• Hindi News
  • National
  • PM Narendra Modi Chair Review Meeting Prevailing Corona Omicron Situation

PM मोदी की रिव्यू मीटिंग में 3 बातों पर फोकस:दवाई, ऑक्सीजन का स्टॉक कम नहीं होना चाहिए; वैक्सीनेशन की रफ्तार और बढ़ाई जाए

नई दिल्लीएक वर्ष पहले

देश में कोरोना के नए वैरिएंट ओमिक्रॉन के बढ़ते मामलों के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार शाम अफसरों के साथ हाई लेवल रिव्यू मीटिंग की। शाम साढ़े 6 बजे से शुरू हुई यह मीटिंग करीब एक घंटे चली। बैठक में हेल्थ मिनिस्ट्री समेत कई विभागों के अफसर शामिल हुए।

मीटिंग में ओमिक्रॉन के बढ़ते केस को रोकने के लिए प्रधानमंत्री का मेन फोकस 3 बातों पर रहा। PM ने बैठक में अब तक के हालात की जानकारी ली साथ ही सरकार की तैयारियों को भी समझा। इसके बाद अफसरों को दवाई और ऑक्सीजन के स्टॉक बढ़ाने के निर्देश दिए। साथ ही टेस्टिंग और ट्रेसिंग बढ़ाने के साथ हेल्थ इंफ्रास्ट्रक्चर को बेहतर करने पर जोर दिया।

PM ने रिमोट एरिया में वैक्सीन और दवा की सप्लाई के लिए IT टूल्स का ज्यादा से ज्यादा उपयोग करने को कहा। मोदी ने अफसरों से कहा कि राज्यों के लिए यह सुनिश्चित करना महत्वपूर्ण है कि ऑक्सीजन सप्लाई इक्यिपमेंट्स पूरी तरह काम कर रहे हों। इसमें किसी भी तरह की लापरवाही नहीं होनी चाहिए।

राज्यों को हर संभव मदद के दिए निर्देश
PM ने देशभर में वैक्सीनेशन को बढ़ाने की ओर भी तेजी से काम करने को कहा। मोदी ने अफसरों को उन जिलों की पहचान करने के निर्देश दिए जहां वैक्सीनेशन की स्थिति अभी ठीक नहीं है। उन्होंने अफसरों से कहा कि वे राज्य से वैक्सीनेशन में आने वाली परेशानियों को लेकर बातचीत करें और उसे जल्द से जल्द ठीक कर ज्यादा से ज्यादा लोगों को वैक्सीनेट करने पर फोकस करें। PM ने अफसरों को सतर्क और सावधान रहने के साथ ही राज्यों को हर संभव मदद पहुंचाने के निर्देश दिए।

बैठक में कैबिनेट सचिव, डॉ. वी.के. पॉल, सदस्य (स्वास्थ्य), नीति आयोग, एके भल्ला, गृह सचिव, श्री. राजेश भूषण, सचिव (MoHFW), सचिव (फार्मास्यूटिकल), डॉ राजेश गोखले, सचिव (जैव प्रौद्योगिकी), डॉ. बलराम भार्गव, DG ICMR; वैद्य राजेश कोटेचा, सचिव (आयुष); दुर्गा शंकर मिश्रा, सचिव (शहरी विकास); आर.एस. शर्मा CEO NHA; प्रो. के. विजय राघवन (भारत सरकार के प्रमुख वैज्ञानिक सलाहकार) अन्य वरिष्ठ अधिकारियों के साथ शामिल हुए।

देश में ओमिक्रॉन के कुल केस बढ़कर 355 हुए
देश में कोरोना संक्रमितों की संख्या में एक बार फिर बढ़ोतरी हो रही है। नए ओमिक्रॉन वैरिएंट ने चिंता को और बढ़ा दिया है। गुरुवार को 4 राज्यों में ओमिक्रॉन के 64 नए केस सामने आए। इसमें से तमिलनाडु में 33, तेलंगाना में 14, कर्नाटक में 12 और केरल में 5 मामले सामने आए हैं। इसके बाद देशभर में नए वैरिएंट से संक्रमित होने वाले मरीजों की संख्या 355 हो गई है। ओमिक्रॉन के सबसे ज्यादा 65 मामले महाराष्ट्र में सामने आ चुके हैं। 64 मामलों के साथ दिल्ली दूसरे और 38 केस के साथ तेलंगाना तीसरे नंबर पर है।

दिल्ली में न्यू ईयर सेलिब्रेशन पर रोक
ओमिक्रॉन वैरिएंट के बढ़ते मामलों के बीच दिल्ली सरकार ने बुधवार को न्यू ईयर सेलिब्रेशन पर रोक लगा दी है। बार और सिनेमाघर भी 50% कैपेसिटी के साथ ही खुलेंगे। इसके अलावा भीड़ के इकट्‌ठा होने और सांस्कृतिक कार्यक्रमों के आयोजन पर भी रोक लगा दी गई है। दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (DDMA) ने नए आदेश जारी कर दिए हैं। दिल्ली पुलिस और प्रशासन को निर्देश दिया गया है कि आदेशों का सख्ती से पालन कराया जाए।

100 से ज्यादा देशों में फैला ओमिक्रॉन
ओमिक्रॉन के बढ़ते मामलों की वजह से कई देशों में प्रतिबंध लगाए जा रहे हैं। यह वैरिएंट 100 से ज्यादा देशों में फैल चुका है। विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के चीफ टेड रोस का कहना है कि दुनिया भर की सरकारों को महामारी को खत्म करने की दिशा में काम करना चाहिए। उन्होंने कहा कि 2022 ऐसा साल होना चाहिए जिसमें हम महामारी को खत्म करें। हर देश की 70% आबादी को अगले साल जुलाई तक वैक्सीन लगा दी जाए तो महामारी को खत्म किया जा सकता है।