मी टू / फिल्म निर्माता-निर्देशक हिरानी पर यौन शोषण का आरोप, पीड़िता ने खुद को असिस्टेंट बताया



Rajkumar Hirani accused of sexual assault filmmaker denies
Rajkumar Hirani accused of sexual assault filmmaker denies
X
Rajkumar Hirani accused of sexual assault filmmaker denies
Rajkumar Hirani accused of sexual assault filmmaker denies

  • पीड़िता ने डायरेक्टर-प्रोड्यूसर विधु विनोद चोपड़ा को लिखे मेल में बताई थी आपबीती
  • हिरानी के वकील ने आरोपों को झूठा और अपमानजनक बताया

Dainik Bhaskar

Jan 13, 2019, 08:02 PM IST

मुंबई. फिल्म निर्माता-निर्देशक राजकुमार हिरानी पर यौन शोषण का आरोप लगा है। पीड़ित महिला ने खुद को हिरानी का असिस्टेंट बताया। उसने फिल्म संजू (2017) की शूटिंग के दौरान हिरानी के साथ काम करने का दावा किया। उधर, हिरानी ने आरोपों से इनकार किया है। उनके वकील आनंद देसाई ने आरोपों को झूठा, निंदनीय, किसी से प्रेरित और अपमानजनक करार दिया।

मार्च-सितंबर 2018 में शोषण का आरोप

  1. हफपोस्ट इंडिया वेबसाइट पर लिखे आर्टिकल में महिला ने खुद को हिरानी का सहयोगी बताया। उनका आरोप है कि हिरानी ने पिछले साल मार्च से सितंबर के बीच एक से ज्यादा बार शोषण किया। महिला ने 3 नवंबर को हिरानी के लंबे समय से साथी रहे और संजू के सह-निर्माता विधु विनोद चोपड़ा को इसी संबंध में एक ईमेल भी किया था।

  2. पीड़िता ने कहा- 9 अप्रैल 2018 को हिरानी ने पहली बार यौन विचारोत्तेजक टिप्पणी की और बाद में अपने घर पर बने ऑफिस में शोषण किया।

  3. विधु विनोद चोपड़ा को लिखे ईमेल में पीड़िता ने लिखा, "सर, यह गलत है। आपके पास काफी ताकत है और महज आपकी सहायक होने के नाते मैं कुछ भी नहीं हूं। मैं आपके सामने खुद को व्यक्त नहीं कर पाऊंगी।''

  4. ईमेल के मुताबिक- हिरानी मेरे लिए पिता की तरह थे। उस रात और अगले छह महीने के लिए मेरा दिमाग, शरीर और दिल सुन्न पड़ गया था। चोपड़ा की पत्नी और फिल्म समीक्षक अनुपमा, 'संजू' के लेखक अभिजात जोशी और विधु विनोद चोपड़ा की बहन शैली को भी ईमेल भेजा गया था।

  5. 'मेरे पास विकल्प नहीं था'

    पीड़िता ने बताया कि मैंने हिरानी के बर्ताव के बारे में सामान्य स्थिति बनाए रखी। मुझे अपनी नौकरी बचाए रखने की जरूरत थी क्योंकि पिता एक लाइलाज बीमारी से पीड़ित थे। मेरे पास उनके प्रति विनम्र होने के अलावा कोई विकल्प नहीं था। यह असहनीय था लेकिन मैंने यह सब सहन किया। क्योंकि मैं नहीं चाहती था कि मेरा काम मुझसे दूर हो जाए।

  6. पीड़िता के मुताबिक- मुझे चिंता थी कि अगर मैंने बीच में ही काम छोड़ दिया, तो फिल्म इंडस्ट्री में दूसरी नौकरी ढूंढना असंभव होगा। क्योंकि अगर हिरानी ने कहा कि मैं अच्छी नहीं हूं, तो सब लोग उन्हीं की बात सुनेंगे। लिहाजा मेरा भविष्य खतरे में पड़ जाएगा।

  7. विधु विनोद चोपड़ा की पत्नी ने की थी पुष्टि

    अनुपमा चोपड़ा ने पुष्टि की थी कि पीड़िता ने उनके साथ अपना अकाउंट साझा किया था और तभी विनोद चोपड़ा फिल्म्स (वीसीएफ) ने यौन उत्पीड़न की शिकायतों के समाधान के लिए एक समिति गठित की है।

  8. 5 दिसंबर 2018 को किए अनुपमा के ईमेल के मुताबिक- मैंने पीड़िता को पूर्ण समर्थन देने की पेशकश की है। यह भी कहा कि वह शिकायत को एक कानूनी निकाय या तटस्थ पार्टी में ले जाए क्योंकि हम इस पर मध्यस्थ या जज नहीं हो सकते। पीड़िता राजकुमार हिरानी फिल्म्स (आरएचएफ) का हिस्सा थी। लिहाजा वीएसएफ इस मामले को नहीं उठा सकता। वीएसएफ और आरएचएफ दोनों अलग कंपनियां हैं।

  9. 'एक लड़की...' के पोस्टर-ट्रेलर से हिरानी का नाम गायब

    हिरानी पर यौन शोषण का आरोप लगने के बाद फिल्म 'एक लड़की को देखा तो ऐसा लगा' के पोस्टर और ट्रेलर से हिरानी का नाम हटा लिया गया है। 27 जून 2018 को जारी हुए फिल्म के टीजर में हिरानी का नाम बतौर सह-निर्माता शामिल था। फिल्म की निर्देशक विधु विनोद की बहन शैली चोपड़ा हैं। मामले पर विधु विनोद चोपड़ा ने किसी भी तरह की टिप्पणी करने से इनकार कर दिया।

  10. इससे पहले मी टू कैंपेन के तहत आलोक नाथ, नाना पाटेकर, विकास बहल, साजिद खान और पूर्व केंद्रीय मंत्री एमजे अकबर पर आरोप लगे थे। 

COMMENT