बीकानेर जमीन खरीद मामला / जयपुर: वाड्रा से ईडी के 4 अफसरों ने करीब 9 घंटे पूछताछ की



पूछताछ के लिए बुधवार को फिर से ईडी ऑफिस पहुंचे राॅबर्ट। पूछताछ के लिए बुधवार को फिर से ईडी ऑफिस पहुंचे राॅबर्ट।
मां के साथ जयपुर पहुंचे थे वाड्रा। मां के साथ जयपुर पहुंचे थे वाड्रा।
X
पूछताछ के लिए बुधवार को फिर से ईडी ऑफिस पहुंचे राॅबर्ट।पूछताछ के लिए बुधवार को फिर से ईडी ऑफिस पहुंचे राॅबर्ट।
मां के साथ जयपुर पहुंचे थे वाड्रा।मां के साथ जयपुर पहुंचे थे वाड्रा।

  • मंगलवार को ईडी ने रॉबर्ट वाड्रा से करीब 9 घंटे तक पूछताछ की थी
  • ईडी ने वाड्रा की मां से भी पूछताछ की, वह कंपनी में निदेशक थीं

Dainik Bhaskar

Feb 13, 2019, 10:04 PM IST

जयपुर. बीकानेर जमीन खरीद मामले में बुधवार को प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने रॉबर्ट वाड्रा से करीब नौ घंटे तक पूछताछ की। वाड्रा से मंगलवार को भी पूछताछ हुई थी। जयपुर में ईडी उनसे दो दिन में करीब 18 घंटे पूछताछ कर चुकी है। इससे पहले विदेश में संपत्ति के मामले में ईडी ने दिल्ली में 3 दिन में करीब 24 घंटे पूछताछ की थी। सूत्रों के मुताबिक, जांच एजेंसी ने उन्हें गुरुवार को पेश होने के लिए नहीं कहा। 

 

पूछताछ के दौरान दिल्ली से आए ईडी के अफसर भी मौजूद रहे। वहीं, रॉबर्ट की मां मौरिन से आज कोई पूछताछ नहीं हुई। मंगलवार को ईडी ने उनकी मां से पूछताछ की थी। मंगलवार को ईडी अफसरों ने सबसे पहले वाड्रा की मां से करीब पौने दो घंटे में 10 सवाल पूछे थे।

 

ईडी अधिकारियों ने मंगलवार को वाड्रा से बीकानेर में ही जमीन क्यों ली, किसने सौदा कराया जैसे 20 सवाल पूछे। उधर, वाड्रा ने कहा कि उनके पास छुपाने को कुछ नहीं है। कितनी भी लंबी पूछताछ झेल सकता हूं। ईडी के सामने वाड्रा की जयपुर में यह पहली पेशी है। इससे पहले वे लंदन की संपत्तियों के मामले में दिल्ली में तीन बार ईडी के सामने पेश हो चुके हैं।

 

75 साल की मां को परेशान कर रही सरकार

पूछताछ से पहले वाड्रा ने मां के साथ फोटो ट्वीट की। लिखा- 75 वर्षीय मां को सियासी बदले की भावना से सरकार परेशान कर रही है। उधर, कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने ईडी दफ्तर के बाहर प्रदर्शन किया। बीकानेर जमीन मामले में वाड्रा पर आरोप है कि उन्होंने 79 लाख रुपए में 270 बीघा जमीन खरीदकर 3 साल बाद 5.15 करोड़ रुपए में बेच दी। ईडी के कई समन के बाद भी वह पेश नहीं हुए थे। इसके बाद अब कोर्ट के निर्देश पर पहुंचे हैं। वाड्रा की स्काइलाइट हॉस्पिटेलिटी कंपनी में मां निदेशक थीं। 

 

प्रियंका और वाड्रा से कांग्रेस नेताओं ने बनाई दूरी

सूत्रों का कहना है कि प्रियंका ने प्रदेश के कांग्रेस नेताओं को पहले से ही यह संदेश करा दिया था कि उनसे या उनके पति से मिलने के लिए कोई पार्टी का नेता नहीं आएगा। यह मामला पारिवारिक है। प्रदेश के कांग्रेस नेताओं के इनके पक्ष में खड़ा होने से पब्लिक में गलत मैसेज जा सकता है। ऐसे में लोकसभा चुनाव में पार्टी को कहीं नुकसान न उठाना पड़ जाए। इसको देखते हुए प्रदेश का कोई भी नेता प्रियंका गांधी वाड्रा या उनके पति राबर्ट वाड्रा के इर्द-गिर्द नजर नहीं आया।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना