• Hindi News
  • National
  • Some People Are Creating Enmity In The Name Of Religion, We Cannot Sit In Silence

कट्टरपंथी ताकतों पर बोले डोभाल:कहा- कुछ लोग धर्म के नाम पर दुश्मनी पैदा कर रहे; हम चुप नहीं बैठ सकते

नई दिल्ली4 महीने पहले

राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (NSA) अजीत डोभाल ने कहा है कि कुछ लोग ऐसा माहौल बनाने की कोशिश कर रहे हैं जो देश की प्रगति में रोड़े अटका रहा है। शनिवार को उन्होंने कहा कि ऐसे लोगों की केवल निंदा करना काफी नहीं है, बल्कि इनके खिलाफ एक्शन लेने की जरूरत है।

डोभाल ने कहा कि पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (PFI) समेत अन्य कट्टरपंथी ताकतों के खिलाफ मिलकर काम करने की जरूरत है। डोभाल ने यह बात दिल्ली में अखिल भारतीय सूफी सज्जादनशीन परिषद के अंतर धार्मिक सम्मेलन में कही। कार्यक्रम में शामिल मुस्लिम नेताओं ने PFI पर प्रतिबंध लगाने की मांग की।

सम्मेलन के दौरान NSA अजीत डोभाल का स्वागत करते हुए मुस्लिम समुदाय के लोग।
सम्मेलन के दौरान NSA अजीत डोभाल का स्वागत करते हुए मुस्लिम समुदाय के लोग।

एकता के लिए धर्मगुरु मिलकर काम करें
डोभाल ने कहा कि कुछ लोग हैं जो धर्म और विचारधारा के नाम पर दुश्मनी पैदा करते हैं। यह पूरे देश को प्रभावित करती है। यही माहौल देश के बाहर भी फैल रहा है और दुनिया में संघर्ष का माहौल बन रहा है। उससे मुकाबले के लिए देश की एकता बनाए रखना जरूरी है, ताकि हम सशक्त मुल्क की तरह आगे बढ़ सकें। इसके लिए धर्मगुरुओं को मिलकर काम करना होगा।

गलतफहमियां दूर करने की जरूरत
अजीत डोभाल ने कहा कि समाज में गलतफहमियों को दूर करने और हर धार्मिक संस्था को इसका हिस्सा बनाने के लिए प्रयास करने की जरूरत है। पिछले कुछ साल से देश जो तरक्की कर रहा है इससे जो फायदा होगा, वह हर हिंदुस्तानी को होगा। धार्मिक दुश्मनी का मुकाबला करने के लिए हमें साथ मिलकर काम करना होगा।

NSA ने कहा कि हमें देखते रहने के बजाय अपनी आवाज को मजबूत करने के साथ-साथ जमीनी स्तर पर अपने मतभेदों को दूर करना होगा। हमें भारत के हर वर्ग को यह महसूस कराना है कि हम एक साथ एक देश हैं, हमें इस पर गर्व है और यहां हर धर्म को स्वतंत्रता के साथ स्वीकार किया जाता है।

राष्ट्र विरोधी संगठनों पर बैन लगे
अखिल भारतीय सूफी सज्जादनशीन परिषद के अंतर धार्मिक सम्मेलन में धार्मिक नेताओं ने PFI और ऐसे ही राष्ट्र विरोधी गतिविधियों में शामिल संगठनों पर प्रतिबंध लगाने के लिए प्रस्‍ताव पारित किया।

अखिल भारतीय सूफी सज्जादनशीन परिषद के सम्मेलन में सभी धर्मों के धर्मगुरु मौजूद थे।
अखिल भारतीय सूफी सज्जादनशीन परिषद के सम्मेलन में सभी धर्मों के धर्मगुरु मौजूद थे।

निंदा नहीं, कुछ कर दिखाने का समय: चिश्ती
परिषद के अध्यक्ष हजरत सैयद नसीरुद्दीन चिश्ती ने कहा कि कोई भी घटना होने पर हम उसकी निंदा करते हैं, लेकिन अब निंदा करने का नहीं बल्कि कुछ कर दिखाने का समय है। देश में जितने भी कट्टरपंथी संगठन पैर पसार चुके हैं उन्हें बैन किया जाए। चाहे कोई भी कट्टरपंथी संगठन हो, उनके खिलाफ सबूत होने पर उन पर एक्शन लेना ही चाहिए।

खबरें और भी हैं...