लोन इंटरेस्ट / एसबीआई ने कहा- रेपो रेट में 0.25% से ज्यादा कटौती होनी चाहिए



RBI needs to go for larger rate cut in June: SBI report
X
RBI needs to go for larger rate cut in June: SBI report

  • इकोनॉमी में सुस्ती दूर करने के लिए इसे जरूरी बताया 
  • आरबीआई की पिछली दो बैठकों में 0.25-0.25 फीसदी कटौती हुई थी

Dainik Bhaskar

May 15, 2019, 08:26 AM IST

नई दिल्ली. रिजर्व बैंक 6 जून को मौद्रिक नीति की अगली समीक्षा जारी करेगा। एसबीआई ने अपनी रिसर्च रिपोर्ट में कहा है कि अर्थव्यवस्था में सुस्ती को देखते हुए आरबीआई को रेपो रेट में 0.25% से ज्यादा कटौती करनी चाहिए। पिछली दो समीक्षा में आरबीआई ने रेपो रेट 0.25-0.25% घटाया था। अभी यह 6% है। 

 

आर्थिक सुस्ती से शेयर बाजार में बेचैनी बढ़ी: रिपोर्ट

बैंक जिस ब्याज पर रिजर्व बैंक से कम समय के लिए कर्ज लेते हैं उसे रेपो रेट कहा जाता है। मंगलवार को जारी ईकोरैप रिपोर्ट में कहा गया है कि आर्थिक सुस्ती के कारण शेयर बाजार में बेचैनी बढ़ी है। रिपोर्ट में मार्च तिमाही के लिए कंपनियों के नतीजों का विश्लेषण भी किया गया है। इसके मुताबिक 384 कंपनियों में से 330 कंपनियों के रेवेन्यू और प्रॉफिट में गिरावट आई है। टेलीकॉम उपकरण, इन्फ्रास्ट्रक्चर डेवलपर, एग्रो केमिकल, पेट्रोकेमिकल और कास्टिंग कंपनियां ज्यादा प्रभावित हुई हैं। निर्यात पर निर्भर करने वाली दवा कंपनियों के नतीजे भी कमजोर रहने के आसार हैं। 

 

ग्रामीण इलाकों में मांग घटने से एफएमसीजी की बिक्री में गिरावट 

  • इनवेस्टमेंट की डिमांड घटने के साथ कंजम्पशन ग्रोथ में भी कमी आई है। 
  • ऑटोमोबाइल की घरेलू बिक्री, निर्यात और उत्पादन, सबमें गिरावट हुई है। 
  • बिस्किट, साबुन और तेल जैसे एफएमसीजी प्रोडक्ट की मांग घट गई है।
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना