पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • Shree Vaishno Devi Durbar Adorned With Flowers; Kovid Test Mandatory At Katra Base Camp, Jammu Airport Or Railway Station

कोरोना प्रोटोकॉल का पालन कर 9 दिन मनेगा नवरात्रि उत्सव:फूलों से सजा श्री वैष्णो देवी दरबार; कटरा बेस कैंप, जम्मू एयरपोर्ट या रेलवे स्टेशन पर कोविड टेस्ट अनिवार्य

जम्मू2 महीने पहलेलेखक: मोहित कंधारी
  • कॉपी लिंक
नवरात्रि पर त्रिकूट पर्वत पर विराजी माता वैष्णो देवी की गुफा और पूरा प्रांगण 100 तरह के फूलों से सजा हुआ है। - Dainik Bhaskar
नवरात्रि पर त्रिकूट पर्वत पर विराजी माता वैष्णो देवी की गुफा और पूरा प्रांगण 100 तरह के फूलों से सजा हुआ है।

आज से नवरात्रि पर्व शुरू हो रहा है। नौ दिन के इस त्योहार के लिए त्रिकूट पर्वत पर विराजी माता वैष्णो देवी की गुफा और पूरा प्रांगण 100 तरह के आयातित फूलों से सजा हुआ है। वैष्णो देवी श्राइन बोर्ड प्रशासन ने भी कोविड-19 प्रोटोकॉल का कड़ाई से पालन कराते हुए देश भर से आने वाले तीर्थयात्रियों की सुरक्षा का विशेष इंतजाम किया है।

बोर्ड के मुख्य कार्यकारी अधिकारी रमेश कुमार जांगिड़ ने तीर्थमंडल अधिकारियों को निर्देश दिया है कि वे ग्राउंड जीरो से ही कोविड प्रोटोकॉल के तहत निर्देशित सभी एहतियाती उपायों को सख्ती से लागू करें। देशभर में बढ़ते संक्रमण को देखते हुए रोजाना दर्शन करने वालों की संख्या 25 हजार तय की गई है। अधिकारियों को उम्मीद है कि गुफा पहुंचने वाले श्रद्धालुओं की संख्या में इजाफा हो सकता है।

आंकड़ों के मुताबिक, बीते कुछ दिनों में रोजाना 10 से 15 हजार श्रद्धालु पवित्र गुफा के दर्शन के लिए पहुंच रहे हैं। आधिकारिक आंकड़ों को देखें तो पिछले साल की तुलना में इस साल अब तक 2.44 लाख ज्यादा यात्री दर्शन कर चुके हैं। इस साल 1 जनवरी से 18 मार्च के बीच कुल 12.52 लाख भक्तों ने गर्भगृह के दर्शन किए, वहीं इस साल 11 अप्रैल तक यह आंकड़ा 14.96 लाख श्रद्धालुओं तक पहुंच चुका है।

बाहर से आए कलाकार नौ दिन तक भजन और अटका आरती में करेंगे परफॉर्म
देशभर से आने वाली वैष्णोदेवी यात्रियों के लिए इस बार कटरा बेस कैंप में, या जम्मू एयरपोर्ट और जम्मू रेल्वे स्टेशन पर कोविड टेस्ट कराना अनिवार्य किया गया है। जो यात्री सड़क मार्ग से आएंगे बाणगंगा में स्वास्थ्य कार्यकर्ता उनकी स्क्रीनिंग करेंगे।
बोर्ड ने व्रत रखने वालों के लिए 13 किमी के रास्ते में भोजन, रहने और प्रसाधन की व्यवस्था भी की है। बोर्ड ने जम्मू-कश्मीर के बाहर से कलाकारों को भी आमंत्रित किया है। ये सुबह-शाम भजन और अटका आरती में परफॉर्म करेंगे। यात्रा ट्रैक पर सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम भी किए गए हैं। जगह-जगह लाउडस्पीकर और सीसीटीवी भी लगाए गए हैं।

​​​​​​​