• Hindi News
  • National
  • Sonia Gandhi Asked President Resignation Up, Punjab And Other Five State Election 2022 Ajay Kumar Lallu Navjot Singh Sidhu

करारी हार के बाद कांग्रेस की कार्रवाई:सोनिया ने 5 राज्यों के अध्यक्षों से मांगा इस्तीफा; उत्तराखंड पार्टी चीफ बोले- मेरा लेटर तैयार था, भेज दिया

नई दिल्ली5 महीने पहले

यूपी और पंजाब सहित 5 राज्यों में हार के बाद कांग्रेस हाईकमान ने कार्रवाई करते हुए इन प्रदेश अध्यक्षों से इस्तीफा मांगा है। पार्टी महासचिव रणदीप सिंह सुरजेवाला ने सोशल मीडिया पर इसकी जानकारी दी। कहा- सोनिया गांधी ने यूपी, पंजाब, उत्तराखंड, मणिपुर और गोवा के प्रदेश अध्यक्षों से इस्तीफा देने के लिए कहा है।

CWC की मीटिंग के बाद सोनिया गांधी एक्शन में हैं। उन्होंने पांचों राज्यों के प्रेसिडेंट्स को इस्तीफा देने के लिए कहा है।
CWC की मीटिंग के बाद सोनिया गांधी एक्शन में हैं। उन्होंने पांचों राज्यों के प्रेसिडेंट्स को इस्तीफा देने के लिए कहा है।

उत्तराखंड के प्रदेश अध्यक्ष ने दिया इस्तीफा
इधर, उत्तराखंड कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष गणेश गोदियाल ने अपना इस्तीफा सोनिया गांधी को भेज दिया है। सोशल मीडिया पर लेटर शेयर करते हुए गोदियाल ने लिखा- हाईकमान के आदेश के बाद मैंने अपना इस्तीफा भेज दिया है। हार की नैतिक जिम्मेदारी मेरी है। संगठन के तमाम कोशिशों के बावजूद हम सरकार नहीं बना पाए। वहीं यूपी कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने भी अपना इस्तीफा हाईकमान को भेज दिया है।

हाईकमान के आदेश के बाद गणेश गोदियाल ने अपना इस्तीफा अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी को भेजा। उन्होंने ट्वीट कर लेटर शेयर किया।
हाईकमान के आदेश के बाद गणेश गोदियाल ने अपना इस्तीफा अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी को भेजा। उन्होंने ट्वीट कर लेटर शेयर किया।

हार के बाद उठने लगी थी मांग
पांच राज्यों में कांग्रेस की करारी शिकस्त के बाद पंजाब में प्रदेश अध्यक्ष को हटाने की मांग उठ रही थी। यूपी और उत्तराखंड में भी पार्टी नेता एक-दूसरे पर हार का ठीकरा फोड़ रहे थे। यूपी के कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू हैं। उत्तराखंड में कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष गणेश गोदियाल हैं। गिरीश चोडांकर गोवा कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष है। मणिपुर में यह जिम्मेदारी एन लोकेन सिंह के पास है।

CWC ने सोनिया को दी थी एक्शन की जिम्मेदारी
हार के बाद समीक्षा के लिए बुलाई गई CWC की बैठक में सोनिया गांधी को फेरबदल के लिए अधिकृत किया गया था। मीटिंग में कहा गया था कि कार्यसमिति सोनिया गांधी के नेतृत्व पर भरोसा करती है और वे किसी भी तरह का बदलाव कर सकती हैं। इस बैठक में सभी राज्य के प्रभारियों ने हार के कारणों पर रिपोर्ट सौंपी थी।

खबरें और भी हैं...