, उसका 66% हिस्सा सरकार टैक्स वसूल रही है।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना