• Hindi News
  • National
  • Sri Krishna Janmashtami festival to be celebrated in Mathura on Saturday 24 August

मथुरा / जन्माष्टमी का जिम्मा निजी कंपनी को, श्रीकृष्ण का अभिषेक राजस्थानी गाय के दूध-घी से होगा



Sri Krishna Janmashtami festival to be celebrated in Mathura on Saturday 24 August
X
Sri Krishna Janmashtami festival to be celebrated in Mathura on Saturday 24 August

  • इस साल जन्माष्टमी 24 अगस्त को है, इसके लिए एक थीम निर्धारित की जाएगी
  • इसका जिम्मा निजी इवेंट मैनेजमेंट कंपनी के पास होगा
  • राज्य सरकार ने इसके लिए ढाई करोड़ रुपए का बजट तय किया है

Dainik Bhaskar

Aug 21, 2019, 08:26 AM IST

मथुरा (किशन चतुर्वेदी). मथुरा के मंदिरों में इस साल जन्माष्टमी पर्व ‘सशक्त भारत-समृद्ध भारत-अखण्ड भारत’ के संकल्प के साथ मनाया जाएगा। योगी आदित्यनाथ सरकार ने इस बार आस्था के उत्सव को इवेंट कंपनी के जरिए भव्य बनाने का फैसला किया है। इस बार अष्टमी पर्व पर स्वर्ण जड़ित कामधेनु स्वरूपा गाय जन्म के बाद कान्हा का दुग्धाभिषेक करेगी। इसके लिए राजस्थान से गाय का दूध और घी मंगाया जाएगा। अष्टमी पर्व शनिवार 24 अगस्त को मनाया जाएगा।

 

मथुरा में जन्माष्टमी के व्यवस्था की जिम्मेदारी किसी निजी इवेंट मैनेजमेंट कंपनी को दी जा रही है। पर्यटन विभाग ने इसके लिए प्रस्ताव मांगे हैं। कंपनी पूरे कार्यक्रम के लिए एक थीम निर्धारित करेगी और इसी थीम के आधार पर आयोजन स्थल को सजाया जाएगा। इसके लिए ढाई करोड़ रुपए का बजट तय किया गया है।

 

24 को ही दही हांडी कार्यक्रम
श्रीकृष्ण जन्मस्थान न्यास के मुताबिक, मथुरा के रामलीला मैदान पर मुख्य कार्यक्रम होगा। इस मैदान में 900 मेहमानों के बैठने की व्यवस्था की जाएगी। वहीं, सांस्कृतिक कार्यक्रमों के लिए 60 फीट लंबा और 40 फीट चौड़ा मंच तैयार किया जाएगा। इस मंच पर एलईडी स्क्रीन लगेगी। इवेंट मैनेजमेंट कंपनी को यहां तीन अस्थाई गेट बनाने होंगे। इस बार दही हांडी का भी कार्यक्रम भव्य तरीके से किया जाएगा। मुंबई की गैलेक्सी कंपनी को यह जिम्मा सौंपा गया है। दही हांडी का कार्यक्रम भी 24 अगस्त को ही  होगा। भगवान कृष्ण के जन्म के बाद रात 12:05 बजे मंदिरों और घरों में सामूहिक शंखनाद होगा। भगवान की पोशाक कोलकाता और मथुरा के कारीगर बना रहे हैं।

 

महाराष्ट्र से मंगाए गए हैं ढोल

  • मंदिर तक न पहुंच पाने वाले श्रद्धालु एलईडी स्क्रीन पर दर्शन कर सकेंगे।
  • घंटे घड़ियाल और ढोल पर महाराष्ट्र के कलाकार मंगल ध्वनि करेंगे।
  • बेशकीमती पोशाक में रत्न, मोती, रेशम, जरी और जरदोजी का काम होगा।
  • मेवा, कुटु, गोंद और मिगी के लड्डुओं का भोग लगाया जाएगा।
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना