PM मोदी ने डिजिटल इंडिया वीक का शुभारंभ किया:इस अवसर पर बोले 'ऑनलाइन होकर बर्थ सर्टिफिकेट और राशन के लिए लगने वाली लाइनों का समाधन किया'

गांधीनगर5 महीने पहले

प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी आज गुजरात के गांधीनगर में डिजिटल इंडिया वीक-2022 का उद्घाटन किया। प्रधानमंत्री ने कार्यक्रम में 'इंडियास्टेक ग्लोबल', 'माइ स्कीम', 'मेरी पहचान', 'डिजिटल इंडिया भाषिनी', 'डिजिटल इंडिया जेनेसिस', 'चिप्स टु स्टार्टअप' और 'कैटालाइजिंग न्यू इंडियाज टेकेड', 'की ई-बुक' जैसी अलग-अलग डिजिटल पहलों का शुभारंभ किया।

लाइनों का समाधान भारत ने ऑनलाइन होकर कर दिया
21 वीं सदी में जिनका जन्म हुआ है उन्हें डिजिटल लाइफ बहुत कूल लगती है। लेकिन 8-10 साल पहले कि स्थितियों को याद कीजिए, बर्थ सर्टिफिकेट के लिए लाइन, बैंको में लाइन, राशन लेने के लिए लाइन, बिल जमा करना है तो लाइन और एडमिशन के लिए लाइन। इतनी सारी लाइनों का समाधान भारत ने ऑनलाइन होकर कर दिया है। आज जन्म प्रमाण पत्र से लेकर सीनियर सिटीजन की पहचान देने वाले जीवन प्रमाण पत्र जैसी कई सेवाएं ऑनलाइन हैं। जिन कामों में कभी कई दिन लग जाते थे वो अब कुछ पलों में हो जाते हैं।

DB से बीते 23 लाख करोड़ रुपए लाभार्थियों के बैंक खाते में भेजे
उन्होंने आगे कहा कि डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर (DBT) के माध्यम से बीते 8 साल में 23 लाख करोड़ रुपए से अधिक सीधे लाभार्थियों के बैंक खाते में भेजे गए हैं। इस टेक्नोलॉजी की वजह से देश के 2 लाख 23 हजार करोड़ रुपए गलत हाथों में जाने से बचे हैं।

डिजिटल प्लेटफॉर्म के जरिए मिल रहीं सेवाओं की जानकारी दी
कार्यक्रम के दौरान एक ऐग्जीबिशन का भी आयोजन किया गया, जिसमें आधार, UPI, को-विन और डिजिलॉकर जैसे पब्लिक डिजिटल प्लेटफॉर्म के जरिए लोगों को आसानी से मिल रही सेवाओं के बारे जानकारी दी गई। कार्यक्रम का आयोजन महात्मा मंदिर कॉन्वेशन और एक्जीबिशन सेंटर में किया गया। यह कार्यक्रम 9 जुलाई तक चलेगा। कार्यक्रम के दौरान मुख्यमंत्री भुपेंद्र पटेल और रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव और केंद्रीय इलेक्ट्रॉनिक्स एवं IT राज्य मंत्री राजीव चंद्रशेखर विशेष रूप से मौजूद रहे।

साढ़े सात सौ करोड़ रुपए की राशि निर्धारित
स्टेट इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी डिपार्टमेंट (IT) डिजिटल इंडिया के सात साल पूरे होने के उपलक्ष्य में इस कार्यक्रम का आयोजन कर रहा है। इस कार्यक्रम का उद्देश्‍य टेक्नोलॉजी की पहुंच को बढ़ाना, लाइफ स्टाइल को सुगम बनाने के लिए सर्विस डिलिवरी सिस्टम को सुचारू बनाना और स्‍टार्टअप को बढ़ावा देना है। इस योजना के लिए कुल साढ़े सात सौ करोड़ रुपए की राशि निर्धारित की गई है। डिजिटल इंडिया वीक की थीम न्यू इंडिया टेक्नोलॉजी इंस्पिरेशन है।

डिजिटल मेले का भी आयोजन
स्टार्टअप, सरकार, इंडस्ट्री और एजुकेशन सेंटर्स की भागीदारी से 200 से अधिक स्टॉल के साथ डिजिटल मेले का आयोजन किया जा रहा है, जहां रोजमर्रा के जीवन को आसान बनाने वाले अलग-अलग डिजिटल सोल्युशनों को प्रदर्शित किया जाएगा। इसके अलावा, भारतीय यूनिकॉर्न और स्टार्टअप के माध्यम से विकसित किए गए टेक्नोलॉजी आधारित सॉल्यूशन भी 7 से 9 जुलाई के दौरान वर्चुअल मोड पर आयोजित होंगे। इसमें अलग-अलग क्षेत्रों के एक्सपर्ट टेक्नोलॉजी का आदान-प्रदान करेंगे।