पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • National
  • Rajnath Singh | Rafale Fighter Jet Delivery India Latest News Today Updates; Defence Minister Rajnath Singh Says 4 Fighter Planes To Meet Next Month

सुरक्षा के मुद्दे पर भारत सतर्क:फ्रांस की मंत्री से चर्चा के बाद राजनाथ बोले- कोरोना संकट के बीच राफेल लड़ाकू विमान तय समय पर मिलेंगे; अगले महीने मिलने हैं 4 फाइटर प्लेन

नई दिल्ली5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
ह तस्वीर पिछले साल 8 अक्टूबर 2019 की है। विजयदशमी के मौके पर रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने फ्रांस जाकर राफेल लड़ाकू विमान की पूजा की। फ्रांस की रक्षामंत्री ने भारत के रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह को पहला राफेल लड़ाकू विमान सौंपा।
  • रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा-भारत और फ्रांस के बीच रक्षा सहयोग को मजबूत करने पर सहमति बनी
  • भारत और फ्रांस के बीच 2016 में 36 राफेल विमानों की खरीद के लिए 60 हजार करोड़ रु. का करार हुआ था

भारत को फ्रांस से राफेल विमान तय समय से मिलेंगे। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने फ्रांस की मंत्री फ्लोरेंस पार्ली के साथ बात करने के बाद  मंगलवार को ट्वीट कर यह जानकारी दी। उन्होंने कहा कि आज फ्रांस के सशस्त्र बल की मंत्री फ्लोंरेस पार्ली के साथ टेलीफोन पर बात हुई। फ्रांस ने कोरोना महामारी की चुनौतियों के बावजूद समय से राफेल विमान देने की बात कही है। बातचीत के दौरान हमने कोरोना से निपटने के लिए अपने देश की सेना के कामों की भी तारीफ की। 

राजनाथ सिंह ने एक अन्य ट्वीट में कहा कि हमने कोरोना और राष्ट्रीय सुरक्षा समेत दोनों देशों के हितों से जुड़े मुद्दों पर बात की। हमारे बीच भारत और फ्रांस के बीच रक्षा सहयोग को मजबूत करने पर सहमति बनी।

कोरोना संकट की वजह से मई में नहीं आ सके विमान

इस साल जुलाई के अंत तक भारत को पहले चार राफेल फाइटर प्लेन मिल जाएंगे। फ्रांस से सीधा ये हरियाणा के अंबाला स्थित एयरबेस में उतारे जाएंगे। इसमें तीन दो सीटों वाला ट्रेनिंग प्लेन होगा जबकि एक फाइटर प्लेन। पहले ये प्लेन मई में ही आने वाले थे लेकिन कोरोना संकट के चलते इसे दो माह के लिए टाल दिया गया था। भारत और फ्रांस के बीच 2016 में 36 राफेल विमानों की खरीद के लिए 60 हजार करोड़ रु. का करार हुआ था।

एडवांस तकनीक से लैस है राफेल
भारत के लिए राफेल काफी जरूरी है। अभी तक मिस्र और फ्रांस में राफेल जेट का प्रयोग होता रहा है। हालांकि, भारत को मिलने वाला राफेल ज्यादा एडवांस बताया जा रहा है। भारत की जरूरतों को ध्यान में रखते हुए इसमें कुछ अतिरिक्त फीचर्स भी जोड़े गए हैं। पहला राफेल भारत की तरफ से 17 गोल्डन एरो के स्क्वॉड्रन कमांडिंग ऑफिसर उड़ाएंगे। उनके साथ एक फ्रेंच पायलट भी रहेगा। 2022 तक सभी 36 राफेल विमान भारत को मिल जाएंगे। पहले 18 राफेल जेट अंबाला एयरबेस में रखे जाएंगे, जबकि बाकी के 18 विमान पूर्वोत्तर के हाशीमारा में तैनात किए जाएंगे।

सुखोई विमान की तुलना में राफेल

  • सुखोई-30 एमकेआई फाइटर जेट की तुलना में राफेल ज्यादा एडवांस है।
  • सुखोई के मुकाबले राफेल 1.5 गुना अधिक कार्यक्षमता से लैस है।
  • राफेल की रेंज 780 से 1055 किमी प्रति घंटा है, जबकि सुखोई की 400 से 550 किमी प्रति घंटे।
  • राफेल प्रति घंटे 5 सोर्टीज लगा सकता है, जबकि सुखोई की क्षमता महज 3 की है।

राफेल का विवादों से नाता
राफेल लड़ाकू विमान के सौदे पर देश के विपक्षी दल लंबे समय से सवाल उठा रहे हैं। विपक्ष का कहना है कि सरकार ने इसमे घोटाला किया है और अनिल अंबानी को फायदा पहुंचाने के लिए उन्हें दसॉल्ट एविएशन का ऑफसेट ठेका दिया गया। हालांकि केंद्र सरकार इस आरोप को सिरे से खारिज करती आ रही है। सरकार का दावा है कि वायुसेना को मजबूत बनाने के लिए इस सौदे को जल्दी पूरा करना जरूरी था। मामला सुप्रीम कोर्ट भी पहुंचा, जहां 14 दिसंबर 2018 को अदालत ने इस मामले में मोदी सरकार को क्लीन चिट दी थी। 

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- किसी अनुभवी तथा धार्मिक प्रवृत्ति के व्यक्ति से मुलाकात आपकी विचारधारा में भी सकारात्मक परिवर्तन लाएगी। तथा जीवन से जुड़े प्रत्येक कार्य को करने का बेहतरीन नजरिया प्राप्त होगा। आर्थिक स्थिति म...

और पढ़ें