• Hindi News
  • National
  • Parliament Monsoon Session Update; Parliament Monsoon Session, Parliament Session, Sonia Gandhi, Narendra Modi, BJP, Congress, NDA

मानसून सेशन के लिए टीम कांग्रेस तैयार:​​​​​​​सोनिया ने पार्टी लीडरशिप में बदलाव की चिट्ठी लिखने वाले लीडर्स को दिया अहम जिम्मा, अधीर रंजन लोकसभा में लीडर बने रहेंगे

नई दिल्ली3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी ने मानसून सेशन से पहले पार्टी के संसदीय ग्रुपों में बदलाव किया है। खास बात ये है कि पिछले साल कांग्रेस लीडरशिप को लेकर चिट्ठी लिखने वाले G-23 लीडर्स को अहम जिम्मेदारियां सौंपी गई हैं। इनमें मनीष तिवारी और शशि थरूर के भी नाम हैं। बंगाल कांग्रेस चीफ अधीर रंजन चौधरी को ही लोकसभा में कांग्रेस का लीडर बनाया गया है।

पहले ये कहा जा रहा था कि अधीर रंजन चौधरी को लोकसभा में कांग्रेस लीडर की पोस्ट से हटाया जा सकता है, क्योंकि कांग्रेस मानूसन सेशन में तृणमूल के साथ बेहतर फ्लोर कोऑर्डिनेशन चाहती है।

कांग्रेस के लोकसभा और राज्यसभा के संसदीय ग्रुपों में बदलाव
1.
अधीर रंजन को पद पर बरकरार रखा गया है। इसके अलावा दिवंगत कांग्रेस नेता तरुण गोगोई के बेटे गौरव गोगोई को लोकसभा में कांग्रेस का डिप्टी लीडर बनाया गया है।
2. लोकसभा में कांग्रेस के चीफ व्हिप का जिम्मा के सुरेश संभालेंगे। रवनीत सिंह बिट्टू और मनीकाम टैगोर पार्टी के व्हिप होंगे।
3. राज्यसभा में मल्लिकार्जुन खड़गे पार्टी के नेता होंगे और उनके डिप्टी का जिम्मा वरिष्ठ कांग्रेस नेता आनंद शर्मा संभालंगे।
4. राज्यसभा में चीफ व्हिप जयराम रमेश होंगे।
5. मनीष तिवारी और शशि थरूर 7 सदस्यीय संसदीय दल का हिस्सा होंगे। इस ग्रुप में अंबिका सोनी, पी चिदंबरम, दिग्विजय सिंह और केसी वेणुगोपाल को भी शामिल किया गया है।

संसदीय ग्रुप को सोनिया का निर्देश, रोज मिलना होगा
सोनिया गांधी ने संसदीय दलों को निर्देश दिया है कि मानसून सेशन के दौरान सभी रोजाना मुलाकात करेंगे। कोई संसदीय मसला उठ रहा है तो सेशन के बीच में भी मुलाकात करनी होगी। इन दलों की जॉइंट मीटिंग भी होगी और इसका जिम्मा मल्लिकार्जुन खड़गे को सौंपा गया है।

राफेल और वैक्सीनेशन पर सरकार को घेरेगी कांग्रेस
मानसून सेशन के दौरान कांग्रेस देश में धीमी रफ्तार से चल रहे वैक्सीनेशन, दूसरी कोरोना लहर, स्वास्थ्य सुविधाएं और राफेल डील के मुद्दे पर सरकार को घेरेगी। राफेल का मुद्दा 2019 में मोदी की दूसरी जीत के बाद से ठंडा पड़ा है। हालांकि, फ्रांस की अदालत ने जब इस डील की जांच के आदेश दिए, उसके बाद राहुल और दूसरे नेता लगातार इस मुद्दे को उठा रहे हैं।

मनीष तिवारी ने कहा है कि मानसून सेशन के पहले दिन किसानों को मुद्दे को लेकर कांग्रेस दोनों सदनों में स्थगन प्रस्ताव भी लाएगी।

खबरें और भी हैं...