नॉर्थ ईस्ट में भारी बारिश, 7 लोगों की जान गई; असम में 4 लाख से ज्यादा लोग प्रभावित

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
  • असम में सबसे ज्यादा असर बारपेटा पर पड़ा, यहां 85 हजार लोग बाढ़ से प्रभावित
  • उत्तर प्रदेश में कई नदियों का जलस्तर खतरे के निशान के करीब पहुंचा

नई दिल्ली/दिसपुर. देश के पूर्वोत्तर इलाके में मानसून की भारी बारिश जारी है। भूस्खलन और बाढ़ के चलते इस इलाके में शुक्रवार को 7 लोगों की जान चली गई। असम में ब्रह्मपुत्र में आई बाढ़ की वजह से 4.23 लाख लोग प्रभावित हैं। 

 

असम के 17 जिलों में बाढ़, 3 की मौत
असम में धेमाजी, लखीमपुर, विश्वनाथ, जोरहाट, डारैंग, बारपेटा, नलबारी, मजौली, चिरंग, डिब्रूगढ़ और गोलाघाट समेत 17 जिलों में बाढ़ है। गोलाघाट में बाढ़ से जुड़ी घटनाओं में 3 लोगों की मौत हो गई। भारी बारिश और बाढ़ के चलते लुमडिंग-बदरपुर पहाड़ी इलाके में रेलवे सेवाओं पर असर पड़ा है।

 

सबसे ज्यादा असर बारपेटा पर पड़ा है। यहां 85 हजार लोग बाढ़ से प्रभावित हैं। इसके अलावा 800 गांव और 41 रेवेन्यू सर्किल बाढ़ में डूब गए हैं। लोगों को राहत देने के लिए कैंपों की व्यवस्था की गई है। काजीरंगा पार्क भी बाढ़ से प्रभावित हुआ है।

 

उप्र में 10 दिन में 14 लोगों की जान गई
उत्तर प्रदेश के पूर्वी और पश्चिमी इलाकों में भारी बारिश से कई जिलों में पानी भरने की समस्या सामने आई। यहां पिछले 10 दिनों में बारिश से जुड़े हादसों में 14 लोगों की जान चली गई। कई नदियों में जलस्तर खतरे के निशान करीब पहुंच गया है।

 

15-16 जुलाई बारिश की संभावना- मौसम विभाग

दिल्ली में अभी बारिश नहीं हो रही है। यहां तापमान शुक्रवार को 38.3 डिग्री तक पहुंच गया। मौसम विभाग का कहना है कि यहां 15-16 जुलाई तक बारिश की संभावना है। पंजाब-हरियाणा के ज्यादातर हिस्सों में शुक्रवार को बारिश हुई। इसकी वजह से दिन का तापमान सामान्य से कम दर्ज किया गया। चंडीगढ़ में लगातार दूसरे दिन भी बारी बारिश हुई।

खबरें और भी हैं...