पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • Sourav Ganguly Is Scheduled To Come To BJP At The PM Rally On March 7; Amit And Jai Shah Wrote The Screenplay

बंगाल में भाजपा का सियासी समीकरण:7 मार्च को मोदी की रैली में सौरव गांगुली का भाजपा में आना तय; अमित और जय शाह ने लिखी पटकथा

नई दिल्ली/कोलकाता3 महीने पहलेलेखक: मोहन मिश्रा
  • मिथुन चक्रवर्ती, प्रोसेनजीत समेत कई नामी हस्तियां मोदी की मौजूदगी में भाजपा में शामिल होंगी
  • भाजपा की सरकार बनाने की स्थिति बनी तो दिलीप घोष CM होंगे, सौरव और शुभेंदु डिप्टी सीएम होंगे

चुनाव के मद्देनजर बंगाल में बड़े नेताओं के दौरे जारी हैं। इस लिहाज से 7 मार्च बड़ी तारीख होगी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कोलकाता के ऐतिहासिक परेड ग्राउंड में बड़ी रैली करने वाले हैं। इस रैली में BCCI प्रेसीडेंट सौरव गांगुली का भाजपा में शामिल होना तय है। पार्टी के भरोसेमंद सूत्रों ने भास्कर से बातचीत में इसकी पुष्टि की है।

पार्टी सूत्रों के मुताबिक, इस दिन सौरव के साथ-साथ मिथुन चक्रवर्ती, प्रोसेनजीत समेत बंगाल की कई नामी हस्तियां भाजपा में शामिल होंगी। सूत्रों ने बताया कि गांगुली को भाजपा में लाने की पटकथा दिसंबर 2019 में ही लिखी जा चुकी थी। तब के पार्टी अध्यक्ष अमित शाह ने PM मोदी की सहमति के बाद इसकी तैयारी शुरू कर दी थी।

शाह ने गांगुली को BCCI प्रेसिडेंट बनाया
अमित शाह ने सबसे पहले उन्होंने गांगुली को बंगाल क्रिकेट एसोसिएशन से निकालकर BCCI प्रेसिडेंट बनाया। शाह के बेटे जय शाह तब BCCI के सचिव चुने गए। इसके बाद जय ने इस मुहिम को आगे बढ़ाया। हाल ही में गांगुली बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ से मिले थे। इससे पहले वे प्रधानमंत्री से भी मिल चुके थे। मीडिया में उनके भाजपा ज्वाइन करने की चर्चा कई दिनों से चल रही है, लेकिन भाजपा और खुद गांगुली ने इस पर चुप्पी साध रखी है।

सरकार बनी तो दिलीप घोष CM बनेंगे
भाजपा ने चुनाव के बाद सरकार और संगठन के समीकरण पर भी तैयारी कर ली है। इसके तहत अगर राज्य में भाजपा की सरकार बनती है तो पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष दिलीप घोष का मुख्यमंत्री बनना तय है। घोष बंगाल से हैं और TMC के खिलाफ हमेशा अपने बयानों से मुखर रहे हैं।

उत्तर प्रदेश फॉर्मूले के तहत 2 डिप्टी CM होंगे
उत्तर प्रदेश फॉर्मूले के तहत राज्य के बड़े चेहरों को साधने के लिए नई सरकार में पार्टी दो डिप्टी CM भी रखेगी। UP में जब भाजपा की सरकार बनी तो मुख्यमंत्री योगी आदित्यानाथ की टीम में दिनेश शर्मा और केशव प्रसाद मौर्य को डिप्टी CM बनाया गया। इसी फॉर्मूले को बंगाल में भी अपनाते हुए पार्टी TMC से बगावत कर BJP में आए शुभेंदु अधिकारी और सौरभ गांगुली को इसकी जिम्मेदारी दे सकती है। सब कुछ ठीक रहा तो गांगुली को किसी सुरक्षित सीट से विधानसभा भेजा जाएगा।

असम में सरमा की तरह शुभेंदु को मिलेगी जिम्मेदारी
असम की राजनीति के बड़े चेहरे हेमंत बिश्व सरमा जब कांग्रेस से भाजपा में आए तो उन्हें सरकार में नंबर दो की पॉजिशन मिली। वे पार्टी के संकटमोचक माने जाते हैं। शुभेंदु को भी इसी तर्ज पर बंगाल में पार्टी जिम्मेदारी सौंप सकती है। बंगाल में शुभेंदु के राजनीतिक प्रभाव को देखते हुए केंद्रीय चुनाव समिति की बैठक में भी पार्टी हाईकमान ने बुलाया है। ऐसे में समझा जा सकता है कि आने वाले समय में पार्टी में शुभेंदु का कद और बढ़ेगा।

बंगाल में तीसरे प्रमुख चेहरे मुकुल रॉय केंद्र में मंत्री बनेंगे
इन सबके साथ ही पार्टी ने अन्य बड़े चेहरों को भी साधने की तैयारी कर ली है। सूत्रों के मुताबिक CM और डिप्टी CM के तीन चेहरों के बाद एक प्रमुख चेहरा मुकुल रॉय का है। 66 साल के मुकुल राय कभी TMC में ममता बनर्जी के खास थे और पार्टी में उनकी नंबर दो की हैसियत थी। 2017 में ममता का साथ छोड़ भाजपा में आ गए। बंगाल में अगर भाजपा के लिए सब ठीक रहा तो मुकुल राॅय को केंद्र में मंत्री बनाया जा सकता है। वे मनमोहन सरकार में शिपिंग और रेल मंत्रालय संभाल चुके हैं। रॉय अभी पार्टी में राष्ट्रीय उपाध्यक्ष भी हैं।

घोष के CM बनने पर सिन्हा या महतो हो सकते हैं अध्यक्ष
वहीं, दिलीप घोष अगर CM बन जाते हैं तो उनकी जगह पार्टी में प्रदेश अध्यक्ष के लिए कई दावेदार हैं। इनमें राहुल सिन्हा और ज्योर्तिमय महतो का नाम सबसे आगे हो सकता है। राहुल सिन्हा पहले भी प्रदेश अध्यक्ष रह चुके हैं। ऐसे में उनकी दावेदारी मजबूत दिखती है। वहीं, ज्योर्तिमय महतो पुरुलिया से सांसद हैं। वे युवा हैं, साथ ही संगठन में उनकी अच्छी पकड़ भी है।

खबरें और भी हैं...