• Hindi News
  • National
  • Aftab Amin Poonawalla NARCO Test Update; Shraddha Walker Murder | Delhi News

श्रद्धा का सिर ढूंढने तालाब खाली कराने पहुंची पुलिस:महरौली जंगल से अब तक 17 हड्डियां बरामद, कल आफताब का नार्को टेस्ट होगा

नई दिल्ली2 महीने पहले
श्रद्धा के लिव-इन पार्टनर आफताब ने 18 मई को उसकी हत्या कर दी थी।

श्रद्धा मर्डर केस में रोज नए खुलासे सामने आ रहे हैं। रिपोर्ट्स के मुताबिक, दिल्ली पुलिस को आफताब ने बताया है कि उसने श्रद्धा का सिर दिल्ली के एक तालाब में फेंका है। इसके बाद दिल्ली पुलिस रविवार शाम छतरपुर जिले के मैदान गढ़ी पहुंची और यहां मौजूद एक तालाब खाली करा रही है। गोताखोरों को भी बुलाया गया है।

स्थानीय लोगों का कहना है कि पुलिस कुछ देर पहले आफताब को यहां लेकर आई थी। उसने कबूल किया है कि श्रद्धा के सिर को इसी तालाब में फेंका था। मर्डर वेपन भी गायब है। इधर, पुलिस ने छतरपुर जिले के महरौली जंगल से अब तक 17 हड्डियां बरामद की हैं, उन्हें जांच के लिए भेजा जाएगा।

वहीं, सोमवार को आफताब का नार्को टेस्ट भी हो सकता है। पुलिस ने इसके लिए 40 सवालों की लिस्ट तैयार की है। इससे पहले दिल्ली पुलिस श्रद्धा की हत्या के सीन रिक्रिएट करने के लिए रविवार सुबह आफताब के घर पहुंची है।

18 अक्टूबर के CCTV फुटेज में दिख रहा है कि आफताब ने उस रात तीन चक्कर लगाए थे।
18 अक्टूबर के CCTV फुटेज में दिख रहा है कि आफताब ने उस रात तीन चक्कर लगाए थे।

पुलिस के हाथ 18 अक्टूबर का CCTV फुटेज लगा
इससे पहले शनिवार को दिल्ली पुलिस के हाथ 18 अक्टूबर का CCTV फुटेज लगा है। इसमें सुबह चार बजे आफताब बैग ले जाते हुए देखा गया। पुलिस को शक है कि वह श्रद्धा के बॉडी के टुकड़ों को फेंकने गया था। इसके अलावा दिल्ली पुलिस ने महरौली वाले फ्लैट से सारे कपड़ों को जब्त कर लिया है। इनमें श्रद्धा के कपड़े भी शामिल हैं।

श्रद्धा मर्डर केस के अपडेट्स...

  • सबूतों का पता लगाने के लिए महरौली के जंगल में तलाशी अभियान आज भी जारी रहेगा।
  • दिल्ली पुलिस ने इस केस में अब तक 6 लोगों के बयान दर्ज किए हैं।
  • पुलिस सबूत के तौर पर श्रद्धा की दोस्त शिवानी म्हात्रे और उसके को-वर्कर करण बेहरी के वॉट्सऐप चैट का भी इस्तेमाल करेगी।
  • पुलिस अब भी आफताब के परिवार को तलाश कर रही है।
  • श्रद्धा के पिता ने दावा किया है कि वह वसई में आफताब के घर गए थे, लेकिन उसके परिवार ने बेइज्जत कर वहां से भगा दिया और दोबारा नहीं आने की चेतावनी दी।

रीगल अपार्टमेंट की फ्लैट ओनर बोलीं- उनके किचन में ज्यादा सामान नहीं होता था
श्रद्धा मर्डर केस में दिल्ली पुलिस ने रीगल अपार्टमेंट की फ्लैट ओनर जयश्री का बयान रिकॉर्ड किया है। पुलिस ने जयश्री से एग्रीमेंट के कागज भी लिए हैं। पुलिस ने जयश्री से पूछा कि आफताब और श्रद्धा कब आए थे और कितने समय तक रहे थे। उसने बताया- दोनों यहां 10 महीने रुके थे। उनके किचन में खाने का ज्यादा सामान नहीं होता था। दोनों ने ब्रोकर के जरिए मेरा घर किराए पर लिया था। दोनों के बीच मारपीट के सवाल पर उन्होंने कहा- मेरे पास इसकी कोई शिकायत नहीं आई।

ये तस्वीरें पूरे केस की कहानी बयां करती हैं....

