CJI के लिस्टिंग सिस्टम पर SC के जजों को ऐतराज:कहा- दोपहर के सेशन में केसों की भरमार हो जाती है; फैसले के लिए समय नहीं

नई दिल्ली3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

सुप्रीम कोर्ट में केस की लिस्टिंग को लेकर दो जजों ने चीफ जस्टिस यू यू ललित पर सवाल उठाए हैं। जस्टिस संजय किशन कौल और अभय एस ओका की बेंच ने लिस्टिंग सिस्टम की आलोचना करते हुए एक सुनवाई के दौरान कहा- दोपहर के सेशन में मामलों की भरमार हो जाती है। इसकी वजह से फैसला करने के लिए समय ही नहीं मिल रहा। उन्होंने इसके लिए नई लिस्टिंग प्रणाली को जिम्मेदार ठहराया है।

क्या है नई लिस्टिंग सिस्टम
चीफ जस्टिस यूयू ललित ने जो नई प्रणाली लागू की है उसमें सुप्रीम कोर्ट के सभी 30 जजों के लिए दो शिफ्ट बना दिए गए हैं। इस नई व्यवस्था के तहत सोमवार से शुक्रवार तक वो नए-नए मामलों की सुनवाई के लिए 15 अलग-अलग पीठों में बैठते हैं और हर दिन 60 मामलों की सुनवाई करते हैं।

तीन-तीन जजों की बेंच में सभी जजों ने मंगलवार, बुधवार और गुरुवार को सुबह 10.30 बजे से दोपहर 1 बजे की पहली शिफ्ट में पुराने मामलों की सुनवाई की थी। उन दिनों दोपहर बाद की दूसरी शिफ्ट में दो-दो जजों की बेंच को 30 केस दिए गए जिनकी सुनवाई दो घंटे में करनी थी। यानी, औसतन 4 मिनट में एक केस का निपटारा कर देना था।

हालांकि, सीजेआई ने मंगलवार से 30 की जगह केसों की संख्या घटाकर 20 कर दी थी, यानी अब 120 मिनट में 20 केसों की सुनवाई होगी। इसके बाद मामलों की सुनवाई कर रहे जजों ने कहा - जिन मामले की फाइल पढ़ ली है। उनके बारे में एडवोकेट को यह उम्मीद नहीं करनी चाहिए कि इसे फिर से पढ़ने के लिए समय देंगे।

CJI ने अब तक 5000 मामलों का निपटारा किया
मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक यू यू ललित ने 27 अगस्त को CJI का पदभार संभालने के बाद अब तक कुल 5,000 से ज्यादा मामलों का निपटारा किया है। इनमें 13 कार्य दिवसों में 3500 से अधिक विविध मामलों, 250 से अधिक नियमित सुनवाई मामलों और 1200 से अधिक स्थानांतरण याचिकाओं के मामले शामिल हैं।

लिस्टिंग सिस्टम की शुरूआत इसलिए की गई कि सालों पुराने लंबित मामलों की तेजी से निपटाया जा सके। सुप्रीम कोर्ट की वेबसाइट के अनुसार, 26 अगस्त तक कोर्ट में 71,411 अन्य मामले लंबित थे। इनमें आर्टिकल 370, नोटबंदी, CAA, इलेक्टोरल बॉन्ड, UAPA और सबरीमाला जैसे केस शामिल रहे।

फास्ट ट्रैक तरीके से केस निपटा रहे हैं CJI
CJI यू यू ललित फास्ट ट्रैक तरीके से केस निपटा रहे हैं। सुप्रीम कोर्ट ने 2 सितंबर तक 1293 केस का निपटारा किया है। इनमें 440 ट्रांसफर केस हैं। बीते दो दिनों में 106 रेगुलर केसों को भी निपटाया किया है। पढ़ें पूरी खबर...

यू यू ललित 49 वें चीफ ऑफ जस्टिस हैं
यू यू ललित 49 वें चीफ ऑफ जस्टिस हैं। ललित इसी साल 8 नवंबर को रिटायर होंगे। यानी CJI के तौर पर उनका कार्यकाल सिर्फ 74 दिन का होगा। इस दौरान उन्हें सुप्रीम कोर्ट में लंबित 492 संवैधानिक मामलों को निपटाने की चुनौती होगी। पढ़ें पूरी खबर...

खबरें और भी हैं...