--Advertisement--

बेंगलुरु / राहुल ने एचएएल कर्मियों से कहा- राफेल आपका अधिकार, केंद्र ने डील छीनकर कंपनी को बर्बाद किया



बेंगलुरु में एचएएल कर्मियों से राहुल ने कहा- यहां भाषण देने नहीं, आपको सुनने आया हूं। बेंगलुरु में एचएएल कर्मियों से राहुल ने कहा- यहां भाषण देने नहीं, आपको सुनने आया हूं।
एचएएल कर्मियों ने भी राहुल के सामने अपनी बात रखी। एचएएल कर्मियों ने भी राहुल के सामने अपनी बात रखी।
एचएएल के कर्मचारियों से मुलाकात करते राहुल। एचएएल के कर्मचारियों से मुलाकात करते राहुल।
Rahul Gandhi Meets HAL Workers, Slams Centre For Snatching Rafale Deal
Rahul Gandhi Meets HAL Workers, Slams Centre For Snatching Rafale Deal
Rahul Gandhi Meets HAL Workers, Slams Centre For Snatching Rafale Deal
X
बेंगलुरु में एचएएल कर्मियों से राहुल ने कहा- यहां भाषण देने नहीं, आपको सुनने आया हूं।बेंगलुरु में एचएएल कर्मियों से राहुल ने कहा- यहां भाषण देने नहीं, आपको सुनने आया हूं।
एचएएल कर्मियों ने भी राहुल के सामने अपनी बात रखी।एचएएल कर्मियों ने भी राहुल के सामने अपनी बात रखी।
एचएएल के कर्मचारियों से मुलाकात करते राहुल।एचएएल के कर्मचारियों से मुलाकात करते राहुल।
Rahul Gandhi Meets HAL Workers, Slams Centre For Snatching Rafale Deal
Rahul Gandhi Meets HAL Workers, Slams Centre For Snatching Rafale Deal
Rahul Gandhi Meets HAL Workers, Slams Centre For Snatching Rafale Deal

  • कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा- एचएएल भारत की रणनीतिक धरोहर है, देश आपका कर्जदार
  • राहुल ने कहा- रक्षा मंत्री ने एचएएल की क्षमताओं पर सवाल उठाए, पर अनिल अंबानी के अनुभव के बारे में कुछ नहीं बोला
  • उन्होंने ने कहा- सरकार ने एचएएल कर्मियों की मेहनत और देश भक्ति का अपमान किया
  • राहुल ने कहा- एचएएल के कर्मचारी चाहते हैं कि रक्षा मंत्री इस अपमान के लिए उनसे माफी मांगें

Dainik Bhaskar

Oct 13, 2018, 06:37 PM IST

बेंगलुरु. कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने शनिवार को बेंगलुरु में हिंदुस्तान एयरोनॉटिकल्स लिमिटेड (एचएएल) के कर्मचारियों से मुलाकात की। उन्होंने कहा- केंद्र सरकार ने एचएएल से राफेल डील छीनकर इस कंपनी को बर्बाद कर दिया। राफेल आपका अधिकार है, क्योंकि आपके पास ही इसे बनाने का अनुभव है। जिसे इसका अनुबंध मिला है, उसे विमानों के बारे में बहुत कम जानकारी है।

 

राहुल ने कर्मचारियों के बीच कहा, ‘‘एचएएल सिर्फ एक कंपनी नहीं है। आजादी के बाद देश में कुछ रणनीतिक धरोहर तैयार की गई थीं ताकि हम चुनिंदा क्षेत्रों में आगे बढ़ पाएं। एचएएल भारत के एयरोस्पेस सेक्टर के लिए एक रणनीतिक धरोहर है। आपके कर्मचारियों ने शानदार काम किया है। इसके लिए देश आपका कर्जदार है।''

 

एचएएल देश के विजन का हिस्सा- राहुल

कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा, ‘"एचएएल ने देश को सुरक्षित रखा। इसके लिए हम कंपनी के ऋणी हैं। आप देश के विजन का हिस्सा हैं। अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा ने कहा था कि सिर्फ भारत और चीन ऐसे देश हैं, जो एयरोस्पेस के क्षेत्र में अमेरिका को चुनौती दे सकते हैं। यह एचएएल की वजह से ही संभव होगा। देश के रक्षकों की शान बचाने की जरूरत है।''

 

राहुल ने कहा- सरकार की तरफ से मैं माफी मांगता हूं

राहुल ने कहा- रक्षा मंत्री कहती हैं, एचएएल की क्षमता नहीं है। जिसको डील दी गई, उसकी क्या क्षमता है? मैं एचएएल की 70 साल से ज्यादा की प्रगति देख सकता हूं। मैं भारत सरकार की तरफ से एचएएल से माफी मांगता हूं क्योंकि, मुझे पता है कि वे स्थिति सुधारने के लिए कुछ भी नहीं करेंगे। सार्वजनिक क्षेत्र आधुनिक भारत के मंदिर हैं। हम उन्हें नष्ट करने की अनुमति नहीं दे सकते। अगर कोई सोचता है कि वो आपको दांव पर लगाकर अपने भविष्य को बना सकता है, तो इसकी अनुमति नहीं दी जा सकती है। हम आपके भविष्य के लिए लड़ने जा रहे हैं।

 

एचएएल के पूर्व कर्मचारी ने कहा- हम अपमानित हुए

राहुल के कार्यक्रम में मौजूद एचएएल के सेवानिवृत्त कर्मचारी मि. सिराजुद्दीन ने कहा कि हमें अपमानित करके छोड़ दिया गया है। 70 साल के अनुभव वाली एचएएल को राफेल समझौते से बाहर फेंक दिया गया है। मुझे समझ नहीं आता। एक बड़ी और अनुभवी कंपनी जिसे सुधारना चाहिए था, आप उसे मार रहे हो। भारतीय वायुसेना के पूर्व इंजीनियर बाबू टी राघव ने कहा कि जब भी एचएएल प्रतिनिधियों ने हमारे स्क्वाड्रन का दौरा किया, हम जानते थे कि उनके पास कई नई उम्मीदें और तकनीकें हैं। एचएएल और भारतीय वायुसेना एक यान के दो पंखों की तरह रहे हैं।

 

भारत-फ्रांस के बीच 36 राफेल की डील

भारत-फ्रांस सरकार के बीच सितंबर 2016 में राफेल डील हुई थी। इसके तहत फ्रांस भारत को 36 अत्याधुनिक लड़ाकू विमान देगा। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, यह सौदा 7.8 करोड़ यूरो (करीब 58 हजार करोड़ रु.) का है। पहला राफेल सितंबर 2019 में मिलेगा।

 

कांग्रेस का आरोप- सरकार ने एचएएल से कॉन्ट्रैक्ट छीना

राहुल ने राफेल के कॉन्ट्रैक्ट में एचएएल को शामिल नहीं करने पर रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण पर झूठ बोलने का आरोप लगाया था। उन्होंने कहा था कि सरकार के मुताबिक, एचएएल के पास राफेल को बनाने की क्षमता नहीं है। सीतारमण भारतीय कंपनी की क्षमताओं पर सवाल उठाकर देश को गुमराह कर रही हैं। राहुल का यह भी आरोप है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अनिल अंबानी की मदद के लिए उनकी रिलायंस डिफेंस कंपनी को राफेल बनाने वाली दैसो का ऑफसेट पार्टनर बनाने में मदद की।

Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..