पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • National
  • Narendra Modi | PM Narendra Modi Addresses Gujarat High Court Diamond Jubilee Celebrations

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

गुजरात हाईकोर्ट के 60 साल पूरे:PM मोदी ने कहा- सरकार और न्यायपालिका मिलकर देश में वर्ल्ड क्लास ज्यूडिशियरी सिस्टम तैयार करेंगी

अहमदाबादएक महीने पहले
प्रधानमंत्री ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए कार्यक्रम को संबोधित किया।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शनिवार को गुजरात हाईकोर्ट की डायमंड जुबली समारोह में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए शामिल हुए। इस दौरान उन्होंने एक स्मारक डाक टिकट ऑनलाइन जारी किया। प्रधानमंत्री ने इस दौरान कहा कि न्यायपालिका ने हमेशा से देशवासियों के अधिकारों और निजी स्वतंत्रता की रक्षा की। इसे और बेहतर बनाने के लिए काम चल रहा है। सरकार और न्यायपालिका मिलकर देश में वर्ल्ड क्लास ज्यूडिशियरी सिस्टम तैयार करेंगी। इसमें हर व्यक्ति के लिए न केवल न्याय की गारंटी होगी, बल्कि समय पर न्याय भी मिलेगा।

डिजिटल सिस्टम हमें आधुनिक बना रहा
PM मोदी ने कहा, 'डिजिटल सिस्टम हमें बहुत तेजी से आधुनिक बना रहा है। ई-प्रोसीडिंग्स में तेजी आई है। सुप्रीम कोर्ट दुनिया में सबसे ज्यादा सुनवाई करने वाला कोर्ट बन गया है। आज हमारी अदालतों में एक यूनीक आइडेंटिफिकेशन नंबर और QR नंबर भी दिया जा रहा है। इससे नेशनल डेटा ग्रिड बन रहा है। ये ईज ऑफ जस्टिस न केवल ईज ऑफ लिविंग को बढ़ा रहा है, बल्कि ईज ऑफ डूइंग बिजनेस भी बढ़ा है। आने वाले दिनों में भारत में ईज ऑफ जस्टिस और तेजी से बढ़े, इसके लिए सुप्रीम कोर्ट की कमेटी काम कर रही है।'

रूल ऑफ लॉ सदियों से सभ्यता और संस्कार में रहा है
प्रधानमंत्री ने कहा, भारतीय समाज में रुल ऑफ लॉ सदियों से सभ्यता और सामाजिक ताने-बाने का और हमारे संस्कार का आधार रहा है। प्राचीन ग्रंथों में कहा गया है कि स्वराज्य की जड़ ही न्याय में है। ये विचार आदि काल से हमारे संस्कार का हिस्सा रहा है। इसी मंत्र ने हमारे स्वतंत्रता संग्राम को भी नैतिक तौर पर ताकत दी। यही विचार हमारे संविधान निर्माताओं ने संविधान बनाते समय सबसे आगे रखा। संविधान की प्रस्तावना में रुल ऑफ लॉ को सबसे आगे रखा गया। हम सभी को इसके लिए गर्व है।

66 लाख 85 हजार केस की ऑनलाइन सुनवाई हुई
केंद्रीय कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने भी कार्यक्रम को संबोधित किया। उन्होंने बताया कि कोरोना के दौरान देशभर में 66 लाख 85 हजार केस की डिजिटल सुनवाई हुई। इसमें गुजरात हाईकोर्ट की भूमिका काफी अहम रही। केंद्रीय मंत्री ने कहा कि गुजरात की धरती हमेशा से प्रेरणादायक रही है। इमरजेंसी के दौरान भी गुजरात हाईकोर्ट ने ही साहस दिखाते हुए आम लोगों के हितों की रक्षा के लिए फैसला दिया था।

हाईकोर्ट के 60 साल पूरे हुए

गुजरात हाईकोर्ट की स्थापना को एक मई, 2020 को 60 साल पूरे हो गए। ये कार्यक्रम पहले ही आयोजित होना था, लेकिन कोरोना के चलते इसे टाल दिया गया था। अब प्रधानमंत्री मोदी वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए इस कार्यक्रम में शामिल हुए। इस दौरान गुजरात के मुख्यमंत्री विजय भाई रूपाणी, केंद्रीय कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद, हाईकोर्ट के चीफ जस्टिस विक्रम नाथ समेत कई लोग मौजूद रहे।

खबरें और भी हैं...

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज आर्थिक योजनाओं को फलीभूत करने का उचित समय है। पूरे आत्मविश्वास के साथ अपनी क्षमता अनुसार काम करें। भूमि संबंधी खरीद-फरोख्त का काम संपन्न हो सकता है। विद्यार्थियों की करियर संबंधी किसी समस्...

और पढ़ें