मोदी सरकार-2 / नई कैबिनेट की पहली बैठक आज, विभागों का बंटवारा हो सकता है



PM narendra modi new cabinet minister's first meeting live updates in Delhi
PM narendra modi new cabinet minister's first meeting live updates in Delhi
PM narendra modi new cabinet minister's first meeting live updates in Delhi
PM narendra modi new cabinet minister's first meeting live updates in Delhi
PM narendra modi new cabinet minister's first meeting live updates in Delhi
PM narendra modi new cabinet minister's first meeting live updates in Delhi
PM narendra modi new cabinet minister's first meeting live updates in Delhi
PM narendra modi new cabinet minister's first meeting live updates in Delhi
X
PM narendra modi new cabinet minister's first meeting live updates in Delhi
PM narendra modi new cabinet minister's first meeting live updates in Delhi
PM narendra modi new cabinet minister's first meeting live updates in Delhi
PM narendra modi new cabinet minister's first meeting live updates in Delhi
PM narendra modi new cabinet minister's first meeting live updates in Delhi
PM narendra modi new cabinet minister's first meeting live updates in Delhi
PM narendra modi new cabinet minister's first meeting live updates in Delhi
PM narendra modi new cabinet minister's first meeting live updates in Delhi

  • प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और 57 कैबिनेट मंत्रियों ने गुरुवार को शपथ ली
  • इस बार 25 कैबिनेट, 9 राज्यमंत्री स्वतंत्र प्रभार और 24 राज्य मंत्री बनाए गए

Dainik Bhaskar

May 31, 2019, 11:09 AM IST

नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को मंत्रियों के विभागों का बंटवारा कर दिया। अमित शाह को गृह मंत्री बनाया गया है। निर्मला सीतारमण को वित्त मंत्रालय सौंपा गया है। 50 साल बाद इस विभाग का जिम्मा महिला के पास है। इंदिरा गांधी ने 1969-1970 में वित्त मंत्रालय अपने पास रखा था। मोदी कैबिनेट में राजनाथ सिंह रक्षा मंत्रालय संभालेंगे। वहीं, पूर्व विदेश सचिव एस जयशंकर विदेश मंत्री बनाए गए हैं। नितिन गडकरी को सड़क परिवहन, राजमार्ग और सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यम का प्रभार दिया गया है। 

 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कार्मिक, जन शिकायत, पेंशन, परमाणु ऊर्जा, अंतरिक्ष, सभी नीतिगत मुद्दे, ऐसे विभाग जो किसी अन्य मंत्री को आवंटित नहीं हैं

 

कैबिनेट मंत्री

 

राजनाथ सिंह     रक्षा
अमित शाह गृह
नितिन गडकरी सड़क परिवहन एवं राजमार्ग, सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यम
डीवी सदानंद गौड़ा रसायन और उर्वरक
एस जयशंकर विदेश
निर्मला सीतारमण वित्त और कॉर्पोरेट मामले
रामविलास पासवान उपभोक्ता मामले, खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति
नरेंद्र सिंह तोमर कृषि, किसान कल्याण, ग्रामीण विकास, पंचायती राज
रविशंकर प्रसाद विधि और न्याय, संचार, इलेक्ट्रॉनिक्स और आईटी
हरसिमरत कौर बादल खाद्य प्रसंस्करण उद्योग
थावरचंद गहलोत सामाजिक न्याय और अधिकारिता
रमेश पोखरियाल निशंक मानव संसाधन विकास
अर्जुन मुंडा जनजाति मामले
स्मृति ईरानी कपड़ा, महिला और बाल विकास
डॉ. हर्षवर्धन स्वास्थ्य और परिवार कल्याण, विज्ञान और प्रौद्योगिकी, पृथ्वी विज्ञान
प्रकाश जावड़ेकर पर्यावरण, वन और जलवायु परिवर्तन, सूचना और प्रसारण
पीयूष गोयल    रेलवे, उद्योग और वाणिज्य
धर्मेंद्र प्रधान    पेट्रोलियम, प्राकृतिक गैस और इस्पात
मुख्तार अब्बास नकवी अल्पसंख्यक मामले
प्रह्लाद जोशी   खनन, कोयला और संसदीय कार्य
महेंद्र नाथ पांडेय कौशल विकास और उद्यमशीलता
अरविंद सावंत भारी उद्योग और सार्वजनिक उपक्रम
गिरिराज सिंह     पशुपालन, डेयरी और मत्स्यपालन
गजेंद्र सिंह शेखावत जल शक्ति

 

राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार)

 

संतोष कुमार गंगवार श्रम और रोजगार
राव इंदरजीत सिंह सांख्यिकी, योजना और योजना क्रियान्वयन
श्रीपाद येसो नाईक आयुर्वेद, योग, प्राकृतिक चिकित्सा, यूनानी, सिद्ध और होम्योपैथी (स्वतंत्र प्रभार), रक्षा (राज्य मंत्री)
डॉ. जितेंद्र सिंह पूर्वोत्तर क्षेत्र विकास (स्वतंत्र प्रभार), पीएमओ, कार्मिक, जन शिकायत, पेंशन, परमाणु ऊर्जा, अंतरिक्ष (राज्य मंत्री)
किरेन रिजिजु  युवा कल्याण, खेल (स्वतंत्र प्रभार), अल्पसंख्यक मामले (राज्य मंत्री)
प्रह्लाद सिंह पटेल संस्कृति और पर्यटन
आरके सिंह ऊर्जा, नवीन और अक्षय ऊर्जा (स्वतंत्र प्रभार), कौशल विकास और उद्यमशीलता (राज्य मंत्री)
हरदीप सिंह पुरी आवास और शहरी मामले, नागरिक उड्डयन (स्वतंत्र प्रभार), वाणिज्य और उद्योग (राज्य मंत्री)
मनसुख मांडविया जहाजरानी (स्वतंत्र प्रभार), रसायन और उर्वरक (राज्य मंत्री)

