कार्यकर्ताओं से मिले फीडबैक के आधार पर अगले दौरे का प्लान तैयार कर रहीं प्रियंका

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
  • कार्यकताओं से मुलाकात के लिए जल्द ही पूर्वी उप्र के दौरे पर निकलेंगी प्रियंका
  • पार्टी सूत्रों के अनुसार पूर्वी उप्र के कार्यकर्ताओं से स्थानीय फीडबैक के आधार पर रणनीति बनाने में जुटी हैं प्रियंका
  • कार्यकर्ताओं का मिजाज भांपने के बाद उप्र में और सक्रिय तौर पर दिखायी देंगी प्रियंका

लखनऊ. कांग्रेस पार्टी की जमीन मजबूत करने के लिए कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी पूर्वी उत्तरप्रदेश का दौरा करेंगी। पार्टी सूत्रों के मुताबिक, प्रियंका सभी इलाकों में कार्यकर्ताओं से मुलाकात करेंगी और उनका फीडबैक लेंगी। इसी फीडबैक के आधार पर जिलास्तर पर अध्यक्ष की नियुक्ति की जाएगी।

 

पार्टी सूत्रों ने बताया कि पूर्वी उप्र के दौरे की रूपरेखा तैयार करने के लिए प्रियंका दिल्ली में चुनिंदा कार्यकर्ताओं से मुलाकात कर रही हैं। इसमें वे जिलास्तर पर पार्टी के लिए रणनीति तैयार करने को लेकर भी बातचीत कर रहीं हैं। दिल्ली में प्रियंका से मिलकर लौटे एक कार्यकर्ता ने न्यूज एजेंसी को बताया कि वह एक फॉर्म में सभी सुझावों को नोट करवा रहीं हैं।  


कार्यकर्ताओं को एकजुट करने की कोशिश
सूत्रों के मुताबिक, 2022 में राज्य में होने वाले विधानसभा चुनाव के लिए प्रियंका अभी से जुट गई हैं। वह पार्टी संगठन में नई जान फूंकने के लिए कार्यकर्ताओं की सीधी पहुंच सुनिश्चित करना चाहती हैं। दरअसल, लोकसभा चुनाव में हुई हार के बाद समीक्षा बैठकों में यह बात निकलकर आई कि नेताओं और कार्यकर्ताओं के बीच ज्यादा संपर्क और समन्वय की जरूरत है। इसी को ध्यान में रखकर प्रियंका ने यह रणनीति तैयार की है।

 

कार्यकर्ताओं के फीडबैक पर ही सोनभद्र गईं थीं प्रियंका
सूत्र बताते हैं कि सोनभद्र में 10 लोगों की हत्या के बाद वहां के स्थानीय नेताओं ने प्रियंका से संपर्क साधा था। इसके बाद प्रियंका वाराणसी पहुंचीं और फिर सोनभद्र के लिए रवाना हुई थीं। हालांकि सोनभद्र जाते समय उन्हें मिर्जापुर की सीमा में ही हिरासत में ले लिया गया। बाद में उन्हें चुनार गेस्ट हाउस में रखा गया। यहां उन्होंने धरना प्रदर्शन शुरू कर दिया था। बाद में प्रशासन ने हत्याकांड में मारे गए लोगों के परिजन की प्रियंका से मुलाकात कराई। इस दौरान प्रियंका ने पार्टी फंड से मृतकों के परिजन को दस-दस लाख रुपए मुआवजा देने का ऐलान भी किया था।

 

प्रियंका के बाद सोनभद्र पहुंचे थे योगी
कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी के सोनभद्र पहुंचने के तुरंत बाद ही योगी सरकार भी एक्शन में आ गई। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने खुद आगे आकर इस नरसंहार का ठीकरा कांग्रेस पर ही फोड़ दिया था। प्रियंका के वापस लौटने के बाद योगी ने 21 जुलाई को सोनभद्र पहुंचकर पीड़ितों से मुलाकात की। यही नहीं, राज्य सरकार ने पहले मृतकों के परिजनों को 5 लाख का मुआवजा देने का ऐलान किया था, जिसे बाद में बढ़ाकर 18.50 लाख रुपए किया गया। 

खबरें और भी हैं...