• Hindi News
  • National
  • Rafale Fighter Jet Air Refilling Updates: Indian Air Force (IAF) Thanks To French Air Force

रास्ते में हैं राफेल लड़ाकू विमान:देश पहुंचने से पहले एयर-टू-एयर रीफ्यूलिंग हुई, अंबाला एयरबेस के पास 4 गांवों में धारा 144, छत पर भीड़ जमा होने और फोटोग्राफी पर रोक

नई दिल्लीएक वर्ष पहले
राफेल फाइटर जेट्स के शामिल होने से भारतीय वायुसेना की ताकत कई गुना बढ़ जाएगी।
  • 7 हजार किमी की दूरी तय कर यह बैच बुधवार 29 जुलाई को भारत पहुंचेगा
  • पायलटों को आराम देने के लिए फिलहाल राफेल लड़ाकू विमान यूएई में रुके

भारत को बुधवार को 5 राफेल लड़ाकू विमान मिल जाएंगे। फिलहाल राफेल रास्ते में हैं। मंगलवार को फाइटर प्लेन में बाकायदा एयर टू एयर रीफ्यूलिंग भी की गई। भारतीय वायुसेना ने सहयोग के लिए फ्रांस की एयरफोर्स का शुक्रिया जताया है। इंडियन एयरफोर्स के हवाले से न्यूज एजेंसी ने इसकी जानकारी दी।

इस बीच अंबाला एयरबेस के पास 4 गांवों में धारा 144 लागू कर दी गई है। फाइटर जेट की लैंडिंग के दौरान लोगों की भीड़ छतों पर जमा होने और फोटोग्राफी पर भी सख्त पाबंदी लगा दी गई है। पुलिस ने बताया कि अगर कोई ऐसा करता है तो उसके खिलाफ सख्त एक्शन लिया जाएगा।

प्रशासन की ओर से जारी आदेश
प्रशासन की ओर से जारी आदेश

वायुसेना प्रमुख राफेल को रिसीव करेंगे
वायुसेना प्रमुख एयर चीफ मार्शल आरकेएस भदौरिया बुधवार को अंबाला में रहेंगे। सूत्रों के हवाले से न्यूज एजेंसी ने बताया कि राफेल यूएई के अल-धफरा एयरबेस से सुबह करीब 11 बजे उड़ान भरेगा और दोपहर 2 बजे अंबाला पहुंचेगा। वायुसेना प्रमुख इन लड़ाकू विमानों को अंबाला एयरबेस पर रिसीव करेंगे।

राफेल फाइटर प्लेन में बाकायदा एयर-टू-एयर रीफ्यूलिंग भी की गई।
राफेल फाइटर प्लेन में बाकायदा एयर-टू-एयर रीफ्यूलिंग भी की गई।

सोमवार को फ्रांस से हुआ था रवाना
फ्रांस के मेरिनेक एयरबेस से 5 राफेल फाइटर विमानों का पहला बैच सोमवार को भारत के लिए रवाना हुआ था। पायलटों को आराम देने के लिए विमान यूएई में रुके हैं। 7 हजार किमी की दूरी तय कर यह बैच बुधवार 29 जुलाई को भारत पहुंचेगा। इन मल्टी-रोल फाइटर जेट्स के शामिल होने से भारतीय वायुसेना की ताकत कई गुना बढ़ जाएगी।

राफेल लड़ाकू विमान फिलहाल रास्ते में हैं। इन मल्टी-रोल फाइटर जेट्स के शामिल होने से भारतीय वायुसेना की ताकत कई गुना बढ़ जाएगी।
राफेल लड़ाकू विमान फिलहाल रास्ते में हैं। इन मल्टी-रोल फाइटर जेट्स के शामिल होने से भारतीय वायुसेना की ताकत कई गुना बढ़ जाएगी।

अंबाला में तैनाती होगी
पांचों राफेल की तैनाती अंबाला में होगी। यहां पर तैनाती से पश्चिमी सीमा पर पाकिस्तान के खिलाफ तेजी से एक्शन लिया जा सकेगा। अंबाला में 17वीं स्क्वाड्रन गोल्डन एरोज राफेल की पहली स्क्वाड्रन होगी। मिराज 2000 जब भारत आया था तो कई जगह रुका था, लेकिन राफेल एक स्टॉप के बाद सीधे अम्बाला एयरबेस पर उतरेगा।

ये भी पढ़ सकते हैं...

1. फ्रांस से 5 राफेल रवाना:यूएई के एयरबेस पर राफेल की सेफ लैंडिंग हुई; पांचों राफेल 7 हजार किमी की दूरी तय कर बुधवार को भारत पहुंचेंगे; एयर टू एयर रीफ्यूलिंग होगी

2. 22 साल बाद भारत आ रहा है कोई नया फाइटर प्लेन, इससे पहले 1997 में सुखोई आया था; राफेल के बारे में वो सबकुछ जो आप जानना चाहते हैं

खबरें और भी हैं...