 

राज्य मंत्री

 

फग्गन सिंह कुलस्ते इस्पात
अश्विनी कुमार चौबे स्वास्थ्य और परिवार कल्याण
अर्जुन राम मेघवाल संसदीय कार्य, भारी उद्योग, सार्वजनिक उपक्रम
जनरल वीके सिंह सड़क परिवहन, राजमार्ग
कृष्णपाल गुर्जर सामाजिक न्याय और अधिकारिता
रावसाहेब दानवे उपभोक्ता मामले, खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति
किशन रेड्डी गृह
पुरुषोत्तम रूपाला कृषि और किसान कल्याण
रामदास आठवले सामाजिक न्याय और अधिकारिता
साध्वी निरंजन ज्योति ग्रामीण विकास
बाबुल सुप्रियो पर्यावरण, वन और जलवायु परिवर्तन
संजीव कुमार बालियान पशुपालन, डेयरी, मत्स्यपालन
संजय धोत्रे मानव संसाधन विकास, संचार, इलेक्ट्रॉनिक्स, आईटी
अनुराग ठाकुर वित्त, कॉर्पोरेट मामले
सुरेश अंगड़ी रेलवे
नित्यानंद राय गृह
रतनलाल कटारिया जल शक्ति, सामाजिक न्याय और अधिकारिता
वी. मुरलीधरन विदेश, संसदीय कार्य
रेणुका सिंह सरुता जनजाति मामले
सोम प्रकाश वाणिज्य और उद्योग
रामेश्वर तेली     खाद्य प्रसंस्करण
प्रतापचंद्र सारंगी सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यम, पशुपालन, डेयरी और मत्स्यपालन
कैलाश चौधरी कृषि और किसान कल्याण
देबश्री चौधरी महिला और बाल विकास

 

कैबिनेट में भाजपा के 53 मंत्री

कैबिनेट में 53 मंत्री भाजपा के हैं और सहयोगी दलों के मंत्रियों की संख्या 4 है। इनमें जदयू और अपना दल शामिल नहीं हैं। 19 नए चेहरों को जगह मिली। उत्तर प्रदेश से सबसे ज्यादा 8 सांसदों को मंत्री बनाया गया। सुषमा स्वराज, मेनका गांधी, राज्यवर्धन राठौर, महेश शर्मा और सुरेश प्रभु को इस बार मंत्रिमंडल में शामिल नहीं किया गया।

 

राहुल को हराने वाली स्मृति कैबिनेट में सबसे युवा
43 वर्षीय स्मृति ईरानी कैबिनेट में सबसे युवा हैं। लोजपा प्रमुख रामविलास पासवान (72) सबसे उम्रदराज हैं। इस बार 6 महिलाओं निर्मला सीतारमण, हरसिमरत कौर बादल, स्मृति ईरानी, साध्वी निरंजन ज्योति, रेणुका सिंह सरुता और देबश्री चौधरी को मंत्रिमंडल में शामिल किया गया। पिछली सरकार में 9 महिलाएं मंत्री थीं।

 

गिरिराज, रिजिजू और शेखावत का प्रमोशन
अरुणाचल पश्चिम सीट से दो बार के सांसद किरेन रिजिजू का दर्जा राज्यमंत्री से बढ़ाकर इस बार राज्यमंत्री स्वतंत्र प्रभार कर दिया गया। गिरिराज सिंह को भी कैबिनेट मंत्री की शपथ दिलाई गई, पिछली बार उन्हें राज्यमंत्री स्वतंत्र प्रभार का दर्जा मिला था। गजेंद्र सिंह शेखावत को भी कैबिनेट मंत्री बनाया गया, पिछली बार वे राज्यमंत्री स्वतंत्र प्रभार थे। महेंद्र नाथ पांडेय कैबिनेट बने, वे भी पिछली बार राज्यमंत्री स्वतंत्र प्रभार थे।

 

जयशंकर पहले विदेश मंत्री, जो विदेश सचिव रहे
एस जयशंकर पहले विदेश मंत्री हैं, जो विदेश सचिव रह चुके हैं। जनवरी 2015 से जनवरी 2018 तक वे इस पद पर थे। 16 महीने पहले वे रिटायर हुए। उनसे पहले एमसी चागला और नटवर सिंह ऐसे विदेश मंत्री थे, जो विदेश सेवा में रह चुके थे। एमसी चागला 1966-67 के बीच विदेश मंत्री थे। वे यूएस, क्यूबा, मैक्सिको और आयरलैंड में भारतीय राजदूत रहे। वे ब्रिटेन में हाई कमिश्नर भी रहे। नटवर सिंह 1953 से 1984 तक विदेश सेवा में रहे। मई 2004 से दिसंबर 2005 तक वे मनमोहन सरकार में विदेश मंत्री रहे।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना