पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • National
  • Sachin Pilot Ashok Gehlot (Rajasthan) Government Political Crisis Latest News LIVE Updates | Sachin Pilot Ashok Gehlot Congress MLA And Vasundhara Raje Rajasthan BJP MLA Meeting Today

राजस्थान में सियासी उठापटक:कांग्रेस की पायलट से अपील- भाजपा की मेजबानी छोड़, परिवार में वापस आएं; हरियाणा में पायलट समर्थकों के ठहरने पर खट्टर बोले- इसमें हमारा हाथ नहीं

जयपुर25 दिन पहले
फोटो 26 मार्च 2019 की है। तब जयपुर में कांग्रेस की रैली हुई थी। राहुल गांधी पार्टी अध्यक्ष थे। सीएम होने के नाते अशोक गहलोत और बतौर डिप्टी सीएम सचिन पायलट इस रैली में मौजूद थे। राहुल एक साल पहले ही पार्टी अध्यक्ष का पद छोड़ चुके हैं। मंगलवार को पायलट से डिप्टी सीएम और प्रदेश अध्यक्ष पद छीना जा चुका है।
  • कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने कहा- भाजपा का राजस्थान सरकार गिराने का प्रयास औंधे मुंह गिरा, भारी मन से पायलट पर कार्रवाई करनी पड़ी
  • मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा- अच्छी अंग्रेजी बोलना और हैंडसम होना सब कुछ नहीं; विचारधारा और कमिटमेंट भी देखा जाता है; हॉर्स ट्रेडिंग के सबूत हैं
  • सचिन पायलट ने कहा- अभी भी मैं कांग्रेस का मेंबर हूं, कुछ लोग मेरा नाम भाजपा से जोड़कर मेरी इमेज खराब कर रहे

कांग्रेस को अभी भी उम्मीद है कि सचिन पायलट लौट आएंगे। लगातार तीसरे दिन पार्टी ने पायलट से वापस आने की अपील की। जयपुर गए ऑब्जर्वर रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि बीते दिनों में हमने सचिन पायलट को अपनी बात रखने को कहा। कल भारी मन से उनके खिलाफ कार्रवाई की। सुरजेवाला ने कहा कि आज मीडिया के जरिए उनके बयान की जानकारी मिली। वे कह रहे हैं कि भाजपा में नहीं जाएंगे। हम कहना चाहते हैं कि वे हरियाणा सरकार की मेजबानी छोड़ें। परिवार में लौट आएं। साथ में बैठें और अपनी बात रखें।

इस बीच, खबरें आईं कि राहुल गांधी ने पायलट के जाने पर तीखी प्रतिक्रिया दी है। न्यूज एजेंसी ने सूत्रों के हवाले से बताया कि अगर कोई पार्टी छोड़कर जाना चाहता है तो वो जाएगा ही। सूत्रों के मुताबिक, एनएसयूआई की मीटिंग में राहुल ने यह बात कही। हालांकि, मीडिया में जैसे ही राहुल का यह बयान सुर्खियां बना, कांग्रेस ने तुरंत सफाई दी। सुरजेवाला ने कहा कि यह खबर पूरी तरह गलत है कि राहुल ने ऐसा कोई बयान दिया है।

अहम अपडेट्स..

  • वरिष्ठ कांग्रेसी वीरप्पा मोइली ने कहा कि यह अच्छी बात है कि पायलट भाजपा में नहीं जा रहे हैं। वो पार्टी के भीतर अपनी बात रखें। कोई जल्दी नहीं है। उन्हें सीएम नहीं बनाया जा सकता, क्योंकि ऑब्जर्वर्स का कहना है कि एमपी हो या राजस्थान जिसे विधायकों का समर्थन होगा वही सीएम बनेगा।
  • राजस्थान के एमएलए मानेसर को होटल में रुकने पर हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने कहा- इसमें हमारा कोई हाथ नहीं है। हरियाणा के होटल सभी के लिए खुले हैं। कोई भी यहां रह सकता है।
  • जयपुर गए ऑब्जर्वर रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि बीते दिनों में हमने सचिन पायलट को अपनी बात रखने को कहा। कल भारी मन से उनके खिलाफ कार्रवाई की।
  • गहलोत ने कहा- जैसे मध्य प्रदेश में हुआ, वैसी ही साजिश राजस्थान में रची गई। हमारे कुछ साथी भाजपा की साजिश का हिस्सा बने। हॉर्स ट्रेडिंग में शामिल हुए। हमारे पास इसके सबूत हैं। नई पीढ़ी की ढंग से रगड़ाई हुई होती तो ये और अच्छे ढंग से काम करते।
  • प्रदेश कांग्रेस की सभी कार्यकारिणी को भंग कर दिया गया है। नए अध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा नए सिरे से इनका गठन करेंगे।

