• Hindi News
  • National
  • Rajasthan Delhi; School Reopening Latest Update | Uttar Pradesh Madhya Pradesh Guidelines On Safe School Reopening

17 महीने बाद खुले स्कूल:UP में पहली से 5वीं, राजस्थान-दिल्ली में 9वीं से 12वीं और MP में 6वीं से 12वीं तक खुले स्कूल, कोविड प्रोटोकॉल का सख्ती से पालन

नई दिल्ली5 महीने पहले
यह फोटो उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद की है। स्कूल खुलने पर यहां बच्चों को सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करवाते हुए बैठाया गया।

कोरोना वायरस के मामलों में आई गिरावट को देखते हुए देश के कई राज्यों में आज फिर से स्कूल खुले हैं। उत्तर प्रदेश, दिल्ली, मध्यप्रदेश, कर्नाटक और राजस्थान जैसे राज्यों में सख्त प्रोटोकॉल के साथ स्कूल खोले गए हैं। राज्य सरकारों ने स्कूलों को कोविड-19 गाइडलाइंस का पालन करने का निर्देश दिया है। इसके तहत स्कूल में मास्क और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन अनिवार्य किया गया है। साथ ही स्टूडेंट्स, टीचर्स और स्टाफ की थर्मल स्क्रीनिंग भी कराई जा रही है।

कोरोना महामारी की वजह से एक साल से अधिक समय से स्कूल बंद थे। हालांकि इस दौरान वर्चुअल क्लास चलती रही। स्कूल खुलने को लेकर बच्चों में उत्साह नजर आ रहा है, लेकिन तीसरी लहर की आशंका को लेकर पेरेंट्स थोड़े डरे हुए भी हैं। वहीं, राज्य सरकारों का प्रयास है कि कोरोना के कम होते संक्रमण के बीच स्कूलों में पढ़ाई-लिखाई धीरे-धीरे शुरू की जाए।

UP में आज से 1 से 5वीं तक के स्कूल खुले
UP में आज से 1 से 5वीं तक के छोटे बच्चों के स्कूल खुल गए हैं। बच्चों के स्वागत के लिए कई स्कूलों को रंग बिरंगे कार्टून और गुब्बारों से सजाया गया। बच्चों का तिलक कर स्वागत किया। इससे पहले उनकी थर्मल स्क्रीनिंग की गई। फिर सैनिटाइजर से हाथ साफ करवाया गया। फिर सोशल डिस्टेंसिंग के साथ बच्चों को क्लासरूम में बिठाया गया। इस दौरान बच्चे काफी खुश नजर आए। हालांकि पहले दिन स्कूलों में बच्चों की संख्या काफी कम रही।

यह फोटो लखनऊ की है। यहां के सिटी म़ॉन्टेसरी स्कूल में कोविड प्रोटोकॉल का पालन होता दिखा। स्टूडेंट्स से सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कराया जा रहा है।
यह फोटो लखनऊ की है। यहां के सिटी म़ॉन्टेसरी स्कूल में कोविड प्रोटोकॉल का पालन होता दिखा। स्टूडेंट्स से सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कराया जा रहा है।

गाइडलाइन के मुताबिक, बच्चों की पढ़ाई दो शिफ्ट में करवाई जाएगी। पहली शिफ्ट सुबह 8 से 11 बजे तक और दूसरी शिफ्ट सुबह 11:30 बजे 1.30 तक होगी। इससे पहले प्रदेश में 16 अगस्त से 9-12वीं कक्षा और 21 अगस्त से 6-8वीं तक के स्कूल खोले जा चुके हैं। कोरोना के कारण मार्च 2020 में कक्षा 1 से 5वीं तक के स्कूल बंद किए गए थे। तब से बच्चों की ऑनलाइन पढ़ाई ही चल रही थी। पूरी खबर यहां पढ़ें...

MP में 6 से 8 तक के स्कूल 50% स्टूडेंट संख्या के साथ खुले
मध्य प्रदेश में बुधवार से कक्षा 6 से 8 तक के स्कूल 50% छात्र संख्या के साथ खोले गए हैं। सरकारी स्कूलों में सत्र के शुरू होने के साथ ही टीचर्स को बुलाया जा रहा है, इसलिए साफ-सफाई जैसी परेशानी नहीं है। प्राइवेट स्कूलों में भी सोशल डिस्टेंसिंग से बच्चों को बैठाने का इंतजाम किया गया है। वहीं ग्वालियर में स्कूल बस ऑपरेटर्स अभी बसें चलाने को तैयार नहीं हैं। मंगलवार स्कूल बस ऑपरेटर्स यूनियन की बैठक हुई, जिसमें निर्णय लिया गया कि अभी कुछ दिन बसें नहीं चलाईं जाएंगीं।

दिल्ली में क्लास 9 से 12 तक के स्‍कूल खुले, सख्त गाइडलाइन लागू
राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली के कक्षा 9 से 12 तक के स्‍कूल आज, यानी 1 सितंबर से शुरू हुए हैं। दिल्‍ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (DDMA) ने स्कूल प्रशासन और स्टूडेंट्स के लिए गाइडलाइन जारी की है। इसके मुताबिक, स्‍कूल के दोबारा खुलने पर छात्र एक साथ लंच नहीं कर सकेंगे। एक समय में 50% छात्रों को ही बुलाया जा सकेगा। साथ ही छात्रों, शिक्षकों और स्‍कूल प्रबंधन के लिए कोरोना प्रोटोकॉल का पालन करना जरूरी है।

यह तस्वीर दिल्ली के पश्चिम विनोद नगर के राजकीय सर्वोदय कन्या विद्यालय की है। यहां छात्राएं सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते नजर आईं।
यह तस्वीर दिल्ली के पश्चिम विनोद नगर के राजकीय सर्वोदय कन्या विद्यालय की है। यहां छात्राएं सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते नजर आईं।

दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा कि आज से स्कूल खुले हैं, लेकिन हमने किसी अभिभावक को बाध्य नहीं किया है कि स्कूल आना जरूरी है। बच्चा चाहे तो ऑनलाइन क्लास से ही काम चला सकता है। शिक्षा की गतिविधियां धीरे-धीरे आगे बढ़ाएंगे। कहीं कोरोना के मामले बढ़ेंगे तो स्कूल तुरंत बंद कर देंगे।

राजस्थान में 9वीं से 12वीं के लिए फिर खुले स्कूल
राजस्थान में 4 महीने 18 दिनों के बाद के इंतजार के बाद आज से स्टूडेंट्स के लिए फिर से स्कूल खोल दिए गए हैं। बुधवार को खुले स्कूलों में फिलहाल सिर्फ कक्षा 9वीं से 12वीं तक के छात्र को ही ऑड-ईवन फार्मूले पर प्रवेश दिया गया। उन्हें सोशल डिस्टेंसिंग के आधार पर क्लास में बैठाया गया। इससे पहले स्टूडेंट्स का टेंपरेचर चेक कर उन्हें स्कूल में प्रवेश दिया गया। टीचर ने गर्मजोशी से उनका स्वागत किया।

लंबे समय बाद खुले स्कूलों में फिलहाल 40% स्टूडेंट्स को ही हर दिन क्लास में बुलाया जाएगा। स्कूल प्रबंधन द्वारा ऑड ईवन फॉर्मूले को अपनाया गया है। हर दिन अलग बैच के आधार पर बच्चों को पढ़ाया जाएगा। फिलहाल छात्रों का स्कूल आना अनिवार्य नहीं किया गया है। ऐसे में छात्र घर बैठ भी ऑनलाइन शिक्षा ले सकेंगे। वहीं जो छात्र स्कूल आ रहे हैं वह विदाउट यूनिफार्म भी आ सकेंगे। पूरी खबर यहां पढ़ें...

खबरें और भी हैं...