दिल्ली / शराब कारोबारी पोंटी चड्ढा का बेटा मोंटी गिरफ्तार, 100 करोड़ से ज्यादा की धोखाधड़ी का आरोप

Dainik Bhaskar

Jun 13, 2019, 02:25 PM IST



पोंटी चड्ढा (दाएं) के साथ मोंटी। -फाइल पोंटी चड्ढा (दाएं) के साथ मोंटी। -फाइल
X
पोंटी चड्ढा (दाएं) के साथ मोंटी। -फाइलपोंटी चड्ढा (दाएं) के साथ मोंटी। -फाइल

  • ईओडब्ल्यू ने 2018 में मोंटी के खिलाफ धोखाधड़ी का केस दर्ज किया था
  • मोंटी पर सस्ती दरों पर फ्लैट का झांसा देकर कई ग्राहकों से ठगी का आरोप
  • पोंटी की 2012 में दिल्ली के फार्म हाउस में शूटआउट के दौरान हत्या कर दी गई थी

नई दिल्ली. दिल्ली पुलिस की आर्थिक अपराध शाखा (ईओडब्ल्यू) ने बुधवार रात शराब कारोबारी पोंटी चड्ढा के बेटे मनप्रीत उर्फ मोंटी को गिरफ्तार कर लिया। उस पर सस्ती दरों पर फ्लैट दिलाने का झांसा देकर 100 करोड़ रु से ज्यादा की ठगी का आरोप है। सूत्रों ने बताया कि मोंटी को इंदिरा गांधी अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट (आईजीआई) से पकड़ा गया। उस वक्त वह थाईलैंड के फुकेट भागने की फिराक में था।

 

ईओडब्ल्यू के एसीपी, सुवाशीष चौधरी ने बताया कि मोंटी उप्पल-चड्ढा हाईटेक डेवलपर्स प्राइवेट लिमिटेड का डायरेक्टर है। यह कंपनी उत्तर भारत के कई शहरों में फ्लैट बनाकर बेंचती है। धोखाधड़ी के मामले में मोंटी के खिलाफ लुकआउट नोटिस जारी किया गया था।

 

गाजियाबाद में टाउनशिप का झांसा दिया था

चड्ढा परिवार 2006 में गाजियाबाद में वेव सिटी नाम का प्रोजेक्ट लेकर आया था। ग्राहकों को बताया था कि 1500 एकड़ में फैले इस प्रोजेक्ट में स्कूल, स्विमिंग पूल, क्लब, अस्पताल और हेलिपैड जैसी सुविधाएं होंगी। 18 महीने में फ्लैट देने का वादा कर करोड़ों रुपए लेकर बुकिंग कर ली गई। लेकिन 2011 तक कोई निर्माण कार्य नहीं हुआ। इसके बाद ग्राहकों की शिकायत पर दिल्ली पुलिस ने मोंटी और उसकी कंपनी से जुड़े लोगों के खिलाफ धोखाधड़ी का केस दर्ज किया।

 

पिता की मौत के बाद मोंटी ने संभाला कारोबार

पोंटी चड्ढा की नवंबर, 2012 में दिल्ली के छतरपुर फार्म हाउस में हत्या कर दी गई थी। इस दौरान फार्म हाउस में पोंटी और उसके छोटे भाई के लोगों के बीच संपत्ति विवाद को लेकर शूटआउट हुआ था। इसके बाद 19 साल की उम्र में मोंटी ने पिता के वेव ग्रुप की कमान संभाली। इस ग्रुप के कई मॉल, वेव सिनेमा और रियल एस्टेट का कारोबार है।

 

COMMENT