पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • National
  • Sachin Pilot Thanks Sonia Gandhi For Noting, Addressing His And Rebel MLAs' Grievances

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

लौट के सचिन घर को आए:निकम्मा होने के आरोप पर पायलट बोले- गहलोत मुझसे बड़े हैं, लेकिन मुझे भी काम के मुद्दे उठाने का हक है

जयपुर9 महीने पहले
  • पायलट बोले- राजनीति में निजी दुश्मनी की जगह नहीं होती, आलाकमान ने आपत्तियां दूर करने का भरोसा दिया है
  • गहलोत ने पायलट के लिए कुछ नहीं कहा, लेकिन केंद्र पर निशाना साधा- बोले, सीबीआई का दुरुपयोग हो रहा

राजस्थान की गहलोत सरकार का संकट टलने के बाद अब बयानबाजी का दौर चल रहा है। सचिन पायलट ने मंगलवार को कहा, "अशोक गहलोत मुझसे बड़े हैं। मैं उनका सम्मान करता हूं, लेकिन मुझे भी काम के मुद्दे उठाने का हक है।" पायलट ने यह बात उस बयान के रेफरेंस में कही, जिसमें गहलोत ने पायलट को निकम्मा और नकारा बताया था।

बयानों में लक्ष्मण रेखा होनी चाहिए: पायलट
"मैंने अपने परिवार से कुछ मूल्य सीखे हैं। मुद्दा यह नहीं कि मैं किसी आदमी का कितना विरोध करता हूं, लेकिन इस तरह की भाषा इस्तेमाल नहीं करता। सार्वजनिक तौर पर बोलते वक्त एक लक्ष्मण रेखा होनी चाहिए। राजनीति में निजी दुश्मनी की कोई जगह नहीं होती। राहुल और प्रियंका ने हमारी आपत्तियां दूर करने के लिए रोडमैप तैयार करने का भरोसा दिया है। हमने जो मुद्दे रखे थे, उनके समाधान के लिए 3 सदस्यों की कमेटी बनाई गई है।"

पायलट की 5 बड़ी बातें

1. पद की नहीं बल्कि कार्यकर्ताओं के सम्मान की बात उठाई
मैंने किसी पद की मांग नहीं की, बल्कि पार्टी कार्यकर्ताओं के सम्मान और कामकाज से जुड़े मुद्दे उठाए। पार्टी ने जो भी जिम्मेदारियां दी हैं, उन्हें निभाने के लिए तैयार हूं।

2. पार्टी प्रदेशाध्यक्ष के नाते जनता के मुद्दे उठाने का जिम्मा था
पार्टी प्रदेशाध्यक्ष होने के नाते यह मेरी जिम्मेदारी थी कि सरकार बनने के बाद कार्यकर्ताओं को सम्मान दिया जाए। बीते 1.5 साल में काम की रफ्तार धीमी हो गई थी। हमें ऐसा लग रहा था कि जनता से जो वादे किए, वे पूरे नहीं हो पा रहे हैं।

3. राजद्रोह का नोटिस मिलने से दुख हुआ
जिस तरह राजद्रोह की धारा में नोटिस दिया गया और 25 दिन बाद वापस लिया गया, उससे दुख हुआ। हम कोर्ट गए, कई मुकदमे हुए। इसे रोका जा सकता था। बदले की राजनीति नहीं होनी चाहिए।

4. पार्टी विचारधारा के खिलाफ कभी कुछ नहीं कहा
हमने पार्टी की विचारधारा, सरकार और पार्टी लीडरशिप के खिलाफ कभी कुछ नहीं बोला। हमने सिर्फ कामकाज के तरीके पर सवाल उठाए। मुझे इसका पूरा हक है।

5. सत्य और सिद्धांतों की राजनीति करता हूं
पद आते-जाते रहते हैं। मुझे इनका कोई लालच नहीं है। मेरी राजनीति सत्य और सिद्धांतों पर आधारित है।

राजस्थान की सियासत से जुड़ी ये खबरें भी पढ़ सकते हैं-

1. राजस्थान में संकट टला, खत्म नहीं हुआ:संकट सुलझाने के लिए कांग्रेस ने 4 फॉर्मूले की रणनीति बनाई, 5 सवाल भी मौजूद- पायलट को पीसीसी अध्यक्ष और डिप्टी सीएम का पद मिलेगा?

2. कोर्ट में राजस्थान की सियासी लड़ाई:बसपा के 6 विधायकों के कांग्रेस में जाने के मामले में आज सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई; स्टे की अर्जी पर हाईकोर्ट का फैसला भी आ सकता है

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- समय अनुसार अपने प्रयासों को अंजाम देते रहें। उचित परिणाम हासिल होंगे। युवा वर्ग अपने लक्ष्य के प्रति ध्यान केंद्रित रखें। समय अनुकूल है इसका भरपूर सदुपयोग करें। कुछ समय अध्यात्म में व्यतीत कर...

    और पढ़ें