श्रद्धा ने अपनी यही फोटो दोस्तों के साथ शेयर की थी। इसमें उनकी नाक और गाल पर चोट के निशान दिख रहे हैं।
श्रद्धा ने अपनी यही फोटो दोस्तों के साथ शेयर की थी। इसमें उनकी नाक और गाल पर चोट के निशान दिख रहे हैं।
आफताब हरे रंग की इस बिल्डिंग में पहले फ्लोर पर रहता था। वह किसी से नहीं मिलता था। बिल्डिंग में रहने वाले लोग इस केस से पहले उसका नाम तक नहीं जानते थे।
आफताब हरे रंग की इस बिल्डिंग में पहले फ्लोर पर रहता था। वह किसी से नहीं मिलता था। बिल्डिंग में रहने वाले लोग इस केस से पहले उसका नाम तक नहीं जानते थे।
आफताब को लेकर पुलिस महरौली के जंगलों में पहुंची। पुलिस अब भी मर्डर वेपन और श्रद्धा के बॉडी के टुकड़े तलाश कर रही है।
आफताब को लेकर पुलिस महरौली के जंगलों में पहुंची। पुलिस अब भी मर्डर वेपन और श्रद्धा के बॉडी के टुकड़े तलाश कर रही है।
घर से मिले कपड़ों में ज्यादातर आफताब के है। पुलिस को श्रद्धा के भी कपड़े मिले है। इन्हें फोरेंसिक जांच के लिए भेजा गया है। पुलिस को अब भी वो कपड़े नहीं मिल पाए हैं, जो दोनों ने वारदात वाले दिन पहने थे।
घर से मिले कपड़ों में ज्यादातर आफताब के है। पुलिस को श्रद्धा के भी कपड़े मिले है। इन्हें फोरेंसिक जांच के लिए भेजा गया है। पुलिस को अब भी वो कपड़े नहीं मिल पाए हैं, जो दोनों ने वारदात वाले दिन पहने थे।
यह चैट 2020 की है। इसमें श्रद्धा ने अपने पूर्व मैनेजर करण को अपने साथ हुई मारपीट का जिक्र किया था।
यह चैट 2020 की है। इसमें श्रद्धा ने अपने पूर्व मैनेजर करण को अपने साथ हुई मारपीट का जिक्र किया था।
श्रद्धा और आफताब साल 2019 से रिलेशन में थे।
श्रद्धा और आफताब साल 2019 से रिलेशन में थे।

इस केस से जुड़े चौंकाने वाले खुलासे जान लीजिए...

आफताब-श्रद्धा 8 मई को दिल्ली पहुंचे, 18 को कत्ल
आफताब-श्रद्धा मुंबई से दिल्ली 8 मई को आए थे। यहां से पहाड़गंज के होटल और फिर साउथ दिल्ली में रहने लगे। साउथ दिल्ली के बाद महरौली के जंगल के पास फ्लैट लिया था। दिल्ली पहुंचने के 10 दिन बाद यानी 18 मई को 28 साल के आफताब ने श्रद्धा का मर्डर कर दिया और उसके 35 टुकड़े कर जंगल में फेंके थे।

आफताब ने खुद कुबूल किया गुनाह
आफताब ने पुलिस पूछताछ में कुबूल किया है कि उसने पहचान छिपाने के लिए श्रद्धा का चेहरा जला दिया था। पुलिस को अब तक 13 टुकड़े मिले हैं। इनकी फोरेंसिक और DNA जांच होगी। अब भी पुलिस को श्रद्धा के सिर की तलाश है।

