दुविधा / सैटेलाइट से सिग्नल मिलना बंद, परिजनों से बात नहीं कर पा रहे दुर्गम इलाकों में तैनात जवान



satellite signals receiving Stop on border
X
satellite signals receiving Stop on border

  • जैसलमेर सहित कश्मीर, सियाचिन जैसे इलाकों में सैटेलाइट से सिग्नल नहीं मिल रहे
  • राजस्थान बॉर्डर पर 150 और देशभर में करीब ढाई हजार सैटेलाइट फोन ठप
  • बीएसएफ आईजी बोले- दिल्ली के स्तर पर बातचीत चल रही है, जल्द सर्विस शुरू हो जाएगी

Dainik Bhaskar

Jun 14, 2019, 02:48 AM IST

जोधपुर/नई दिल्ली. देश के विभिन्न बॉर्डर के दुर्गम इलाकों में तैनात जवानों का संचार संपर्क कट गया है। पश्चिमी राजस्थान से सटे जैसलमेर सहित देश के कश्मीर, सियाचिन जैसे इलाकों में डीएसपीटी (डिजिटल सैटेलाइट फोन टर्मिनल) को एनएसएस-6 सैटेलाइट से सिग्नल मिलने बंद हो गए हैं। इससे राजस्थान बॉर्डर पर 150 और देशभर में करीब ढाई हजार सैटेलाइट फोन ठप हो गए हैं।

 

13 मई को अचानक इस सैटेलाइट से सिग्नल मिलना बंद होने के बाद बॉर्डर से जवानों की अपने परिजनों से बातचीत बंद हो गई है। ये सैटेलाइट इंडिया साउथ एशिया कंपनी का है और बीएसएनएल के माध्यम से सर्विस उपलब्ध करवाता है। बीएसएफ राजस्थान सीमांत के आईजी अनिल पालीवाल का कहना है कि सैटेलाइट से संबंधित मामला है। सिग्नल नहीं मिलने से डीएसपीटी बंद हुए हैं। दिल्ली के स्तर पर बातचीत चल रही है, जल्दी ही सर्विस शुरू हो जाएगी।

 

जैसलमेर और सियाचिन में लगे हैं सैटेलाइट फोन
राजस्थान से सटे बॉर्डर पर जैसलमेर सेक्टर का इलाका काफी दुर्गम है। वहां फोन मोबाइल सिग्नल व तार नहीं होने के कारण जवानों की बातचीत का जरिया डीएसपीटी फोन ही हैं। जैसलमेर के अलावा बाड़मेर के कुछ इलाकों में ऐसे फोन लगे हुए हैं। बीएसएफ के पास वर्तमान में डेढ़ सौ सैटेलाइट फोन हैं। जम्मू कश्मीर सहित पूर्वोत्तर के दुर्गम इलाकों में करीब एक हजार फोन लगे हुए हैं। इन इलाकों में सेना का आपस में कम्युनिकेशन तो हो रहा है, लेकिन परिजनों से बातचीत बंद हो गई।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना