पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • Photos Of Fugitive Diamond Merchant Mehul Choksi Imprisoned In Dominica's Prison Surfaced; Red Eyes And Bruises On Hand

कैद में PNB घोटाले का आरोपी:डोमिनिका की जेल में बंद मेहुल चौकसी की फोटो सामने आई; आंख लाल और हाथ पर चोट के निशान, मारपीट का आरोप

रोसियू2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सलाखों में कैद मेहुल चौकसी की बाईं आंख काफी लाल दिखाई दे रही है। वह काफी डरा हुआ भी नजर आ रहा है। - Dainik Bhaskar
सलाखों में कैद मेहुल चौकसी की बाईं आंख काफी लाल दिखाई दे रही है। वह काफी डरा हुआ भी नजर आ रहा है।

करोड़ों रुपए के पंजाब नेशनल बैंक (PNB) घोटाले का आरोपी और भगोड़े हीरा कारोबारी मेहुल चौकसी की डोमिनिका के जेल से पहली तस्वीर सामने आई है। सलाखों के पीछे कैद चौकसी स्काई कलर की टी-शर्ट में दिख रहा है। उसके चेहरे पर डर और भय साफ देखा जा सकता है।

सबसे बड़ी बात ये है कि उसकी बाएं आंख में चोट के निशान दिख रहे हैं। उसकी आंख लाल है। साथ ही उसके हाथ में भी चोट के निशान देखे जा सकते हैं। उसके वकीलों ने दावा किया है कि चौकसी से मारपीट हुई है।

उधर, डोमिनिका की कैबिनेट ने मेहुल चौकसी से जुड़े मसले पर चर्चा की है। कैबिनेट ने तय किया है कि चौकसी के बारे में अब हाईकोर्ट ही फैसला करेगा। उसके वकील ने राहत के लिए हाईकोर्ट में अर्जी लगाई है।

सलाखों के पीछे से अपना हाथ दिखाता मेहुल चौकसी।
सलाखों के पीछे से अपना हाथ दिखाता मेहुल चौकसी।

नागरिकता को लेकर डोमिनिका सरकार ने एंटीगुआ से मांगी है जानकारी
डोमिनिका की सरकार ने बुधवार को बताया था कि नेशनल सिक्योरिटी मिनिस्ट्री ने एंटीगुआ सरकार से मेहुल चौकसी की नागरिकता और कुछ अन्य तथ्यों को लेकर जानकारी मांगी हैं। चौकसी अवैध तरीके से डोमिनिका में आया था। अभी वह हमारी कस्टडी में है, उससे पूछताछ की जा रही है। सारी जानकारी मिलते ही उसे एंटीगुआ के हवाले कर दिया जाएगा। इससे पहले एंटीगुआ-बारबुडा के प्रधानमंत्री गेस्टन ब्राउन ने चौकसी को भारत के हवाले करने को कहा था। हालांकि डोमिनिका ने जांच के बाद ही फैसले की बात कही है।

चौकसी ने लगाया था अपहरण और मारपीट का आरोप
दो दिन पहले मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, डोमेनिका में चौकसी के वकील मार्श वेन ने कहा कि सुबह उन्होंने अपने क्लांइट से पुलिस स्टेशन में मुलाकात की है। वकील के मुताबिक चौकसी ने आरोप लगाया कि उसे डोमिनिका में अपहरण कर लाया गया है। चौकसी ने अपने साथ मारपीट का भी आरोप लगाया है। चौकसी के वकील मामले में राहत के लिए अदालत में अपील दाखिल करने वाले हैं।

हाथ पर चोट के निशान दिखाता मेहुल चौकसी।
हाथ पर चोट के निशान दिखाता मेहुल चौकसी।

क्यूबा भागने की फिराक में था चौकसी
चौकसी को मंगलवार यानी 25 मई को डोमिनिका में पकड़ा गया था। एंटीगुआ मीडिया ने अपनी रिपोर्ट में दावा किया कि 62 साल का चौकसी डोमिनिका से क्यूबा भागने की फिराक में था, उसी दौरान उसे CID ने दबोच लिया। सूत्रों के मुताबिक वह एंटीगुआ और बारबुडा से बोट के जरिए डोमिनिका पहुंचा था।