मर्डर के लिए आफताब ने क्राइम शो देखे, गुनाह छिपाने के लिए गूगल सर्च की
आफताब ने वारदात से पहले अमेरिकी क्राइम शो डेक्स्टर समेत कई क्राइम मूवीज और शोज देखे थे। सबूत मिटाने के लिए गूगल पर खून साफ करने का तरीका भी ढूंढा था। इसके बाद ही उसने श्रद्धा का मर्डर किया और आरी से काटकर उसकी बॉडी के 35 टुकड़े किए। 18 दिन तक रोज रात 2 बजे जंगल में श्रद्धा के टुकड़े फेंके।

मर्डर के बाद दूसरी लड़की फ्लैट में बुलाई, श्रद्धा के टुकड़े अलमारी में छिपा दिए
श्रद्धा के मर्डर के बाद आफताब ने डेटिंग ऐप बम्बल के जरिए ही दूसरी लड़कियों से संपर्क किया। एक लड़की को फ्लैट पर बुलाया भी। रिपोर्ट्स में कहा जा रहा है कि जब दूसरी लड़की घर आई तो श्रद्धा की बॉडी के टुकड़े फ्रिज में ही रखे थे। उन्हें आफताब ने अलमारी में छिपा दिया।

श्रद्धा मर्डर से जुड़ी ये खबरें भी पढ़ें...

पापा 25 की हूं, फैसले ले सकती हूं:पिता बोले- बात मान लेती तो जिंदा होती श्रद्धा

श्रद्धा मर्डर केस में एक के बाद एक सनसनीखेज खुलासे हो रहे हैं। 27 साल की लड़की को उसके लिव-इन पार्टनर ने किस बेरहमी से मारा और फिर उसके शरीर के 35 टुकड़े कर दिए, यह कहानी अपने आप में दिल दहलाने वाली है, लेकिन इसमें सबसे दुखद पहलू श्रद्धा के पिता का है। उन्हें इस बात का अफसोस है कि उनकी बेटी ने प्यार में जिद के चलते उनकी बात नहीं मानी। अगर मान ली होती तो आज वह जिंदा होती। पढ़ें पूरी खबर...

श्रद्धा का मर्डर कब: पुलिस का दावा-18 मई को हत्या हुई, दोस्त बोला- जुलाई में बात की थी

श्रद्धा मर्डर केस में अब सवाल ये है कि आखिर उसका मर्डर कब हुआ? सवाल की वजह दो दावे हैं। पहला दावा पुलिस का है, जो कह रही है कि श्रद्धा का मर्डर मई में हुआ। दूसरा दावा दोस्त लक्ष्मण नडार का है, जो कह रहा है कि जुलाई में तो उसकी श्रद्धा से बातचीत हुई थी। लक्ष्मण बताया- जुलाई में श्रद्धा ने वॉट्सऐप से कॉन्टैक्ट किया था। तब श्रद्धा काफी डरी हुई थी। पढ़ें पूरी खबर...

पीटने के 5 दिन बाद श्रद्धा को अस्पताल लाया आफताब

श्रद्धा वालकर मर्डर में आफताब अब भी पुलिस को गुमराह कर रहा है। दिल्ली पुलिस ने शुक्रवार को माना कि फिलहाल मामले में तफ्तीश जारी है और ठोस सबूत जुटाए जा रहे हैं। हालांकि, ऐसे सबूत और गवाह सामने आ रहे हैं, जो आफताब की बर्बरता की कहानी को साबित कर रहे हैं। ये सबूत कोर्ट में टिक पाएंगे, ये फिलहाल सबसे बड़ा सवाल है। पढ़ें पूरी खबर...

आफताब ने कुबूल किया.... यस आई किल्ड हर

पुलिस ने बताया कि आफताब से कत्ल के बारे में जो भी पूछा जाता है, वह उसके बारे में अंग्रेजी में जवाब देता है। ऐसा नहीं है कि उसे हिंदी नहीं आती, पर वो अंग्रेजी में ज्यादा कम्फर्टेबल है। उसने कुबूल किया- Yes i killed her... पूरी खबर यहां पढ़ें