• Hindi News
  • National
  • Prime Minister Narendra Modi address global business summit, says India is the only country that gives refund to passengers when the train is late

दिल्ली / मोदी का आलोचकों पर तंज- सही बात करने वाले आजकल सही राह पर चलने वालों से नफरत करते हैं

दिल्ली में ग्लोबल बिजनेस समिट को संबोधित करते प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी। दिल्ली में ग्लोबल बिजनेस समिट को संबोधित करते प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी।
X
दिल्ली में ग्लोबल बिजनेस समिट को संबोधित करते प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी।दिल्ली में ग्लोबल बिजनेस समिट को संबोधित करते प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी।

  • प्रधानमंत्री मोदी ने कहा- हर दशक कोई नई चुनौती लेकर आता है, इससे वह हमारे नया करने की क्षमता और सोच की परीक्षा लेता है
  • ‘जो दुनियाभर को शरणार्थियों के अधिकारों के लिए ज्ञान की बातें बताते हैं, वही शरणार्थियों के लिए बने सीएए का विरोध करते हैं’

दैनिक भास्कर

Mar 06, 2020, 10:42 PM IST

नई दिल्ली. नागरिकता संशोधन कानून और अनुच्छेद 370 हटाए जाने के फैसलों की आलोचना करने वालों पर शुक्रवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने तंज किया। प्रधानमंत्री ने कहा कि आजकल सही बात करने वाले लोग ही ऐसे लोगों से नफरत करने लग गए हैं, जो सही राह पर चलते हैं। मोदी ने ग्लोबल बिजनेस समिट में कहा कि जो लोग दुनियाभर को शरणार्थियों के अधिकारों के लिए ज्ञान की बातें बताते हैं, वही शरणार्थियों के लिए बने सीएए का विरोध करते हैं।

मोदी के संबोधन की 8 महत्वपूर्ण बातें:

  • ‘जो लोग दिन-रात संविधान की दुहाई देते हैं, वही अनुच्छेद 370 जैसी अस्थाई व्यवस्था को हटाकर जम्मू-कश्मीर में पूरी तरह संविधान को लागू करने का विरोध कर रहे हैं। हर दशक कोई न कोई नई चुनौती लेकर आता है। वह हमारी एकता, नया करने की क्षमता और हमारी सोच की परीक्षा लेता है।’
  • ‘भारत दुनिया में एकमात्र देश है, जहां ट्रेन के लेट होने पर यात्रियों को पैसे रिफंड किए जाते हैं। 2014 से पहले यहां ट्रेनों का लेट होना आम बात थी। अखबार में खबर भी नहीं छपती थी, क्योंकि लोगों को आदत हो चुकी थी। 2014 के बाद भाजपा सरकार ने इसके लिए खूब काम किया है। छह साल में बड़ा बदलाव आया है।’
  • ‘मुझे मालूम है कि मेरे यह बोलते ही कई आरटीआई कार्यकर्ता और पत्रकार इसका डेटा निकालने में जुट जाएंगे। फिर कहेंगे कि मोदी ने ऐसा वादा किया था। इसलिए, मैं यह पहले ही स्पष्ट कर देना चाहता हूं कि इसकी अभी शुरूआत हुई है।’
  • ‘सरकार ने इंफ्रास्ट्रक्चर के क्षेत्र में सौ लाख करोड़ रु. से ज्यादा निवेश का रोडमैप तैयार किया है। पब्लिक प्राइवेट पार्टनरशिप से पब्लिक को सहूलियत देने के क्षेत्र में हम आगे बढ़े हैं। हमारी सरकार ने अर्थव्यवस्था की मजबूती के लिए प्राइवेट सेक्टर को ज्यादा से ज्यादा छूट दी है।’
  • ‘जो ईमानदारी से व्यापार कर रहे हैं, उनके साथ सरकार मजबूती के साथ खड़ी है। उनके लिए सरकार ने कानून को सरल किया। फेयर कॉम्पिटिशन को बढ़ाने के लिए करप्शन और क्रोनोलॉजी से सरकार सख्ती से निपट रही है।’
  • ‘बैंकिंग से सरकार क्रोनोलॉजी हटा रही है। टैक्स विवादों को सुलझाने के लिए हम 'विवाद से विश्वास' नाम से नई योजना लेकर आए। कंपनी एक्ट में हमने बड़ा बदलाव किया। आज भारत दुनिया के उन देशों में आगे हैं जहां कॉरपोरेट टैक्स सबसे कम है।’
  • ‘विश्व शांति की दिशा में भी भारत ने काफी काम किया है। हम केवल अपने ही नागरिकों की नहीं बल्कि दूसरे देशों के नागरिकों की रक्षा भी करते हैं। आज हमारे पहल पर कई अंतर्राष्ट्रीय संस्थानों का गठन हुआ। इससे दुनियाभर के कई देश जुड़ चुके हैं।’

  • ‘स्थिर विकास के लिए ‘कॉलेब्रेट टू क्रिएट’जरूरी है। यह विजन आज की आवश्यकता भी है और भविष्य का आधार भी है। ऐसा नहीं है कि यह विजन अचानक बीते कुछ वर्षों के विचार से निलकर आया हो। यह काफी पहले से था।’

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना