• Hindi News
  • National
  • 'Single Sign On' Service To Start From August; Whether The Scheme Is Central Or State Government... There Will Be Only One Digital Profile

अगस्त से शुरू होगी ‘सिंगल साइन ऑन’ सर्विस:योजनाएं केंद्र की हों या राज्य सरकार की, सिर्फ एक डिजिटल प्रोफाइल से मिलेगा सबका फायदा

नई दिल्ली4 महीने पहलेलेखक: अनिरुद्ध शर्मा
  • कॉपी लिंक

केंद्र और राज्य सरकार की हर तरह की योजना या सेवा का लाभ लेने के लिए अब एक ही डिजिटल प्रोफाइल होगा। यह व्यवस्था इसी साल अगस्त से शुरू होगी। इसे ‘सिंगल साइन ऑन’ नाम दिया गया है। यह नागरिकों के सत्यापन की एक ऐसी प्रक्रिया है, जिसमें एक ही आईडी के जरिए हर तरह की सरकारी सेवा का लाभ लिया जा सकेगा। यानी अब बार-बार सत्यापन की प्रक्रिया से नहीं गुजरना होगा।

इसके बाद अलग-अलग सेवाओं और योजनाओं से जुड़ने के लिए कई लॉगइन आईडी-पासवर्ड याद रखने की जरूरत नहीं होगी। इलेक्ट्रॉनिक्स एंड इन्फॉर्मेशन टेक्नोलॉजी मंत्रालय ने केंद्र और राज्य सरकारों की सभी योजनाओं-सुविधाओं के एकीकरण के लिए पोर्टल/ऐप तैयार करने की प्रक्रिया शुरू कर दी है। इस पोर्टल पर एक बार साइन ऑन करना होगा। फिर यूजर ऑथेंटिकेशन होगा। इसके बाद जीवनभर इसी एक आईडी के जरिए हर तरह की योजना का लाभ लिया जा सकेगा।

एक ही जगह मिलेंगी कई सुविधाएं
सिंगल साइन ऑन पोर्टल से स्कूल, कॉलेज में दाखिला, एजुकेशनल सर्टिफिकेट, बिजली-पानी के बिल जमा करने, रेलवे-हवाई टिकट लेने, हाउस टैक्स का भुगतान करने, इनकम टैक्स रिटर्न, जीएसटी रिटर्न दाखिल करने, कारोबार की अनुमति संबंधी सुविधाएं भी मिलेंगी। स्कॉलरशिप आवेदन, कारोबार मंजूरी, स्टार्टअप रजिस्टर कराने की सुविधा तक एक ही प्लेटफॉर्म पर मिल सकेगी।

KYC और डिजिलॉकर भी इससे जुड़ेंगे
कारोबार संबंधी कुछ सेवाओं के लिए इसी पोर्टल या ऐप के जरिए सालाना अपडेशन के लिए साल में केवल एक बार ओके बटन टिक करके पुष्टि करनी होगी। बैकिंग सेवाओं के लिए इस्तेमाल होने वाली केवाईसी भी इससे जुड़ जाएगी। सरकार डिजिलॉकर को भी इस सुविधा के साथ जोड़ेगी, ताकि आवेदन के साथ जरूरी दस्तावेज की कॉपी भी वहां उपलब्ध हो। उद्योग मंत्रालय के अधिकारी ने कहा कि ईज ऑफ डूइंग बिजनेस और ईज ऑफ लिंविंग में सुधार की दिशा में यह एक क्रांतिकारी कदम होगा, क्योंकि एसएसओ सर्विस का सबसे बड़ा लाभ कारोबारी व उद्यमियों को होगा।

अभी उन्हें कारोबार शुरू करने के लिए अनेक किस्म की मंजूरियों के लिए अलग-अलग दफ्तरों में आवेदन करना पड़ता है। अभी तक देश में राज्य स्तर पर केवल राजस्थान सरकार ने अपनी योजनाओं के लिए एसएसओ यानी सिंगल साइन ऑन आईडी को अनिवार्य किया है। निकाय स्तर पर नई दिल्ली नगरपालिका परिषद ने अपनी सुविधाओं के लाभ के लिए नागरिकों को एसएसओ सुुविधा दी है।

पासपोर्ट से गैस कनेक्शन तक... सब एक ही ऐप पर
अभी तक पासपोर्ट, आधार, पैनकार्ड, वोटर आईडी कार्ड, गैस कनेक्शन, ड्राइविंग लाइसेंस, राशन कार्ड, मैरिज-बर्थ-डेथ सर्टिफिकेट, पीएफ, आर्म लाइसेंस, ट्रेड लाइसेंस जैसे दस्तावेज जारी करने के लिए अलग-अलग दफ्तरों के ऐप या वेबसाइट पर आवेदन करना पड़ता है। अलग-अलग वेबसाइटों पर अलग-अलग लॉगइन और पासवर्ड का इस्तेमाल होता है। अब इस झंझट से मुक्ति मिल जाएगी।

सेवा के फॉर्म में पूरी डिटेल अपने आप ही भर जाएगी
सबसे अहम फीचर प्री-फिल्ड फॉर्म होगा। यानी, जैसे ही आप किसी सुविधा के लिए आवेदन करना चाहेंगे तो फॉर्म खुलते ही अलग-अलग कॉलम में आवेदक से जुड़ी सभी सूचनाएं अपने आप भर जाएंगी। आपको सिर्फ ‘ओके’ बटन क्लिक करना होगा।

खबरें और भी हैं...