• Hindi News
  • National
  • Private Trains In India, Private Train Fare, Private Train Facility, Indian Railways, Indian Railway, Private Train List

प्राइवटाइजेशन के लिए एक और सहूलियत:प्राइवेट ऑपरेटर तय कर सकेंगे कि किस स्टेशन पर रुकेगी ट्रेन; पहले बाजार के मुताबिक किराया तय करने की छूट दी गई थी

नई दिल्लीएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
सरकार कुल 109 रूट पर 151 ट्रेन प्राइवेट कंपनियों को 35 साल के लिए देगी। - Dainik Bhaskar
सरकार कुल 109 रूट पर 151 ट्रेन प्राइवेट कंपनियों को 35 साल के लिए देगी।
  • ऑपरेटर्स को ट्रेन के स्टेशन पर पहुंचने और रवाना होने के समय के बारे में भी बताना होगा
  • 2027 तक 151 प्राइवेट ट्रेनें चलाने की तैयारी, 2022-23 से ही हो जाएगी शुरूआत

रेलवे ने प्राइवेट ट्रेनों के ऑपरेटर्स को हाल्ट स्टेशन चुनने की छूट दे दी है। रेलवे की ओर से जारी डॉक्यूमेंट में इसकी जानकारी दी गई। प्राइवेट ऑपरेटर को ट्रेन के रूट के बीच के प्रस्तावित हाल्ट स्टेशनों की लिस्ट एडवांस में रेलवे को देनी होगी। इसी के साथ उन्हें टाइम इन और आउट की जानकारी भी देनी होगी।

कंसेशन एग्रीमेंट के ड्राफ्ट के मुताबिक, प्रपोजल को एडवांस में जमा करना होगा और यह एक साल के लिए लागू होगा। इसके बाद ही इसे रिवाइज किया जा सकेगा।

ट्रेन की साफ-सफाई जैसे काम से जुड़े स्टेशनों को शामिल करना होगा
न्यूज एजेंसी के मुताबिक, प्री-एप्लिकेशन के दौरान एक प्राइवेट ऑपरेटर के सवाल के जवाब में रेलवे ने कहा कि कंसेशन एग्रीमेंट के नियम व शर्तों के मुताबिक प्राइवेट ऑपरेटर को स्टॉप या हाल्ट तय करने छूट दी जा सकती है। रेलवे ने यह भी कहा कि प्राइवेट ट्रेनों के हाल्ट उस रूट पर रेलवे की सबसे तेज ट्रेन के मौजूदा हाल्ट से ज्यादा नहीं हो सकते।

ऑपरेटर्स को ट्रेन ऑपरेशन प्लान में उन स्टेशनों को भी शामिल करना होगा, जहां ट्रेन के वाटर टैंक को भरा जाएगा। प्लान में उन स्टेशनों को भी शामिल करना होगा, जहां ट्रेनों में सफाई जैसे काम किए जाएंगे।

कई देशों की 23 कंपनियों को दिलचस्पी
प्राइवेट ट्रेनों के लिए कनाडा की बॉम्बार्डियर, फ्रांस की अलस्टॉम, जर्मनी की सीमेंस, भारत की जीएमआर, वेदांता, भारत फोर्ज, स्टरलाइट पॉवर, मेधा, आई बोर्ड इंडिया प्राइवेट लिमिटेड, आईआरसीटीसी, बीएमईएल सहित 23 कंपनियों ने एप्लीकेशन दी है। सरकार को उम्मीद है कि इस नए प्रयोग से करीब 30 हजार करोड़ का निवेश आएगा।

किराया बाजार के मुताबिक होगा
सरकार कुल 109 रूट पर 151 ट्रेन प्राइवेट कंपनियों को 35 साल के लिए देगी। रेलवे ने इस मामले में हाल में उठाए गए सवालों के जवाब में कहा था कि प्राइवेट ट्रेन के किराए वही कंपनियां तय करेंगी, जो इसे चलाएंगी। यह किराया बाजार के मुताबिक होगा। इसके लिए किसी मंजूरी की जरूरत नहीं होगी।

2022-23 में 12 प्राइवेट चलाने की तैयारी
रेलवे की ओर से प्राइवेट ट्रेनों के संचालन के लिए तैयारियां तेज कर दी गई हैं। रेलवे ने अप्रैल 2023 तक पहली प्राइवेट ट्रेन को शुरू करने का फैसला लिया है। रेलवे की तैयारी है कि 2022-23 में 12 प्राइवेट ट्रेनें पटरियों पर दौड़ने लगें।

ये भी पढ़ सकते हैं...

देश में प्राइवेट ट्रेनें चलाने के लिए फ्रांस, जर्मनी और कनाडा समेत कई देशों की 23 कंपनियों को दिलचस्पी, 30 हजार करोड़ के निवेश की उम्मीद

खबरें और भी हैं...