पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

माफिया सरगना रवि पुजारी सेनेगल से गिरफ्तार, पूछताछ के लिए लाया जा सकता है भारत

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
  • मैंगलोर के पदबिद्री इलाके का रहने वाला है रवि पुजारी, फर्राटेदार अंग्रेजी और कन्नड़ बोल सकता है
  • पिछले साल जेएनयू नेता उमर खालिद और गुजरात के विधायक जिग्नेश मेवाणी ने रवि पुजारी से धमकी मिलने की बात कही थी

नई दिल्ली. माफिया सरगना रवि पुजारी के सेनेगल (अफ्रीका) की राजधानी डकार से गिरफ्तार कर लिया गया है। न्यूज एजेंसी ने सूत्रों के हवाले से यह जानकारी दी है। उसे पूछताछ के लिए भारत भी लाया जा सकता है। इससे पहले माना जा रहा था कि पुजारी ऑस्ट्रेलिया में छिपा है। 1990 के दशक में वह मुंबई से अपना गिरोह संचालित करता था। कर्नाटक पुलिस ने पुजारी के खिलाफ इंटरपोल से रेड कॉर्नर नोटिस जारी कराया था।

1) छोटा राजन को उस्ताद मानता था

रवि पुजारी छोटा राजन को अपना उस्ताद मानता था। राजन और पुजारी अंतरराष्ट्रीय अपराधी दाऊद इब्राहिम के लिए काम करते थे। हालांकि, 2001 में दोनों अलग हो गए। राजन फिलहाल नवी मुंबई की जेल में उम्रकैद की सजा काट रहा है।

माना जाता है कि जब मुंबई पुलिस ने कई शूटरों को गिरफ्तार कर लिया तो पुजारी ने बेंगलुरु को अपना अड्डा बनाया। वह मूल रूप से मैंगलोर के पदबिद्री का रहने वाला है। वह फर्राटेदार अंग्रेजी और कन्नड़ बोलता है। 

पिछले साल जवाहरलाल यूनिवर्सिटी (जेएनयू) के नेता उमर खालिद, स्टूडेंट एक्टिविस्ट शहला राशिद और दलित नेता और गुजरात के विधायक जिग्नेश मेवाणी ने पुजारी की तरफ से धमकी मिलने की शिकायत दर्ज कराई थी। उसने हुर्रियत नेता सैयद अली शाह गिलानी समेत देश के खिलाफ काम कर रहे लोगों को भी धमकी दी थी।

पुजारी पर यह भी आरोप है कि 2009 से 2013 के बीच वह बॉलीवुड की हस्तियों से जबरन वसूली करता था। 15 साल से फरार पुजारी की हत्या, वसूली, अपहरण, धोखाधड़ी जैसे कई मामलों में तलाश है। उस पर सुपारी लेकर हत्या कराने के भी आरोप हैं।

खबरें और भी हैं...