• Hindi News
  • National
  • Rahul Gandhi Puducherry Visit Update | Congress Leader Rahul Gandhi Attacks On Narendra Modi Over Three Contentious Farm Laws

बयान पर फिर घिरे राहुल:कांग्रेस नेता ने कहा- मछुआरों के लिए भी दिल्ली में मिनिस्ट्री होनी चाहिए, केंद्रीय मंत्री बोले- वो तो 2019 से है राहुल जी!

पुडुचेरी2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
पुडुचेरी में इस साल चुनाव होने हैं। यहां अभी कांग्रेस की सरकार है। 3 विधायकों के इस्तीफे के बाद नारायणसामी सरकार अल्पमत में आ गई है। - Dainik Bhaskar
पुडुचेरी में इस साल चुनाव होने हैं। यहां अभी कांग्रेस की सरकार है। 3 विधायकों के इस्तीफे के बाद नारायणसामी सरकार अल्पमत में आ गई है।
  • दिल्ली में जमीन वाले किसानों की मिनिस्ट्री हो सकती है तो समुद्र वाले किसानों की क्यों नहीं

सियासी उथल-पुथल के बीच कांग्रेस सांसद राहुल गांधी बुधवार को पुड्डुचेरी पहुंचे। राहुल ने बुधवार को मछुआरों की एक सभा को भी संबोधित किया। इस दौरान उन्होंने मछुआरों की समस्याओं के समाधान के लिए अलग मंत्रालय बनाने की बात कही, जिसे लेकर अब वह केंद्रीय मंत्रियों के निशाने पर आ गए हैं।

राहुल गांधी के बयान पर हमला बोलते हुए केंद्रीय मत्स्य पालन मंत्री गिरिराज सिंह ने ट्वीट किया, 'राहुल जी! आपको इतना तो पता ही होना चाहिए कि 31 मई, 2019 को ही मोदी जी ने नया मंत्रालय बना दिया और 20050 करोड़ रुपये की महायोजना (PMMSY) शुरू की जो आज़ादी से लेकर 2014 के केंद्र सरकार के खर्च (3682 करोड़) से कई गुना ज़्यादा है।'

गिरिराज ने एक अन्य ट्वीट में लिखा, 'राहुल जी! मेरा आपसे अनुरोध है कि आप नए मत्स्य पालन मंत्रालय में आएं या मुझे जहां बुलाएं, मैं आ जाता हूं। मैं आपको नए फिशरी मंत्रालय के द्वारा पूरे देश और पुड्डुचेरी में चलाए जा रहे योजनाओं के बारे में बताता हूं।'

यही नहीं गिरिराज सिंह ने इटैलियन में भी एक ट्वीट कर राहुल गांधी पर तंज कसा है। उनके अलावा स्मृति इरानी ने भी राहुल गांधी पर हमला बोलते हुए इटैलियन में उन्हें लेकर कमेंट किया है। इसका अर्थ है इटली में मत्‍स्‍य पालन के लिए अलग से मंत्रालय नहीं है। यह कृषि मंत्रालय और वन नीतियों के अधीन आता है।

वित्त राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर ने भी एक ट्वीट कर राहुल गांधी पर तंज कसा है। गिरिराज सिंह और मत्स्य पालन मंत्रालय को टैग करते हुए अनुराग ठाकुर ने लिखा है, 'राहुल गांधी जी यह मंत्रालय और यह मंत्री हैं। और ये फिर एक बार, झूठ की राजनीति के चक्कर में, कांग्रेस पार्टी की किरकिरी हो रही है।'

राहुल गांधी ने क्या कहा था ?
राहुल ने कहा कि केंद्र सरकार ने किसान विरोधी 3 बिल पास किए हैं। किसान देश की रीढ़ हैं। आप सोच रहे होंगे कि मैं मछुआरों के बीच किसानों के बारे में क्यों बात कर रहा हूं। मैं आपको समुद्र का किसान मानता हूं। अगर दिल्ली में जमीन वाले किसानों की मिनिस्ट्री हो सकती है तो समुद्र वाले किसानों की क्यों नहीं। मछुआरों के लिए अलग मिनिस्ट्री की बात राहुल ने 2019 में लोकसभा चुनाव से पहले भी उठाई थी। तब उन्होंने कहा था कि अगर कांग्रेस केंद्र में सरकार बनाती है तो मछुआरों के लिए अलग मिनिस्ट्री बनाई जाएगी। उन्होंने केरल के त्रिशुर में हुई नेशनल फिशरमैन पार्लियामेंट में यह बयान दिया था।

पिता की हत्या के सवाल पर बोले, मैंने उन लोगों को माफ कर दिया
पुड्‌डुचेरी दौरे पर पहुंचे राहुल बांधी एक बार फिर पिता राजीव गांधी की यादों में खो गए। दरअसल, राहुल एक वूमेंस कॉलेज पहुंचे थे। यहां एक स्टूडेंट्स ने उनसे सवाल किया, 'लिबरेशन टाइगर्स ऑफ तमिल ईलम (LTTE) ने आपके पिता की जान ले ली थी, इन लोगों के बारे में आपकी क्या भावनाएं हैं?

इसके जवाब में राहुल ने कहा, "मुझे किसी के प्रति गुस्सा या नफरत नहीं है। निश्चित रूप से, मैंने अपने पिता को खो दिया और वह मेरे लिए बहुत मुश्किल समय था। यह किसी के दिल को काटकर अलग करने जैसा था।' मुझे काफी दुख हुआ, मुझे कोई नफरत या गुस्सा नहीं है। मैंने उन लोगों को माफ कर दिया।"

एक अन्य सवाल पर उन्होंने कहा कि हिंसा आपसे कुछ नहीं छीन सकती... मेरे पिता मुझमें जीवित हैं... मेरे पिता मेरे जरिए बात कर रहे हैं।"

केंद्र ने किरन बेदी को LG के पद से हटाया
इस बीच पुडुचेरी में विधानसभा चुनाव के पहले बड़े सियासी उलटफेर के संकेत मिल रहे हैं। केंद्र सरकार ने यहां की उपराज्यपाल किरण बेदी को हटा दिया है। फिलहाल तेलंगाना की गवर्नर डॉ. तिमिलिसाई सुंदरराजन को पुडुचेरी का अतिरिक्त प्रभार दिया गया है। इससे पहले, सोमवार और मंगलवार को 2 मंत्रियों समेत 4 विधायकों ने वी नारायणसामी के नेतृत्व वाली कांग्रेस सरकार से इस्तीफा दे दिया था।

नारायणसामी और किरन बेदी के बीच अक्सर विवादों की खबरें आती रही हैं। नारायणसामी ने बुधवार को कहा कि पिछले 4 साल हमारी सरकार के लिए शांति भरे नहीं थे। किरण बेदी हर दिन प्रशासन के कामों में दखल देकर समस्याएं खड़ी कर रही थीं। अब भाजपा हमारी सरकार को गिराने के लिए विधायकों को तोड़ने की कोशिश कर रही है। 3 विधायकों का इस्तीफा स्वीकार कर लिया गया है। लोगों को भाजपा के गेम प्लान के बारे में पता है, वे उन्हें चुनाव के दौरान जवाब देंगे।