राजीव गांधी की पुण्यतिथि आज:पिता को याद कर भावुक हुए राहुल, बोले- उन्होंने क्षमा-सहानुभूति का महत्व सिखाया; PM मोदी ने दी श्रद्धांजलि

नई दिल्लीएक महीने पहले
ये तस्वीर नवंबर 1986 की है। राहुल गांधी ने इसे साल 2018 में फादर्स डे पर शेयर किया था। - Dainik Bhaskar
ये तस्वीर नवंबर 1986 की है। राहुल गांधी ने इसे साल 2018 में फादर्स डे पर शेयर किया था।

पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की आज 31वीं पुण्यतिथि है। इस मौके पर कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी और प्रियंका गांधी दिल्ली के वीर भूमि पहुंची और पूर्व PM राजीव गांधी की पुण्यतिथि पर उन्हें श्रद्धांजलि दी। वहीं, राहुल गांधी ने पिता को याद कर एक वीडियो शेयर किया। PM मोदी सहित अन्य दिग्गज नेताओं ने भी राजीव गांधी को श्रद्धांजलि दी।

राजीव गांधी की पुण्यतिथि पर राहुल गांधी भावुक हो गए। उन्होंने एक वीडियो शेयर कर कहा, 'मेरे पिता एक दूरदर्शी नेता थे जिनकी नीतियों ने आधुनिक भारत को आकार देने में मदद की। वह एक दयालु इंसान थे और मेरे और प्रियंका के लिए एक अद्भुत पिता, जिन्होंने हमें क्षमा और सहानुभूति का महत्व सिखाया। मुझे उनकी बहुत याद आती है और हम दोनों ने साथ में जो समय बिताया है, उसे भी बहुत याद करता हूं।'

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी राजीव गांधी को श्रद्धांजलि अर्पित की। उन्होंने ट्वीट कर कहा, 'हमारे पूर्व प्रधानमंत्री श्री राजीव गांधी को पुण्यतिथि पर श्रद्धांजलि।'

दिल्ली के वीर भूमि राजीव गांधी की पुण्यतिथि पर उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित करतीं सोनिया गांधी।
दिल्ली के वीर भूमि राजीव गांधी की पुण्यतिथि पर उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित करतीं सोनिया गांधी।
प्रियंका गांधी भी वीर भूमि पहुंची और पिता राजीव गांधी को श्रद्धांजलि दी।
प्रियंका गांधी भी वीर भूमि पहुंची और पिता राजीव गांधी को श्रद्धांजलि दी।
पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की पुण्यतिथि के मौके पर कांग्रेस नेता पी चिदंबरम और सचिन पायलट भी ने भी दिल्ली के वीर भूमि पहुंचे।
पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की पुण्यतिथि के मौके पर कांग्रेस नेता पी चिदंबरम और सचिन पायलट भी ने भी दिल्ली के वीर भूमि पहुंचे।

आत्मघाती बम धमाके में पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की हत्या
21 मई 1991 में एक आत्मघाती बम धमाके में पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की हत्या कर दी गई थी। उन्होंने अपने कार्यकाल में श्रीलंका में शांति सेना भेजी थी, जिससे तमिल विद्रोही संगठन लिट्टे (लिबरेशन टाइगर्स ऑफ तमिल ईलम) उनसे नाराज चल रहा था। 1991 में जब लोकसभा चुनावों के लिए प्रचार करने राजीव गांधी चेन्नई के पास श्रीपेरम्बदूर गए तो वहां लिट्टे ने राजीव पर आत्मघाती हमला करवाया।

आत्मघाती हमले से पहले खींची गई राजीव गांधी की आखिरी तस्वीर। स्कूली बच्ची के पीछे नारंगी फूल सिर में लगाकर आगे बढ़ रही धनु ने ही फूलों का हार पहनाकर विस्फोट किया था।
आत्मघाती हमले से पहले खींची गई राजीव गांधी की आखिरी तस्वीर। स्कूली बच्ची के पीछे नारंगी फूल सिर में लगाकर आगे बढ़ रही धनु ने ही फूलों का हार पहनाकर विस्फोट किया था।

विस्फोट में 16 लोगों की मौके पर ही मौत हो गई
राजीव को फूलों का हार पहनाने के बहाने लिट्टे की महिला आतंकी धनु (तेनमोजि राजरत्नम) आगे बढ़ी। उसने राजीव के पैर छूए और झुकते हुए कमर पर बंधे विस्फोटकों में ब्लास्ट कर दिया। धमाका इतना जबर्दस्त था कि कई लोगों के चीथड़े उड़ गए। राजीव और हमलावर धनु समेत 16 लोगों की घटनास्थल पर ही मौत हो गई। जबकि 45 लोग गंभीर रूप से घायल हुए।

राजीव गांधी 1966 में कॉमर्शियल पायलट बने। राजनीति में आना नहीं चाहते थे, इसलिए 1980 तक इंडियन एयरलाइंस के पायलट बने रहे।
राजीव गांधी 1966 में कॉमर्शियल पायलट बने। राजनीति में आना नहीं चाहते थे, इसलिए 1980 तक इंडियन एयरलाइंस के पायलट बने रहे।

देश के सबसे युवा प्रधानमंत्री
1984 में इंदिरा गांधी की हत्या के बाद राजीव गांधी प्रधानमंत्री बने। लोकसभा चुनावों में कांग्रेस तीन-चौथाई सीटें जीतने में कामयाब रही थी। उस समय कांग्रेस ने 533 में से पार्टी ने 414 सीटें जीतीं। राजीव जब प्रधानमंत्री बने, तब उनकी उम्र महज 40 साल थी। वे देश के सबसे युवा प्रधानमंत्री रहे। उन्होंने अपने कार्यकाल में स्कूलों में कंप्यूटर लगाने की व्यापक योजना बनाई। जवाहर नवोदय विद्यालय स्थापित किए। गांव-गांव तक टेलीफोन पहुंचाने के लिए PCO कार्यक्रम शुरू किया।