• Hindi News
  • National
  • International Yoga Day Diwas Updates; Narendra Modi Baba Ramdev | Haryana Rajasthan Delhi Gujarat Mumbai

अंतरराष्ट्रीय योग दिवस:PM मोदी ने 15000 लोगों के साथ योगाभ्यास किया; ITBP जवानों ने बर्फ के बीच किया सूर्य नमस्कार

नई दिल्ली2 महीने पहले

'भारत समेत दुनियाभर में आज 8वां अंतरराष्ट्रीय योग दिवस मनाया जा रहा। PM मोदी कर्नाटक के मैसुरु पैलेस ग्राउंड में योग दिवस मनाने पहुंचे थे। उन्होंने करीब 15 हजार लोगों के साथ योग किया। PM मोदी ने योग की शुरुआत ताड़ासन, त्रिकोणासन, भद्रासन जैसे आसनों से की। इस अवसर पर PM मोदी ने कहा कि योग अब वैश्विक पर्व बन गया है। यह पार्ट ऑफ लाइफ नहीं, वे ऑफ लाइफ बन गया है।

योग देश और विश्व में शांति ला सकता है- PM मोदी
इस मौके पर PM मोदी ने कहा- 'आज योग मानव मात्र को निरोगी जीवन का विश्वास दे रहा है। हम आज सुबह से देख रहे हैं कि योग की तस्वीरें जो कुछ वर्ष पहले आध्यात्मिक केंद्रों पर दिखती थीं, वो आज विश्व के कोने-कोने में दिख रही हैं। ये साझी मानवता की तस्वीरें हैं। यह एक वैश्विक पर्व बन गया है। यह किसी व्यक्ति मात्र के लिए नहीं संपूर्ण मानवता के लिए है। इसलिए इस बार की थीम है योगा फॉर ह्यूमैनिटी।'

उन्होंने कहा- 'मैं योग को दुनिया में पहुंचाने के लिए यूनाइटेड नेशंस का धन्यवाद करता हूं। साथियों योग के लिए हमारे महर्षियों, ऋषियों और आचार्यों ने कहा है- योग हमारे लिए शांति लाता है। यह हमारे देश और विश्व के लिए शांति लाता है। यह पूरा विश्व हमारे शरीर में है। यह हर चीज को सजीव बनाता है। योग हमें सजग, प्रतिस्पर्धी बनाता है। यह लोगों और देशों को जोड़ता है। यह हम सभी के लिए समस्या का समाधान बन सकता है।'

मैसुरु पैलेस ग्राउंड में 15000 लोगों के साथ योगासन करते प्रधानमंत्री मोदी।
मैसुरु पैलेस ग्राउंड में 15000 लोगों के साथ योगासन करते प्रधानमंत्री मोदी।

देश के अतीत को विविधता के साथ जोड़ता है योग
PM मोदी ने आगे कहा- 'देश आजादी की 75वीं सालगिरह मना रहा है। ऐसे में देश के 75 ऐतिहासिक केंद्रों पर एक-साथ योग किया जा रहा है। यह भारत के अतीत को भारत की विविधिता को एक सूत्र में पिरोने जैसा है। दुनिया के अलग-अलग देशों में सूर्योदय के साथ लोग योग कर रहे हैं। जैसे-जैसे सूर्य आगे बढ़ रहा है उसकी प्रथम किरण के साथ लोग अलग-अलग देशों में लोग साथ जुड़ते जा रहे हैं। यही गार्डियन रिंग ऑफ योगा है।'

उन्होंने कहा- 'साथियों दुनिया के लोगों के लिए योग सिर्फ 'पार्ट ऑफ लाइफ' नहीं है बल्कि अब 'वे ऑफ लाइफ' बन रहा है। हमने देखा है कि हमारे यहां घर के बड़े, हमारे योग साधक दिन के अलग-अलग समय में प्राणायाम करते हैं, फिर दोबारा काम शुरू करते हैं। हम कितने भी तनाव में हों कुछ मिनट का योग हमारी पॉजिटिविटी और प्रोडक्टिविटी को बढ़ा देता है। हमें योग को पाना भी है, पनपाना और जीना भी है।'

मैसुरु पैलेस ग्राउंड में PM मोदी के साथ योग करते बच्चे।
मैसुरु पैलेस ग्राउंड में PM मोदी के साथ योग करते बच्चे।

यूपी में 75 हजार जगहों पर योग किया गया
आज अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर यूपी में 75 हजार जगहों पर योग अभ्यास हुआ। वाराणसी में 85 गंगा घाटों पर योगा कार्यक्रम हुआ। BHU में छात्रों ने जलयोग किया। लखनऊ, वाराणसी, सहारनपुर, अयोध्या, प्रयागराज, मथुरा, जौनपुर, झांसी, गाजियाबाद सहित ग्रामीण इलाकों से भी योग की खास तस्वीरें आई हैं, जिन्हें आप यहां क्लिक करके देख सकते हैं।