इंटरपोल ने जारी किया था यलो नोटिस
चौकसी कुछ दिन पहले एंटीगुआ और बारबुडा से लापता हो गया था। इसके बाद इंटरपोल ने उसके खिलाफ यलो नोटिस जारी किया था। बाद में इसी नोटिस को एंटीगुआ सरकार ने भी रिटेन किया। इसके बाद उसकी तलाश तेज कर दी गई। डोमिनिका की लोकल मीडिया रिपोर्ट्स में कहा गया है कि चौकसी को मंगलवार रात पकड़ा गया।

डोमिनिका हाईकोर्ट में चौकसी के वकीलों ने लगाई याचिका
चौकसी के मामले की सुनवाई डोमिनिका के हाईकोर्ट में चल रही है। यहां के जस्टिस बिर्नी स्टीफेंसन ने चौकसी के मामले में शामिल वकीलों को निर्देश जारी किया है। जस्टिस बिर्नी ने सभी वकीलों को गैग ऑर्डर जारी किया है। इसके तहत वकील सार्वजनिक रूप से कोई भी जानकारी या टिप्पणी नहीं कर सकेंगे। चौकसी के वकीलों ने 27 मई को एक याचिका लगाई है जिसमें डोमिनिका पुलिस बल (CDPF) के द्वारा उनके क्लाइंट से नहीं मिलने देने और डोमिनिका अथॉरिटी द्वारा उन्हें एंटीगुआ भेजने को लेकर सुनवाई चल रही है।

डोमिनिका में चौकसी की लीगल टीम। बाईं ओर से जूलियन प्रीवोस्ट, वेन मार्श, वेन नोर्डे और कारा शिलिंगफोर्ड मार्श।
डोमिनिका में चौकसी की लीगल टीम। बाईं ओर से जूलियन प्रीवोस्ट, वेन मार्श, वेन नोर्डे और कारा शिलिंगफोर्ड मार्श।

मुंबई में चौकसी के घर की दीवारों पर नोटिस का अंबार
मुंबई के वालकेश्वर में गोकुल अपार्टमेंट की 9वीं और 10वीं मंजिल स्थित मेहुल चौकसी के घर पर ताला लटका हुआ है, लेकिन घर के दरवाजे और दीवारों पर सरकारी नोटिस का ढेर लगा हुआ है। इनमें से अधिकांश नोटिस CBI, ED, इनकम टैक्स और पंजाब नेशनल बैंक सहित कई अन्य बैंकों के हैं। फ्लैट के दरवाजे के पास फर्श पर भी कई सारे नोटिस बिखरे पड़े हैं। ये सारे नोटिस साल 2019 से लेकर 2021 तक के हैं।

2017 में एंटीगुआ-बारबुडा की नागरिकता ली थी
14,500 करोड़ रुपए के पीएनबी घोटाले का आरोपी चौकसी जनवरी 2018 में विदेश भाग गया था। बाद में पता चला कि वह 2017 में ही एंटीगुआ-बारबुडा की नागरिकता ले चुका था। पीएनबी घोटाले की जांच कर रही केंद्रीय जांच ब्यूरो (CBI) और प्रवर्तन निदेशालय (ED) जैसी एजेंसिया चौकसी के प्रत्यर्पण की कोशिश में जुटी हैं। मेहुल चौकसी खराब सेहत का हवाला देकर भारत में पेशी पर आने से इनकार कर चुका है। कभी-कभी वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए ही उसकी पेशी होती है। भारत में उसकी कई संपत्तियां भी जब्त की जा चुकी हैं।

भांजे नीरव को भारत लाने की मिल चुकी है मंजूरी
इस घोटाले का मुख्य आरोपी चौकसी का भांजा नीरव मोदी लंदन की जेल में है। वहां की अदालत और सरकार ने उसके प्रत्यर्पण की मंजूरी भी दे दी है, लेकिन नीरव ने प्रत्यर्पण के फैसले को लंदन के हाईकोर्ट में चुनौती दी है। इस मामले में हाईकोर्ट का फैसला आने में 10 से 12 महीने का वक्त लग सकता है।

खबरें और भी हैं...