बागी विधायकों से स्पीकर ने शुक्रवार तक जवाब मांगा

विधानसभा स्पीकर सीपी जोशी ने बुधवार को कांग्रेस की शिकायत पर पायलट समेत 19 असंतुष्ट विधायकों को नोटिस जारी किया है। उनसे शुक्रवार तक जवाब मांगा गया है। राजस्थान कांग्रेस के प्रभारी अविनाश पांडे ने कहा कि पायलट समेत 19 मेंबर्स अगर दो दिन में जवाब नहीं देते हैं तो यह माना जाएगा कि वे कांग्रेस विधायक दल से अपनी सदस्यता छोड़ रहे हैं।

कांग्रेस कहना है कि पार्टी व्हिप को नहीं मानने पर पायलट और दो मंत्रियों पर कार्रवाई की गई। रात 12 बजे बाद विधायकों के वॉट्सऐप पर नोटिस भेजे गए। बाद में उनके घर पर नोटिस चिपकाए गए। 

इन विधायकों को नोटिस भेजा गया 
सचिन पायलट, रमेश मीणा, इंद्राज गुर्जर, गजराज खटाना, राकेश पारीक, मुरारी मीणा, पीआर. मीणा, सुरेश मोदी, भंवर लाल शर्मा, वेदप्रकाश सोलंकी, मुकेश भाकर, रामनिवास गावड़िया, हरीश मीणा, बृजेन्द्र ओला, हेमाराम चौधरी, विश्वेन्द्र सिंह, अमर सिंह, दीपेंद्र सिंह और गजेंद्र शक्तावत।

पायलट खेमे के विधायक गजेंद्र सिंह शक्तावत के घर के गेट पर नोटिस चिपकाया गया।

पायलट ने कहा- मैं भाजपा में शामिल नहीं हो रहा 
पायलट ने बुधवार को पहली बार अपनी बात रखी है। उन्होंने कहा कि वे भाजपा में शामिल नहीं हो रहे हैं। उन्होंने कहा, 'अभी भी मैं कांग्रेस का मेंबर हूं। कुछ लोग मेरा नाम भाजपा से जोड़ रहे हैं। मेरी इमेज खराब करने की कोशिश की जा रही है। मैंने राजस्थान में कांग्रेस की वापसी के लिए बहुत मेहनत की थी, लेकिन बाद में मेरी बात सुनी नहीं गई।

'पार्टी के अंदर अपनी बात कहने का मंच नहीं बचा था'

  • पायलट ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि वह मुख्यमंत्री गहलोत से नाराज नहीं है। उन्होंने कहा, 'मैंने गहलोत से कोई खास ताकत भी नहीं मांगी थी। मैं चाहता था कि जनता से किए गए वादे पूरे किए जाएं।' उनसे जब पूछा गया कि आखिर उन्होंने बगावत क्यों की? पार्टी के अंदर चर्चा क्यों नहीं की? जवाब में उन्होंने कहा कि पार्टी के अंदर चर्चा का कोई मंच बचा ही नहीं था।
  • राहुल गांधी ने इस मामले में दखल दिया? आपकी उनसे बात हुई? इसके जवाब में कहा कि राहुल गांधी अब कांग्रेस अध्यक्ष नहीं हैं। राहुल ने जब से इस्तीफा दिया, गहलोत जी और उनके एआईसीसी के दोस्तों ने मेरे खिलाफ मोर्चा खोल दिया। तभी से मेरे लिए आत्मसम्मान बचाना मुश्किल हो गया था। ये सत्ता नहीं बल्कि आत्मसम्मान की बात थी। पढ़ें: पद से हटने के बाद पायलट का पहला इंटरव्यू
जयपुर में प्रदेश कांग्रेस कार्यालय के बाहर सुरक्षा कड़ी कर दी गई है। यहां पर नए प्रदेश अध्यक्ष के पोस्टर लगा दिए गए हैं।

राजस्थान विधानसभा की मौजूदा स्थिति: कुल सीटें: 200

पार्टीविधायकों की संख्या
कांग्रेस 107
भाजपा72
निर्दलीय13
आरएलपी3
बीटीपी2
लेफ्ट2
आरएलडी 1

राजस्थान की विधानसभा में दलीय स्थिति को देखें तो कांग्रेस के पास 107 विधायक हैं। सरकार को 13 में से 10 निर्दलीय और एक राष्ट्रीय लोकदल के विधायक का भी समर्थन है। लिहाजा गहलोत के पास 118 विधायकों का समर्थन है। उधर, भाजपा के पास 72 विधायक हैं। बहुमत जुटाने के लिए कम से कम 29 विधायक चाहिए।

0

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव - आज पिछली कुछ कमियों से सीख लेकर अपनी दिनचर्या में और बेहतर सुधार लाने की कोशिश करेंगे। जिसमें आप सफल भी होंगे। और इस तरह की कोशिश से लोगों के साथ संबंधों में आश्चर्यजनक सुधार आएगा। नेगेटिव-...

और पढ़ें