• Hindi News
  • National
  • Agnipath Scheme Nationwide Protest Updates; Bihar Rajasthan Haryana | Madhya Pradesh UP Delhi News

अग्निपथ पर बवाल का चौथा दिन LIVE:UP में 260 उपद्रवी गिरफ्तार, ट्रेन रोकी; बिहार में ट्रक फूंका, 15 जिलों में इंटरनेट बंद

नई दिल्ली5 महीने पहले

अग्निपथ योजना में सरकार द्वारा एज लिमिट बढ़ाने और केंद्रीय सुरक्षा बल-असम राइफल्स में दस फीसदी आरक्षण के ऐलान के बाद भी प्रदर्शन थमने का नाम नहीं ले रहा है। आंदोलन के चौथे दिन भी बिहार जला। इसका असर ये हुआ कि रेलवे ने यूपी से बिहार जाने वाली कुछ ट्रेनों को रोक दिया।

पूरी खबर पढ़ने से पहले पोल में हिस्सा लेकर अपनी राय दें...

गोमतीनगर-छपरा एक्सप्रेस को कुशीनगर में रोका

ये फोटोज शुक्रवार को यूपी के अलग-अगल शहरों में हुए हिंसक प्रदर्शन के हैं।
ये फोटोज शुक्रवार को यूपी के अलग-अगल शहरों में हुए हिंसक प्रदर्शन के हैं।

अग्निपथ पर जारी बवाल के कारण शनिवार को लखनऊ से बिहार जा रही गोमतीनगर-छपरा एक्सप्रेस को कुशीनगर में रोक दिया गया है। रेलवे अधिकारियों का कहना है कि बिहार में बवाल को देखते हुए ट्रेन को पडरौना रेलवे स्टेशन से आगे नहीं भेजा जाएगा।

अग्निपथ को लेकर यूपी में पहले दिन यानी गुरुवार को 10 से ज्यादा शहरों में युवा सड़क पर उतर आए थे। शुक्रवार को प्रदर्शन और उग्र हो गए। 16 शहरों में हिंसक प्रदर्शन हुए। पुलिस ने 13 शहरों में 6 एफआईआर दर्ज कीं। उपद्रव करने वाले 260 युवाओं को पुलिस ने गिरफ्तार किया है।

उपद्रवियों की पहचान कराई जा रही
अब कार्रवाई के दायरे को बढ़ाने के लिए पुलिस के सामने भी चुनौती आ रही है। ज्यादातर शहरों में प्रदर्शन का ट्रेंड एक जैसा रहा है। अलग-अलग प्रदर्शनकारियों के समूह एकाएक सड़क पर आए और उपद्रव शुरू कर दिया। सेना भर्ती की तैयारी कर रहे लड़कों के बीच पुलिस उपद्रवियों को तलाश रही है। CCTV और मोबाइल से मिले वीडियो के जरिए उनकी पहचान की जा रही है।

बिहार में चौथे दिन भी उग्र प्रदर्शन

अग्निपथ योजना के खिलाफ बिहार में प्रदर्शन का शनिवार को चौथा दिन है। बिहार बंद बुलाया गया है। इसके लिए लोगों से सहयोग की अपील भी की जा रही है। 15 जिलों में 19 जून तक इंटरनेट बंद कर दिया गया है। प्रदर्शन को देखते हुए प्राइवेट स्कूलों ने भी आज छुट्‌टी रखी है।

जहानाबाद के टेहटा बाजार में प्रदर्शनकारियों ने सुबह साढ़े 7 बजे पथराव के बाद ट्रक में आगजनी की है। सूचना मिलने पर पुलिस के अफसर पहुंचे, लेकिन तब तक प्रदर्शनकारी वहां से निकल चुके थे। ट्रक पूरी तरह से जल चुका था। अब तक राज्य में 31 FIR हुईं और 435 प्रदर्शनकारियों की गिरफ्तारी हुई।​​​​​​​

पढ़ें : दरभंगा में हाथ में लाठी-डंडे लेकर खड़े थे प्रदर्शनकारी; बच्चों ने देखा तो रो पड़े देखें VIDEO

ये भी पढ़ें

  • राजस्थान: भरतपुर में पथराव, रेलवे ट्रैक जाम, पुलिस ने आंसू गैस के गोले दागे पूरी खबर पढ़ें
  • हरियाणा: नारनौल में तोड़फोड़-जींद में रेल ट्रैक जाम; गुरुग्राम में धारा 144 लगाई पूरी खबर पढ़ें
  • पलवल में 142 नामजद सहित कई युवाओं पर केस पूरी खबर पढ़ें
  • झारखंड के पलामू में रेलवे ट्रैक पर हाथों में तिरंगा लेकर युवाओं ने लगाए पुशअप पूरी खबर पढ़ें

