• Hindi News
  • National
  • Pulwama Blast: Kashmiri Student Sent To Jail For Alleged \'connections\' With Mastermind

हिमाचल में कश्मीरी छात्र को जेल, आतंकी की सलामती की दुआ की थी; बेंगलुरु-गुवाहाटी में भी 3 गिरफ्तार

4 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
  • आतंकी हमले से पहले फिदायीन आदिल ने फेसबुक पर पोस्ट की थी, इस पर सोलन में पढ़ने वाले कश्मीरी छात्र ने किया था कमेंट
  • बेंगलुरु में शिक्षिका, कश्मीरी छात्र और गुवाहाटी में प्रोफेसर गिरफ्तार

सोलन. चिटकारा विश्वविद्यालय से शनिवार रात गिरफ्तार किए गए कश्मीरी छात्र को रविवार को 28 फरवरी तक जेल भेज दिया गया। उसके साथ रहने वाले दो अन्य कश्मीरी छात्रों को पुलिस ने हिरासत में लिया है। छात्र तहसीन गुल ने पुलवामा हमले को अंजाम देने वाले फिदायीन आतंकी आदिल अहमद की फेसबुक पोस्ट पर कमेंट किया था। तहसीन ने लिखा था- अल्लाह आपको सलामत रखे। इसके अलावा बेंगलुरु में एक शिक्षिका और गुवाहाटी में कॉलेज प्रोफेसर को देश विरोधी कमेंट करने के आरोप में गिरफ्तार किया गया। उधर, जयपुर में पैरामेडिकल की 4 कश्मीरी छात्राओं को नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंस (निम्स) ने निलंबित कर दिया है। आरोप है कि ये छात्राएं पुलवामा हमले का जश्न मना रही थीं और मैसेजिंग ऐप पर देश विरोधी मैसेज भेज रही थीं।


पुलिस ने विश्वविद्यालय के डीन एके चौहान की शिकायत पर तहसीन को गिरफ्तार किया था। वह बीटेक सेकंड ईयर का छात्र है और उसके पिता कश्मीर के हरमन गांव में के सरकारी स्कूल में शिक्षक हैं। पुलिस ने बताया कि पुलवामा हमले से पहले आतंकी आदिल ने अपनी फेसबुक पोस्ट में हमले के संबंध में अहम जानकारियां दी थीं। इसी पोस्ट पर तहसीन ने लिखा था- अल्लाह आपको सलामत रखे।

 

कश्मीरी छात्र को फॉलो करने वालों ने अधिकारियों को दी थी सूचना
पुलिस के मुताबिक, तहसीन ने शकूर डार नाम के आतंकी के एनकाउंटर के बाद उसकी फेसबुक पोस्ट पर लिखा था- रेस्ट इन पीस शकूर। अल्लाह आपकी शहादत कुबूल करे। मिसिंग यू भाई। यह कमेंट इसी साल 5 जनवरी को किया गया था। तहसीन के ये कमेंट उसे फॉलो करने वाले विश्वविद्यालय के कुछ छात्रों ने देखे थे। इसके बाद तुरंत विश्वविद्यालय के अधिकारियों को इस बारे में सूचना दी गई।

 

शिक्षिका ने पाकिस्तान की तारीफ की, प्रोफेसर ने सुरक्षाबलों पर लगाए आरोप

 

  • बेंगलुरु में एक महिला शिक्षक को कथिततौर पर पाकिस्तान की तारीफ करने के आरोप में शनिवार रात गिरफ्तार किया गया। बेलगावी के स्कूल में पढ़ाने वाली जिलेखा बी ने पुलवामा हमले के मद्देनजर सोशल मीडिया पर लिखा- पाकिस्तान की जय हो। 
  • पोस्ट पढ़ने के बाद लोगों में गुस्सा बढ़ गया। शिक्षक के घर के बाहर भी कुछ लोग जमा हो गए थे। उन्होंने जिलेखा के घर पर पत्थरबाजी भी की। कथिततौर पर उसका घर जलाने की भी कोशिश की गई।
  • बेंगलुरु के ही सिटी कॉलेज में पढ़ने वाले एक कश्मीरी छात्र ताहिर लतीफ को भी पुलवामा हमले से संंबंधित पोस्ट लिखने पर गिरफ्तार किया गया। मूल रूप से बारामूला के रहने वाले कश्मीर छात्र ने सोशल नेटवर्किंग साइट पर जैश के आतंकी आदिल अहमद डार की तारीफ की थी। पोस्ट में उसने आदिल की तस्वीर शहीद जवानों के साथ पोस्ट की थी।
  • पुलिस ने एक अन्य कश्मीरी युवक आबिद मलिक के खिलाफ केस दर्ज किया है। उसने फेसबुक पोस्ट में पुलवामा हमले को \"रियल सर्जिकल अटैक\' बताया था। फेसबुक ने शिकायत के बाद उसका अकाउंट डिलीट कर दिया।
  • असम के गुवाहाटी में कॉलेज की प्रोफेसर ने सीआरपीएफ और सुरक्षा बलों के खिलाफ कथित तौर पर अपमानजनक पोस्ट की थी। पुलिस ने बताया कि हमें पापरी बनर्जी नाम की प्रोफेसर के खिलाफ शिकायत मिली थी कि उसने फेसबुक पोस्ट में लिखा था कि जम्मू-कश्मीर में सुरक्षाबलों द्वारा आम नागरिकों पर अत्याचार किया जाता है।