• Hindi News
  • National
  • Udaipur Kanhaiya Lal Murder Eyewitness Story | Nupur Sharma Controversial Statements

उदयपुर टेलर मर्डर के गवाह की आंखोंदेखी:2 लोग अंदर आए, बोले- भाई झब्बा-पायजामा सिलोगे, हमें क्या पता था कफन पहनाने आए हैं

उदयपुर5 महीने पहलेलेखक: गिरीश शर्मा

उदयपुर में टेलर दुकान के मालिक कन्हैयालाल की हत्या की आंखोंदेखी कहानी उनके कारीगर ईश्वर ने दैनिक भास्कर को बताई। ईश्वर ने कहा कि मंगलवार को दो युवक मोहम्मद रियाज अत्तारी और गौस मोहम्मद में दुकान में आए। कन्हैयालाल से बोले- झब्बा और पायजामा सिल दोगे क्या? सेठजी बोले- बिल्कुल सिलेंगे।

इसके बाद रियाज झब्बा-पायजामा का नाप देने लगा। गौस खड़ा रहा। मैं और मेरा साथी राजकुमार कपड़े सिल रहे थे। तभी चिल्लाने की आवाज आई। मुड़कर देखा तो वे सेठजी पर हमला कर रहे थे।

10 दिन पहले नूपुर शर्मा के समर्थन में सोशल मीडिया पर पोस्ट डालने वाले कन्हैयालाल का तालिबानी तरीके से मर्डर कर दिया गया। 2 हमलावर मंगलवार को दिनदहाड़े उसकी दुकान में घुसे। तलवार से कई वार किए और उसका गला काट दिया। दुकान में ईश्वर समेत दो और कर्मचारी मौजूद थे। यहां क्लिक कर पढ़ें पूरी खबर...

कुर्ता का नाप लेते वक्त ही कन्हैया लाल पर हमला हुआ, जिससे उनकी मौके पर ही मौत हो गई।
कुर्ता का नाप लेते वक्त ही कन्हैया लाल पर हमला हुआ, जिससे उनकी मौके पर ही मौत हो गई।

मुझ पर भी तलवार से किया गया हमला
ईश्वर ने आगे बताया हमले के बाद मैं बाहर भागा। बगल वाली दुकान में पहुंचा तो पता चला कि मेरे सिर और बाएं हाथ पर भी धारदार हथियार लगने से खून बह रहा है। सेठजी दुकान के बाहर जमीन पर लहूलुहान पड़े थे और खून बह रहा था। मेरे साथ जैसे-तैसे राजकुमार भी भाग गया था। इसके कुछ देर बाद उन्होंने वहीं पर दम तोड़ दिया।

पुलिस ने कर दिया था मामला रफा-दफा
ईश्वर के मुताबिक सेठजी ने 10-15 दिन पहले सोशल मीडिया पर पोस्ट डाली थी। इस पर विवाद हुआ था। तब पुलिस उन्हें पकड़कर ले गई और मामला रफा-दफा कर दिया। खौफनाक तो यह है कि मारने वालों ने पहले ही सोशल मीडिया पर पोस्ट डालकर सेठजी का गला रेतने की धमकी दी थी। वे दुकान पर आकर गला रेत भी गए। सोशल मीडिया पर कबूलनामा भी डाला। PM मोदी को भी मारने की धमकी दी।

हत्या के 6 घंटे बाद पुलिस ने राजसमंद से 2 आरोपियों को गिरफ्तार किया है। दोनों को पूछताछ के लिए पुलिस कस्टडी में रखा गया है।
हत्या के 6 घंटे बाद पुलिस ने राजसमंद से 2 आरोपियों को गिरफ्तार किया है। दोनों को पूछताछ के लिए पुलिस कस्टडी में रखा गया है।

10 साल से कर रहा हूं यहां पर काम
कारीगर ने बताया मैं पिछले 10 साल से उदयपुर के भूत महल (मालदास स्ट्रीट) में सेठजी (कन्हैयालाल) के पास टेलरिंग करता रहा हूं। सेठजी हमेशा कहते थे कि ऐसे कपड़े सिलो कि आदमी सज जाए। क्या पता था कि वे जिन्हें सजाने के लिए नाप ले रहे हैं, वे ही उनको कफन में बंधवा जाएंगे।

7 घंटे तक नहीं उठाया गया शव
हत्या के बाद विरोध में सड़कों पर उतरे लोग करीब 7 घंटे बाद रात 10 बजे शव उठाने पर राजी हुए। शव उदयपुर के अस्पताल में रखवाया गया है। बुधवार सुबह पोस्टमार्टम कराया जाएगा। इससे पहले हाथीपोल चौराहे पर पहुंचे लोगों और पुलिस की झड़प हुई। इसमें भाजपा युवा मोर्चा का एक कार्यकर्ता घायल हो गया।