रेल मंत्री की अपील-रेल संपत्ति को नुकसान नहीं पहुंचाएं
रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने रेल संपत्ति को नुकसान नहीं पहुंचाने की अपील की है। उन्होंने कहा, 'मेरा सभी से निवेदन है कि रेलवे आपकी और राष्ट्र की संपत्ति है।आप किसी भी तरह से हिंसक प्रदर्शन न करें। रेलवे संपत्ति आपके सेवा के लिए है इसलिए इसे बिल्कुल नुकसान न पहुंचाएं।'

रक्षामंत्री और थल सेनाध्यक्ष की अपील- भर्ती की तैयारी करें युवा
रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने प्रदर्शनकारी छात्रों से बवाल न करने की अपील की है। उन्होंने कहा- दो साल से सेना में भर्ती का अवसर नहीं मिल पाया है। इससे भर्ती प्रक्रिया रुकी हुई है। यही सोचकर सरकार ने अभी अग्निवीरों की भर्ती के लिए उम्र सीमा दो साल बढ़ा दी गई है। युवाओं से अपील है कि वह विरोध न करें, भर्ती की तैयारी करें। थल सेनाध्यक्ष जनरल मनोज पांडे ने भी युवाओं से भारतीय सेना में शामिल होने के लिए अग्निवीर बनने की अपील की है।

सरकार ने बढ़ाई एज लिमिट
केंद्र सरकार ने अग्निपथ योजना के तहत भर्ती के लिए अपर एज लिमिट 21 साल से बढ़ाकर 23 साल करने का ऐलान किया है। हालांकि, यह छूट केवल इसी साल के लिए लागू होगी। रक्षा मंत्रालय के मुताबिक, पिछले दो साल में कोई भर्ती नहीं होने के कारण यह फैसला लिया गया है। इससे पहले अग्निवीर बनने के लिए पहले निर्धारित आयु सीमा 17.5 साल से 21 साल थी।

देश के कई राज्यों में अग्निपथ योजना को लेकर चल रहे विरोध के बीच गुरुवार को यह फैसला लिया गया। इनमें उत्तर प्रदेश, हरियाणा, पंजाब, उत्तराखंड और झारखंड सहित कई राज्यों शामिल हैं।

चार साल के लिए डिफेंस फोर्स में सेवा देंगे नौजवान
केंद्र सरकार ने 14 जून को सेना की तीनों शाखाओं- थलसेना, नौसेना और वायुसेना में युवाओं की बड़ी संख्या में भर्ती के लिए अग्निपथ भर्ती योजना शुरू करने का ऐलान किया। इस स्कीम के तहत नौजवानों को सिर्फ 4 साल के लिए डिफेंस फोर्स में सेवा देनी होगी। सरकार ने यह कदम तनख्वाह और पेंशन का बजट कम करने के लिए उठाया है।

1. ये अग्निपथ स्कीम है क्या?
अग्निपथ स्कीम आर्म्ड फोर्सेज के लिए एक देशव्यापी शॉर्ट-टर्म यूथ रिक्रूटमेंट स्कीम है। इस स्कीम के तहत भर्ती होने वाले युवाओं को अग्निवीर कहा जाएगा। अग्निवीरों की तैनाती रेगिस्तान, पहाड़, जमीन, समुद्र या हवा, समेत विभिन्न जगहों पर होगी।

2. अग्निवीरों की रैंक क्या होगी?
इस नई स्कीम में ऑफिसर रैंक के नीचे के सैनिकों की भर्ती होगी। यानी इनकी रैंक पर्सनेल बिलो ऑफिसर रैंक यानी PBOR के तौर पर होगी। इन सैनिकों की रैंक सेना में अभी होने वाली कमीशंड ऑफिसर और नॉन-कमीशंड ऑफिसर की नियुक्ति से अलग होगी।

3. साल में कितनी बार भर्ती होंगे अग्निवीर?
इस योजना के तहत साल में दो बार रैली के जरिए भर्ती होगी।

4. इस साल कितने सैनिकों की होगी भर्ती?
इस साल 46 हजार अग्निवीरों की भर्ती होगी, लेकिन इस दौरान सेना के तीनों अंगों में इस स्तर की आर्मी भर्ती नहीं होगी।

5. अग्निवीर बनने के लिए कितनी उम्र का होना जरूरी?
अग्निवीर बनने के लिए 17.5 साल से 23 साल के बीच होना जरूरी है।

6. अग्निवीर बनने के लिए कितनी पढ़ाई जरूरी?
अग्निवीर बनने के लिए कम से कम 10वीं पास होना जरूरी है।