ITBP जवानों ने बर्फ के बीच किया योग
योग दिवस शुरू होते ही लद्दाख से लेकर छत्तीसगढ़ और असम के गुवाहाटी से लेकर सिक्किम तक ITBP के जवानों ने योग किया। जवानों ने सूर्य नमस्कार कर योग दिवस मनाया। इस मौके के लिए ITBP जवान ने एक गीत भी तैयार किया है।

हिमाचल प्रदेश में 16,000 फीट की ऊंचाई पर योग करते ITBP के जवान।
हिमाचल प्रदेश में 16,000 फीट की ऊंचाई पर योग करते ITBP के जवान।
हिमवीरों ने लद्दाख में 17,000 फीट की ऊंचाई पर योग किया।
हिमवीरों ने लद्दाख में 17,000 फीट की ऊंचाई पर योग किया।
ITBP के हिमवीरों ने सिक्किम में 17,000 फीट की ऊंचाई पर बर्फ के बीच योग किया।
ITBP के हिमवीरों ने सिक्किम में 17,000 फीट की ऊंचाई पर बर्फ के बीच योग किया।

यह भी पढ़ें: 15 PHOTOS में योग दिवस की धूम:ITBP के जवानों ने LOC पर किया योगाभ्यास; जम्मू में सेना के जवानों के साथ कैनाइन वॉरियर्स ने किया योगासन

दुनियाभर में मनाया जा रहा योग दिवस
योग दिवस की पूर्व संध्या पर अमेरिका के नियाग्रा फॉल्स के पास भी योग कार्यक्रम का आयोजन हुआ, जिसमें बड़ी संख्या में भारतीय और अमेरिकी नागरिकों ने हिस्सा लिया। वहीं, पाकिस्तान के लाहौर में मुस्लिम महिलाओं ने बुर्का पहनकर योग किया। पड़ोसी देश नेपाल की राजधानी काठमांडू में योग दिवस की पूर्व संध्या पर धरहरा टॉवर को लाइट्स से रोशन किया गया।

अमेरिका के नियाग्रा फॉल्स के पास लोगों ने किया योग

नियाग्रा फॉल्स पर आयोजित योग कार्यक्रम में योग करते लोग।
नियाग्रा फॉल्स पर आयोजित योग कार्यक्रम में योग करते लोग।

इधर, अमेरिका के नियाग्रा फॉल्स के पास भी योग दिवस की पूर्व संध्या पर लोगों ने योग किया, इसमें 150 से अधिक लोगों ने हिस्सा लिया। न्यूयॉर्क में भारत के काउंसलेट जनरल के समर्थन से इस कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इससे पहले भारतीय दूतावास की तरफ से वॉशिंगटन में अंतरराष्ट्रीय योग दिवस से जुड़े एक स्पेशल प्रोग्राम का आयोजन किया गया। कार्यक्रम में अमेरिकी संगठनों का भी सहयोग रहा।

योग दिवस-2022 की थीम- योगा फॉर ह्यूमैनिटी

यह काठमांडू का धरहरा टॉवर है, जिसे अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर लाइट्स से रोशन किया गया।
यह काठमांडू का धरहरा टॉवर है, जिसे अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर लाइट्स से रोशन किया गया।

हर साल 21 जून को योग दिवस के लिए एक थीम रखी जाती है। इस साल की थीम 'योगा फॉर ह्यूमैनिटी' (Yoga For Humanity) चुनी गई है, जिसका मतलब है मानवता के लिए योग। आयुष मंत्रालय के मुताबिक इस थीम को रखने का मकसद कोविड के दौरान जिन लोगों को शारीरिक और मानसिक तनाव का सामना करना पड़ा है, उन्हें आराम देना है। पिछले साल अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस 2021 की थीम 'योग फॉर वेलनेस' था।

पाकिस्तान के लाहौर में मुस्लिम महिलाओं ने सोमवार शाम को योग किया।
पाकिस्तान के लाहौर में मुस्लिम महिलाओं ने सोमवार शाम को योग किया।

21 जून को क्यों मनाया जाता है योग दिवस

ओडिशा के सैंड आर्टिस्ट सुदर्शन पटनायक ने पुरी के तट पर PM मोदी के तस्वीर वाली आकृति बनाई, साथ ही रेत के जरिए अलग-अलग आसनों को प्रदर्शित किया।
ओडिशा के सैंड आर्टिस्ट सुदर्शन पटनायक ने पुरी के तट पर PM मोदी के तस्वीर वाली आकृति बनाई, साथ ही रेत के जरिए अलग-अलग आसनों को प्रदर्शित किया।

21 जून को योग दिवस मनाने की मुख्य वजह ये है कि इस दिन उत्तरी गोलार्द्ध का सबसे लंबा दिन होता है। इसे ग्रीष्म संक्रांति भी कहते हैं। इंडियन ट्रेडिशन के मुताबिक, ग्रीष्म संक्रांति के बाद सूर्य दक्षिणायन होता है। साथ ही आज के दिन योग करने से लोगों की आयु भी लंबी होती है। इसी को देखते हुए हर साल 21 जून को योग दिवस मनाया जाता है।