• Hindi News
  • National
  • Aftab Amin Poonawalla NARCO Test Update; Baba Saheb Ambedkar Hospital | Delhi Mehrauli Shraddha Murder

आफताब का आज होगा 'पोस्ट नार्को टेस्ट इंटरव्यू':फोरेंसिक टीम तिहाड़ जाएगी, नार्को में भी कबूली श्रद्धा की हत्या

नई दिल्ली2 महीने पहले
ये मंगलवार को दिल्ली स्थित रोहिणी FSL के ऑफिस के बाहर की तस्वीर है। फोटो- ANI

श्रद्धा मर्डर केस के आरोपी आफताब अमीन पूनावाला का नार्को टेस्ट खत्म हो गया है। अब शुक्रवार को आफताब का 'पोस्ट नार्को टेस्ट इंटरव्यू' होगा। इसके लिए फोरेंसिक साइंस लैब यानी FSL की चार सदस्यीय टीम तिहाड़ जेल जाएगी। फोरेंसिक साइंस लैब के असिस्टेंट डायरेक्टर संजीव गुप्ता ने बताया कि गुरुवार को हुए नार्को टेस्ट में भी आफताब ने श्रद्धा की हत्या की बात कबूल की है। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार उसने श्रद्धा के मोबाइल और कपड़े कहां फेंके हैं, इसकी भी जानकारी दी है। दिल्ली पुलिस सुबह 8.40 बजे आफताब को लेकर रोहिणी के बाबा साहेब अंबेडकर अस्पताल पहुंची, जहां टेस्ट से पहले उसकी सामान्य जांच की गई। अधिकारियों के मुताबिक नार्को टेस्ट 10 बजे शुरू हुआ और करीब 2 घंटे बाद खत्म हो गया। अस्पताल के सूत्रों के मुताबिक आफताब ने टेस्ट में पूछे गए ज्यादातर सवालों के जवाब अंग्रेजी में दिए। संजीव गुप्ता ने बताया कि नार्को टेस्ट के दौरान फोरेंसिक लैब रोहिणी के साइकोलॉजिस्ट, फोटो एक्सपर्ट और अंबेडकर अस्पताल के डॉक्टर मौजूद रहे। इससे पहले आफताब ने पॉलीग्राफ टेस्ट में भी श्रद्धा की हत्या की बात कबूल की थी।

दिल्ली पुलिस सुबह 8.40 बजे आफताब को लेकर रोहिणी के बाबा साहेब अंबेडकर अस्पताल पहुंची।
दिल्ली पुलिस सुबह 8.40 बजे आफताब को लेकर रोहिणी के बाबा साहेब अंबेडकर अस्पताल पहुंची।

आफताब से पूछताछ से जुड़ी 3 जरूरी बातें...

1. ब्रेन मैपिंग भी हो सकती है
मीडिया रिपोर्ट्स ने सूत्रों के हवाले से कहा है कि अगर आफताब का नार्को टेस्ट बेनतीजा रहा तो पुलिस आफताब की ब्रेन मैपिंग करने पर विचार कर सकती है। इसके लिए पुलिस को कोर्ट से अनुमति लेनी होगी।

2. आफताब हर बात मान रहा, यहीं शक गहराया
जांच में शामिल एक अधिकारी ने न्यूज एजेंसी ANI को बताया कि आफताब बहुत चालाक है और कभी भी मामले में नया मोड़ ला सकता है। अभी तक वह पुलिस की हर बात मान रहा है, जांच में सहयोग कर रहा है। यहां तक कि पॉलीग्राफ और नार्को टेस्ट के लिए भी राजी हो गया। पुलिस को उसके इस अच्छे व्यवहार पर संदेह हो रहा है।

3. पूछताछ के दौरान आफताब बेहद कॉन्फिडेंट
पुलिस सूत्रों से यह जानकारी भी मिली है कि पूछताछ के दौरान आफताब बहुत ज्यादा कॉन्फिडेंट था। उसने बहुत तेजी से और रिलैक्स होकर जवाब दिया। इससे लगा कि वह पहले से सोच-समझकर जवाब देता है। पुलिस को शक यह भी है कि जब सितंबर-अक्टूबर में आफताब को मुम्बई पुलिस ने पूछताछ के लिए बुलाया था, उस वक्त भी श्रद्धा के कुछ बॉडी पार्ट्स उसके दिल्ली वाले फ्लैट में मौजूद थे।

आफताब ने 18 मई को श्रद्धा की हत्या करने के बाद उसके शरीर के 35 टुकड़े कर दिए थे, जिन्हें उसने फ्रिज में रखा। इन टुकड़ों को वह 16 दिन तक जंगल में फेंकता रहा।
आफताब ने 18 मई को श्रद्धा की हत्या करने के बाद उसके शरीर के 35 टुकड़े कर दिए थे, जिन्हें उसने फ्रिज में रखा। इन टुकड़ों को वह 16 दिन तक जंगल में फेंकता रहा।

पॉलीग्राफ टेस्ट का नतीजा- आफताब ने हत्या की बात कबूल की, लेकिन अफसोस नहीं
आफताब का पॉलीग्राफ टेस्ट पूरा हो गया है, जिसकी फाइनल रिपोर्ट तैयार की जा रही है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक पूछताछ के दौरान आफताब ने कबूल किया है कि उसी ने श्रद्धा की हत्या की। साथ ही यह भी कहा कि उसको श्रद्धा की हत्या का कोई अफसोस नहीं है।

  • मीडिया रिपोर्ट्स में टेस्ट करने वाली टीम से जुड़े सूत्रों के हवाले से कहा गया है कि आफताब ने हत्या के बाद लाश जंगल में फेंकने की बात स्वीकार की है।
  • उसने बताया कि कई लड़कियों से उसने डेटिंग ऐप के जरिए दोस्ती की।
  • श्रद्धा की हत्या से पहले और उसके बाद भी उसके दूसरी लड़कियों से रिश्ते थे।

पॉलीग्राफ टेस्ट से लौटते वक्त आफताब पर हुई थी हमले की कोशिश

वीडियो 28 नवंबर का है। जब रोहिणी FSL के सामने आफताब को ले जा रही पुलिस वैन पर हमला किया गया।
वीडियो 28 नवंबर का है। जब रोहिणी FSL के सामने आफताब को ले जा रही पुलिस वैन पर हमला किया गया।

रोहिणी FSL में सोमवार शाम को हुए हमले में आफताब को बचाने वाले पुलिसकर्मियों को इनाम मिला है। दिल्ली पुलिस कमिश्नर ने तारीफ करते हुए उनको 10-10 हजार रुपए दिए हैं। आफताब को ले जा रही पुलिस वैन पर रोहिणी स्थित फोरेंसिक साइंस लेबोरेटरी (FSL) के बाहर 4-5 लोगों ने हमले की कोशिश की थी। इनके हाथों में तलवारें थीं। पुलिस ने इन हमलावरों से आफताब को बचाया था।

आफताब के ब्रेन मैपिंग की भी संभावना, जानिए ये क्या है?
हमारा दिमाग अरबों न्यूरॉन से बना है। ये न्यूरॉन ही शरीर के सभी हिस्सों से दिमाग तक संदेश पहुंचाते हैं और दिमाग के मैसेज को शरीर के सभी अंगों तक भेजते भी हैं। ये मैसेज का वेव के रूप में आदान-प्रदान करते हैं। ब्रेन मैपिंग टेस्ट में इन्हीं तरंगों को मॉनिटर किया जाता है। इससे शख्स की मेंटल हेल्थ कंडीशन का पता लगाया जाता है।

वहीं, क्रिमिनल से राज उगलवाने के लिए भी इसका इस्तेमाल किया जाता है। इस प्रोसेस में आरोपी से सवाल किए जाते हैं और जब वह जवाब देता है तब उसकी प्रतिक्रिया को मॉनीटर किया जाता है।

श्रद्धा मर्डर केस से जुड़ी ये खबरें भी पढ़ें...

1.आफताब की नई गर्लफ्रेंड बोली- दो बार उसके घर गई, लेकिन मर्डर की जानकारी नहीं

आफताब की नई पार्टनर एक साइकेट्रिस्ट है। उसने पुलिस को बताया कि वह अक्टूबर में दो बार आफताब के घर गई थी, लेकिन उसे कभी महसूस नहीं हुआ कि इस घर में किसी का मर्डर हुआ है या यहां किसी इंसानी शरीर के टुकड़े रखे हुए थे। पूरी खबर पढ़ें....

2. आफताब ने कत्ल से पहले दृश्यम देखी थी, पार्ट-2 का इंतजार कर रहा था

पुलिस सूत्रों के मुताबिक, आफताब ने माना है कि उसने श्रद्धा के कत्ल से पहले बॉलीवुड फिल्म दृश्यम देखी थी, उसे पार्ट-2 का भी इंतजार था। FSL सूत्रों के मुताबिक, दृश्यम देखकर ही वो मर्डर के बाद एक कहानी गढ़ने की फिराक में था। पूरी खबर पढ़ें ...

3. पीटने के 5 दिन बाद श्रद्धा को अस्पताल लाया आफताब, डॉक्टर बोले- चल भी नहीं पा रही थी

मुंबई के ओजोन अस्पताल के डॉ. शिवप्रसाद शिंदे ने मीडिया को बताया है कि 3 दिसंबर 2020 को श्रद्धा उनके पास इलाज कराने आई थी। उसके शरीर पर जो चोटें थीं, वो फिजिकल वॉयलेंस के चलते ही आती हैं, लेकिन उसने कुछ भी खुलकर नहीं बताया। पूरी खबर पढ़ें...