• Hindi News
  • National
  • Sardar Vallabhbhai Patel Jinnah Supporter; BJP Attacks On Congress Part Leader Over CWC Meeting

कांग्रेस नेता के बयान पर बवाल:CWC की मीटिंग में सरदार पटेल को बताया जिन्ना समर्थक, भाजपा बोली- ये तो गांधी परिवार की चाटुकारिता की पराकाष्ठा है

नई दिल्लीएक महीने पहले

कांग्रेस वर्किंग कमेटी (CWC) की मीटिंग में पार्टी के एक नेता के बयान पर बवाल मच गया है। भाजपा ने आरोप लगाया है कि कांग्रेस कार्यसमिति की बैठक में देश के प्रथम गृह मंत्री सरदार वल्लभ भाई पटेल का अपमान किया गया है।

भाजपा का आरोप है कि कांग्रेस नेता तारिक हमीद कर्रा ने मीटिंग में सरदार पटेल को मोहम्मद अली जिन्ना का समर्थक बताया। तारिक हमीद कर्रा पीडीपी से कांग्रेस में आए हैं। वे कांग्रेस कार्यसमिति के आमंत्रित सदस्य हैं।

भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता संबित पात्रा ने सोमवार को मीडिया से बातचीत करते हुए कहा कि 16 अक्टूबर को कांग्रेस कार्यसमिति की बैठक में देश के लौह पुरुष सरदार पटेल का अपमान किया गया है। कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और राहुल गांधी के सामने इस तरह का बयान चाटुकारिता की पराकाष्ठा है।

किसी को भी अपमानित कर सकते हैं कांग्रेस नेता
पात्रा ने कहा, ‘आज ये बात स्पष्ट हो गई है कि अपने परिवार की विरासत को ऊपर रखने के लिए नेहरू-गांधी राजवंश को ऊपर रखने के लिए, चाहे सुभाष चंद्र बोस हों, वीर सावरकर हों, सरदार पटेल हों किसी को भी अपमानित करना हो, किसी के भी नाम पर भ्रम फैलाना हो, कांग्रेस पार्टी ये सब कर सकती है।’ पात्रा ने इस पर कांग्रेस पार्टी से जवाब मांगा है।

भाजपा प्रवक्ता ने क्या कहा?
भाजपा प्रवक्ता ने कहा, ‘आज अखबारों में छपा है कि 2 दिन पहले हुई CWC की बैठक में कश्मीर को लेकर कुछ सवाल उठे थे। बैठक में कश्मीर को लेकर भ्रम का माहौल बनाया गया। ये भी कहा गया कि जवाहरलाल नेहरू जी ने जम्मू-कश्मीर को हिंदुस्तान में इंटीग्रेट किया।’ ये भी कहा गया कि इस पूरे प्रयोजन में सरदार पटेल जिन्ना से मिले हुए थे। जिन्ना के साथ मिलकर पटेल कश्मीर को हिंदुस्तान से अलग रखने की कोशिश कर रहे थे।

कौन हैं ये कांग्रेस नेता, जिनके बयान से बवाल मचा
मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, गांधी परिवार की तारीफ करते हुए कर्रा ने जवाहरलाल नेहरू की जमकर तारीफ की। कर्रा ने ये भी कहा कि जम्मू-कश्मीर के लोग आज यदि भारत में हैं तो इसका श्रेय सिर्फ और सिर्फ पंडित नेहरू को जाता है। उन्होंने आरोप लगाया कि सरदार पटेल मोहम्मद अली जिन्ना के खेमे में थे और जम्मू-कश्मीर को पाकिस्तान के हाथों सौंपने को तैयार थे।

इस बीच, कांग्रेस नेताओं ने उन्हें मुद्दे पर ही बात रखने की सलाह दी। कर्रा को यह भी बताया गया कि सरदार पटेल कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष भी रह चुके हैं। भारत के एकीकरण में उनका अतुलनीय योगदान रहा है।

खबरें और भी हैं...