हिमाचल / राहुल ने कहा- भारत के प्रधानमंत्री को समझ ही नहीं, वे अपनी ही दुनिया में रहते हैं

Dainik Bhaskar

May 17, 2019, 03:48 PM IST



X

  • राहुल ने सोलन में शिमला सीट से कांग्रेस प्रत्याशी के समर्थन में चुनावी सभा की
  • राहुल ने कहा- नोटबंदी से पहले मोदी ने कैबिनेट मंत्रियों को ताले में बंद किया
  • कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा- जेटली, सुषमा, आडवाणीजी के पास एक्सपीरियंस, लेकिन मोदी उनकी नहीं सुनते

सोलन. कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने शुक्रवार को हिमाचल के सोलन में सभा को संबाेधित किया। राहुल ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधा। कहा- हिंदुस्तान के पीएम को समझ ही नहीं है। इस बात को पांच साल से छिपा कर रखा है। वे अपनी ही दुनिया में रहते हैं।

 

राहुल ने मोदी द्वारा इंटरव्यू में सर्जिकल स्ट्राइक को लेकर दी जानकारी पर भी तंज कसा। उन्होंने कहा, ''प्रधानमंत्री ने एयरफोर्स के अफसरों से कहा कि घबराओ मत, बादलों से हमें फायदा मिलेगा। रडार विमान को बादलों में नहीं देख पाएगा। मोदी एयर स्ट्राइक के समय वायु सेना के विशेषज्ञों को ज्ञान देते हैं।'' उन्होंने पूछा कि क्या जब बादल आते हैं तो जेट, इंडिगाे के हवाई जहाज गायब हो जाते हैं? राहुल ने कहा कि सच यह है कि हिंदुस्तान के पीएम को समझ ही नहीं है।

 

मैं प्रेस वालों से कहता हूं कि जो पूछना है पूछिए- राहुल

कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा- मैं हर दो दिन में प्रेस वालों से मिलता हूं। कहता हूं कि जो पूछना है। मुझसे कहते हैं न्याय के बारे में बताइए। किसान के बारे में बताइए। मोदी जी से पूछा जाता है कि वे आम कैसे खाते हैं। बादलों के बारे में बताइए।

 

'मोदी ने नोटबंदी के वक्त पूरी कैबिनेट को ताले से बंद किया था'

उन्होंने कहा कि मेरी सुरक्षा में तैनात एसपीजी जवानों ने मुझे बताया कि नोटबंदी से पहले मोदी ने कैबिनेट को ताले से बंद कर दिया था। अरुण जेटली, सुषमा स्वराज, आडवाणी जी के पास एक्सपीरियंस है। लेकिन, जिनको समझ है, मोदी उनकी नहीं सुनते। बस, अपनी दुनिया में हैं। गले मिलना तो छोड़ो आडवाणीजी को तो देखते ही नहीं। अरे मोदी जी, वे आपके गुरू हैं।

 

पुलवामा के वक्त कांग्रेस देश की सरकार के साथ थी- राहुल

राहुल ने पुलवामा हमले का भी जिक्र किया। कहा- पुलवामा अटैक के समय मैंने प्रेस कॉन्फ्रेंस की और सरकार के साथ खड़ा रहने की बात की। लेकिन, जब ताज होटल में आतंकवादी हिंदुस्तान में अटैक कर रहे थे। तब नरेंद्र मोदी माइक लेकर प्रेस कॉन्फ्रेंस कर सरकार को घेरने में लगे थे।

 

पहले 13 मई को होनी थी रैली

कांग्रेस अध्यक्ष ने शिमला सीट से कांग्रेस प्रत्याशी कर्नल धनीराम शांडिल के पक्ष में चुनावी रैली की। पहले यह रैली 13 मई को निर्धारित की गई थी, लेकिन इसी दिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सोलन में रैली होने की वजह से प्रशासन से इसके लिए समय नहीं मिला। उसके बाद यह रैली 15 मई को प्रस्तावित की गई, जो बाद में 17 मई को शिफ्ट हुई।

COMMENT