• Hindi News
  • National
  • Priyanka Gandhi Sonbhadra Visit Updates; Priyanka Gandhi Vadra Stopped In UP Mirzapur, Police Taken To Guest House

उप्र हत्याकांड / पीड़ित परिवार से मिलने सोनभद्र जा रहीं प्रियंका का काफिला रोका गया, धरने पर बैठीं तो पुलिस उन्हें गेस्ट हाउस ले गई



Priyanka Gandhi Sonbhadra Visit Updates; Priyanka Gandhi Vadra Stopped In UP Mirzapur, Police Taken To Guest House
Priyanka Gandhi Sonbhadra Visit Updates; Priyanka Gandhi Vadra Stopped In UP Mirzapur, Police Taken To Guest House
Priyanka Gandhi Sonbhadra Visit Updates; Priyanka Gandhi Vadra Stopped In UP Mirzapur, Police Taken To Guest House
X
Priyanka Gandhi Sonbhadra Visit Updates; Priyanka Gandhi Vadra Stopped In UP Mirzapur, Police Taken To Guest House
Priyanka Gandhi Sonbhadra Visit Updates; Priyanka Gandhi Vadra Stopped In UP Mirzapur, Police Taken To Guest House
Priyanka Gandhi Sonbhadra Visit Updates; Priyanka Gandhi Vadra Stopped In UP Mirzapur, Police Taken To Guest House

Dainik Bhaskar

Jul 19, 2019, 07:38 PM IST
  • सोनभद्र में जमीन विवाद में तीन महिलाओं समेत 10 लोगों की हत्या कर दी गई थी
  • प्रियंका ने घायलों से वाराणसी के ट्रॉमा सेंटर में मुलाकात की और फिर सोनभद्र के लिए रवाना हुईं
  • प्रियंका का आरोप- मुझे गिरफ्तार किया गया, इसके लिए पुलिस को ‘ऊपर’ से फोन आया था
  • उत्तर प्रदेश पुलिस का आरोपों से इनकार, कहा- प्रियंका को गिरफ्तार नहीं किया गया
     

वाराणसी/मिर्जापुर. कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने शुक्रवार को वाराणसी के एक अस्पताल में सोनभद्र हत्याकांड में जख्मी हुए लोगों से मुलाकात की। वे सड़क मार्ग से सोनभद्र रवाना हुईं, लेकिन पुलिस-प्रशासन के अधिकारियों ने उनके काफिले को नारायणपुर में रोक दिया। इसके बाद प्रियंका सड़क पर धरने पर बैठ गईं। उन्होंने कहा कि मैं सिर्फ चार लोगों के साथ पीड़ित परिवारों से मिलना चाहती हूं। मुझे रोकने और गिरफ्तार करने के लिए पुलिस को ऊपर से फोन आया है।

 

इसके बाद अधिकारी प्रियंका गांधी और कुछ कांग्रेस नेताओं को सरकारी गाड़ी में बैठाकर मिर्जापुर स्थित चुनार गेस्ट हाउस ले गए। प्रियंका यहां भी कांग्रेस कार्यकर्ताओं के साथ धरने पर बैठ गईं। उन्होंने कहा कि मैं सोनभद्र जाए बगैर नहीं लौटूंगी। पुलिस के आला अफसरों ने कहा है कि प्रियंका को गिरफ्तार नहीं किया गया। कानून-व्यवस्था को देखते हुए सोनभद्र में धारा 144 लागू है। यहां के घोरावल इलाके में 17 जुलाई को जमीन विवाद में 10 लोगों की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। पुलिस मुख्य आरोपी ग्राम प्रधान यज्ञदत्त भोर्तिया समेत 27 लोगों को गिरफ्तार कर चुकी है।

 

प्रदेश में अपराधियों के हौसले बुलंद: प्रियंका

सोनभद्र जाते वक्त प्रियंका के काफिले को वाराणसी सीमा के भीतर रोक लिया गया। इसके बाद वे वहीं धरने पर बैठ गईं। प्रियंका ने इससे पहले ट्रॉमा सेंटर से निकलते समय मीडिया से कहा कि उत्तर प्रदेश की कानून-व्यवस्था बहुत खराब है। अपराधियों के हौसले बुलंद हैं, लेकिन पूरा सरकारी अमला सो रहा है। उन्होंने यह सवाल भी किया कि क्या उत्तर प्रदेश ऐसे अपराधमुक्त बनेगा?

 

प्रियंका गांधी ने सीेएम योगी को पत्र लिखा था

इससे पहले गुरुवार को प्रियंका ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को एक पत्र लिखा था। इसमें उन्होंने लिखा था कि मैं राज्य के अपने दौरे के दौरान सुरक्षा इंतजाम की सराहना करती हूं। लेकिन, इन सुरक्षा इंतजाम के कारण जनता को होने वाली परेशानी से दुखी हूं। जनता का सेवक होने के नाते मेरे कारण किसी को परेशानी नहीं होनी चाहिए। ऐसे में प्रदेश में यात्रा के दौरान सुरक्षा का दायरा कम से कम रखा जाए, ताकि लोगों को असुविधा का सामना न करना पड़े।

 

प्रियंका गांधी चुनार किले में रात्रि विश्राम करेंगी- रिपोर्ट
एक तरफ प्रियंका गांधी सोनभद्र जिले के घोरावल में जाने पर अड़ी हैं तो दूसरी तरफ जिला प्रशासन सुरक्षा शांति व्यवस्था के नाम पर उन्हें रोकने में लगा है। जिलाधिकारी के मुताबिक- धारा 151 के तहत प्रियंका गांधी वाड्रा समेत 10 लोगों को चुनार किले में रोका गया है। ऐसी संभावना है कि कुछ लोगों के साथ प्रियंका यही रात्रि विश्राम करेंगी।
 

भाजपा के राज में असुरक्षा बढ़ रही है: राहुल गांधी
राहुल गांधी ने कहा- सोनभद्र, उत्तरप्रदेश में प्रियंका को अवैध ढंग से गिरफ्तार करना परेशान करने वाली बात है। यह तो ताकत का मनमाना इस्तेमाल है। प्रियंका उन आदिवासी किसानों के परिवारों से मिलने जा रही थीं, जिन्होंने अपनी जमीन खाली करने से इनकार कर दिया था। ऐसे में उन्हें गोली मार दी गई। भाजपा सरकार के राज में यूपी में असुरक्षा बढ़ रही है।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना