रिलायंस जियो / इंटरनेट ऑफ थिंग्स प्लेटफॉर्म का कमर्शियल लॉन्च अगले साल 1 जनवरी को होगा



मुकेश अंबानी। मुकेश अंबानी।
X
मुकेश अंबानी।मुकेश अंबानी।

  • इसके जरिए फिजिकल डिवाइस, रोज इस्तेमाल की वस्तुओं को इंटरनेट से कनेक्ट किया जाएगा
  • मुकेश अंबानी ने कहा- जियो ने देश को डेटा शाइनिंग ब्राइट बनाया, पहले डेटा डार्क था

Dainik Bhaskar

Aug 13, 2019, 08:51 AM IST

मुंबई. रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन मुकेश अंबानी ने कंपनी की 42वीं एजीएम में सोमवार को कहा कि जियो के इंटरनेट ऑफ थिंग्स (आईओटी) प्लेटफॉर्म का कमर्शियल लॉन्च 1 जनवरी 2020 को होगा। आईओटी फिजिकल डिवाइस और रोजाना इस्तेमाल की वस्तुओं के लिए इंटरनेट कनेक्टिविटी का विस्तार है। इसका उद्देश्य एक अरब डिवाइसेज को जोड़ना है। इससे सालाना 20 हजार करोड़ रुपए का रेवेन्यू मिलने की उम्मीद है।

4जी नेटवर्क में अब तक 3.5 लाख करोड़ रुपए का निवेश किया

  1. रेवेन्यू जुटाने के लिए अब चार नए ग्रोथ इंजन- इंटरनेट ऑफ थिंग्स, होम ब्रॉडबैंड सर्विसेज, एंटरप्राइजेज ब्रॉडबैंड सर्विसेज और ब्रॉडबैंड फॉर स्मॉल-मीडियम एंटरप्राइजेज तैयार हैं। इसी वित्त वर्ष में इनसे रेवेन्यू मिलना शुरू हो जाएगा।

  2. अंबानी ने कहा कि जियो का निवेश चक्र पूरा हो चुका। हाई-स्पीड 4जी नेटवर्क में अब तक 3.5 लाख करोड़ रुपए निवेश किए जा चुके हैं। जियो ना सिर्फ देश की सबसे बड़ी टेलीकॉम ऑपरेटर कंपनी है बल्कि दुनिया की दूसरी बड़ी ऑपरेटर भी है।

  3. मुकेश अंबानी ने कहा कि जियो से पहले देश डेटा डार्क था। जियो ने इसे डेटा शाइनिंग ब्राइट बनाया। तीन साल से भी कम समय में जियो के ग्राहकों की संख्या 34 करोड़ पहुंच गई।

  4. टेलीकॉम और रिटेल बिजनेस के आईपीओ 5 साल में आएंगे

    मुकेश अंबानी ने बताया कि रिलायंस जिओ और रिटेल ग्लोबल पार्टनरशिप करती रहेंगी। अगले 5 साल में दोनों कंपनियों को शेयर बाजार में लिस्ट करवाएंगे।

     

    DBApp

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना