राजस्थान / चुनाव के वक्त दोस्त की बंदूक लेकर थाने के आगे फोटो खिंचाए, अब उसी थाने से भागा रेप का आरोपी



आरोपी ने चुनाव के वक्त दोस्त की बंदूक के साथ कई फोटो खिंचवाए थे। आरोपी ने चुनाव के वक्त दोस्त की बंदूक के साथ कई फोटो खिंचवाए थे।
शौचालय की इसी दीवार को फांदकर भागा था आरोपी। शौचालय की इसी दीवार को फांदकर भागा था आरोपी।
आरोपी को पकड़ने के लिए गए कांस्टेबल खुद झाड़ियों में उलझे। आरोपी को पकड़ने के लिए गए कांस्टेबल खुद झाड़ियों में उलझे।
पुलिस ने जगह-जगह नाकाबंदी कराकर पूछताछ की। पुलिस ने जगह-जगह नाकाबंदी कराकर पूछताछ की।
X
आरोपी ने चुनाव के वक्त दोस्त की बंदूक के साथ कई फोटो खिंचवाए थे।आरोपी ने चुनाव के वक्त दोस्त की बंदूक के साथ कई फोटो खिंचवाए थे।
शौचालय की इसी दीवार को फांदकर भागा था आरोपी।शौचालय की इसी दीवार को फांदकर भागा था आरोपी।
आरोपी को पकड़ने के लिए गए कांस्टेबल खुद झाड़ियों में उलझे।आरोपी को पकड़ने के लिए गए कांस्टेबल खुद झाड़ियों में उलझे।
पुलिस ने जगह-जगह नाकाबंदी कराकर पूछताछ की।पुलिस ने जगह-जगह नाकाबंदी कराकर पूछताछ की।

  • चूक लघुशंका करवाने गया कांस्टेबल फोन पर बात करने लगा, तभी भाग निकला
  • भोपालगढ़ थाने का मामला, महिला संतरी और कांस्टेबल सस्पेंड

Dainik Bhaskar

Jun 14, 2019, 02:31 AM IST

भोपालगढ़. लघु शंका के बहाने पुलिस हिरासत से फरार हुआ दुष्कर्म मामले के आरोपी ओमप्रकाश जाट निवासी मंडली का देर रात तक कोई सुराग नहीं लगा। कई थानों की पुलिस व अधिकारी उसकी तलाश में लगे रहे। आरोपी के परिजनों पर भी उसे पेश करने का दबाव है लेकिन वह उनके संपर्क में भी नहीं है। उसके भागने के साथ ही कुछ समय पहले के फोटो वायरल हो रहे हैं।

 

दरअसल, लोकसभा चुनाव की आचार संहिता के दौरान थाने में हथियार जमा कराने आए अपने दोस्त से बंदूक लेकर ओमप्रकाश जाट ने थाने के आगे खड़े होकर कई फोटो खिंचवाए। फिर उनको साेशल मीडिया पर अपलोड किया। गुरुवार को थाने से भागने के बाद उसके ये फोटो वायरल हो गए। थानाधिकारी डॉ. मनोहर बिश्नोई ने बताया कि चुनाव के समय सभी लाइसेंस धारी हथियार रखने वालों को हथियार जमा करवाने के निर्देश थे। उसी दौरान इन्होंने फोटो खींचकर सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया था। पुलिस ने बताया कि जल्द ही उसे पकड़ लिया जाएगा। 

महिला संतरी की ड्यूटी थी, लघु शंका के लिए दूसरे को भेजा था


आरोपी की निगरानी के लिए महिला कांस्टेबल सुखी की ड्यूटी थी। उसने जब लघु शंका की इच्छा जताई तो पुरुष कांस्टेबल माधाराम को साथ भेजा। इस दौरान उनके मोबाइल पर किसी का फोन आ गया। जैसे ही ध्यान चूका आरोपी इसका फायदा उठाकर दीवार फांद गया। वह इतनी तेजी से भागा कि स्टाफ संभलते उससे पहले ही वह आंखों से ओझल हो गया। उसके पद चिन्हों के आधार पर पीछा किया लेकिन मिला नहीं। पुलिस अधीक्षक ने दोनों कांस्टेबल को निलंबित कर दिया है। 


दो सप्ताह पहले चोरी के मामले में राजीनामा किया, 3 दिन पहले दुष्कर्म का केस 

तीन दिन पहले दुष्कर्म के मामले में पूछताछ के लिए भोपालगढ़ पुलिस थाने लाया गया आरोपी ओमप्रकाश जाट पुलिस चकमा देकर फरार हो गया। गुरुवार दोपहर करीब 12 बजे उसने संतरी से लघुशंका का बोला। संतरी उसे पुलिस थाने में बने शौचालय में ले गया, जहां से आरोपी संतरी से नजरें बचाकर दीवार फांदकर फरार हो गया। पुलिस ने जवानों को पीछे दौड़ाया और नाकाबंदी भी करवाई, लेकिन देर रात तक पता नहीं चल पाया। 


बताया जा रहा है कि 15 दिन पहले हिंगोली निवासी एक ने व्यक्ति ने ओमप्रकाश पर चोरी का मुकदमा दर्ज कराया था। उस मुकदमे में राजीनामा हो गया। इसके 10 दिन बाद में नाबालिग के साथ दुष्कर्म व छेड़छाड़ का आरोप लगाकर एक और मुकदमा दर्ज कराया गया। इस मामले में जांच अधिकारी आरोपी ओमप्रकाश को पकड़कर थाने में पूछताछ कर रहे थे। इस मामले में महिला संतरी सुखी देवी और कांस्टेबल माधाराम को सस्पेंड कर दिया गया है।

COMMENT