• Hindi News
  • National
  • CRPF and Delhi Police consider Rahul Gandhi's car to infiltrate Priyanka's house

सुरक्षा में चूक / प्रियंका के घर में घुसपैठ करने वाली कार को सीआरपीएफ और दिल्ली पुलिस ने राहुल गांधी की गाड़ी समझा था

प्रियंका गांधी वाड्रा के निवास में घुसपैठ करने वाली कार। (फाइल फोटो) प्रियंका गांधी वाड्रा के निवास में घुसपैठ करने वाली कार। (फाइल फोटो)
X
प्रियंका गांधी वाड्रा के निवास में घुसपैठ करने वाली कार। (फाइल फोटो)प्रियंका गांधी वाड्रा के निवास में घुसपैठ करने वाली कार। (फाइल फोटो)

  • अमित शाह ने कहा- सुरक्षाकर्मियों को सूचना मिली थी कि प्रियंका के घर राहुल गांधी आने वाले हैं
  • राहुल की कार और घुसपैठ करने वाली गाड़ी का रंग समान होने से सुरक्षा एजेंसियों से गफलत हुई
  • दिल्ली पुलिस और सीआरपीएफ ने घटना के लिए एक-दूसरे को जिम्मेदार बताया
  • कार मालिक की मां शारदा त्यागी ने कहा- पीढ़ियों से हमारे परिवार के लोग कांग्रेस कार्यकर्ता रहे हैं

Dainik Bhaskar

Dec 03, 2019, 09:52 PM IST

नई दिल्ली. प्रियंका गांधी वाड्रा की सुरक्षा में तैनात एजेंसियों से पिछले सप्ताह उनके घर में घुसपैठ करने वाली गाड़ी को पहचानने में गफलत हुई थी। केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) और दिल्ली पुलिस ने इस मुद्दे पर चुप्पी साध रखी है। वहीं, सूत्रों के मुताबिक, गाड़ी इसलिए बेरोक-टोक अंदर पहुंच गई, क्योंकि सुरक्षा टीमों ने इसे राहुल गांधी की कार समझा था।

इस बीच घुसपैठ करने वाले कार मालिक चंद्रशेखर त्यागी की मां शारदा त्यागी का कहना है कि हमारे परिजन पीढ़ियों से कांग्रेस कार्यकर्ता रहे हैं। मैं खुद 1991 में कांग्रेस के टिकट पर चुनाव लड़ चुकी हूं। मेरा बेटा चुनाव लड़ रहा है। इसी सिलसिले में हम पार्टी के नेताओं से बात करना चाहते थे।

 

केवल एक बार प्रियंका गांधी से मिली हूं- शारदा त्यागी

उन्होंने बताया- मैं बीते 40 साल से राजनीति में हूं। केवल एक बार प्रियंका गांधी से मिली हूं। तब वे यंग थीं। इस बार मौका मिला तो हम लोग बात करने रूक गए। इसी दौरान परिजन ने सेल्फी खींच ली। हमने देखा कि प्रियंका गांधी घर में गई हैं। हम भी पीछे-पीछे चल दिए। सुरक्षाकर्मियों ने यह भी नहीं जांचा कि आखिर किसकी गाड़ी जा रही है। यह तो वाकई बड़ी गलती है। ऐसा नहीं होना चाहिए। 

दोनों जांच एजेंसियों ने एक-दूसरे को जिम्मेदार बताया

मामले को गरमाते देख दिल्ली पुलिस और सीआरपीएफ ने इस घटना के लिए एक-दूसरे को जिम्मेदार बताना शुरू कर दिया है। सीआरपीएफ सूत्रों के मुताबिक, दिल्ली पुलिस ने गाड़ी को अंदर आने की इजाजत दी, क्योंकि परिसर की सुरक्षा के लिए वही जिम्मेदार है। दूसरी तरफ, दिल्ली पुलिस के आला अधिकारियों का दावा है कि सुरक्षा के लिए सीआरपीएफ जिम्मेदार है और उसकी टीम की मंजूरी के बाद ही वाहन को अंदर जाने दिया गया। सीआरपीएफ स्टाफ ने कार से बाहर निकलने पर भी यात्रियों की जांच नहीं की।

बिना इजाजत घर में घुसकर सेल्फी की मांग की
इससे पहले कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा के कार्यालय ने सोमवार को सीआरपीएफ के पास इस घटना की शिकायत दर्ज कराई। शिकायत में कहा गया कि पिछले हफ्ते (नवंबर में) कुछ अज्ञात लोगों ने बिना इजाजत उनके घर में प्रवेश किया। इन लोगों ने प्रियंका गांधी के साथ सेल्फी खिंचवाने की मांग भी की।

गृह मंत्री ने कहा- 3 लोगों को सस्पेंड किया गया
संसद में गृह मंत्री अमित शाह ने कहा- इस मामले में तीन लोगों को निलंबित कर दिया गया है। वहीं, सीआरपीएफ भी घटना की जांच कर रहा है। सुरक्षा में चूक के मुद्दे पर उन्होंने कहा- सुरक्षाकर्मियों को सूचना मिली थी कि प्रियंका गांधी के घर राहुल गांधी आने वाले हैं। वह भी काले रंग की सफारी में सवार थे। यह एक संयोग था कि दोनों ही कारें एक ही रंग की थी, इसलिए यह घटना हुई। बावजूद इसके हमने जांच के आदेश दे दिए हैं।

गांधी परिवार की सुरक्षा एसपीजी के बजाय सीआरपीएफ को
केंद्र सरकार ने हाल ही में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी, उनके बेटे राहुल गांधी और बेटी प्रियंका गांधी वाड्रा को दिए गए एसपीजी कवर को वापस ले लिया था। तीनों कांग्रेस नेताओं के सुरक्षा कवर की समीक्षा के बाद गृह मंत्रालय ने यह फैसला किया। सरकार ने उन्हें जेड प्लस सुरक्षा देने का फैसला किया है, जिसके तहत अब सीआरपीएफ के जवान गांधी परिवार के सदस्यों की सुरक्षा करते हैं।

DBApp
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना