दहेज न मिलने पर महिला को 2 साल कैद में रखा; भूख से वजन 20 किलो हुआ, मौत

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
  • ससुरालवालों ने खाने में महिला को सिर्फ चावल और शक्कर का घोल दिया
  • महिला आयोग ने केरल के डीजीपी को चिट्ठी लिखकर कड़ी कार्रवाई के निर्देश दिए

तिरुवनंतपुरम. शादी में दहेज नहीं मिलने पर केरल के एक परिवार ने बहू को दो साल तक कमरे में कैद रखा। भूख की वजह से उसकी मौत हो गई। पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में सामने आया है कि महिला का वजन 20 किलो रह गया था। कोल्लम पुलिस ने कार्रवाई करते हुए शनिवार को महिला के पति और सास को गिरफ्तार कर लिया।

1) महिला की 6 साल पहले शादी हुई थी

पुलिस के मुताबिक, पीड़िता थुसारा करुनागपल्ली की रहने वाली थी। उसकी शादी 6 साल पहले हुई थी। शादी के बाद से ही ससुरालवाले उससे दो लाख रु की मांग करने लगे थे। रकम नहीं लाने पर पति और सास ने उसे कमरे में बंद कर दिया। खाने में सिर्फ चावल और शक्कर का घोल दिया जाता था।

3) महिला की 6 साल पहले शादी हुई थी

पुलिस के मुताबिक, पीड़िता थुसारा करुनागपल्ली की रहने वाली थी। उसकी शादी 6 साल पहले हुई थी। शादी के बाद से ही ससुरालवाले उससे दो लाख रु की मांग करने लगे थे। रकम नहीं लाने पर पति और सास ने उसे कमरे में बंद कर दिया। खाने में सिर्फ चावल और शक्कर का घोल दिया जाता था।

महिला को 21 मार्च को बेसुध हालत में अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां डॉक्टर ने उसे मृत घोषित कर दिया। पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में महिला को प्रताड़ित किए जाने की बात सामने आई है। थुसारा के माता-पिता ने बताया कि शादी के बाद बेटी दो बार ही घर आई।

महिला को 21 मार्च को बेसुध हालत में अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां डॉक्टर ने उसे मृत घोषित कर दिया। पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में महिला को प्रताड़ित किए जाने की बात सामने आई है। थुसारा के माता-पिता ने बताया कि शादी के बाद बेटी दो बार ही घर आई।

महिला के भाई ने कहा कि हमें इसका अंदाजा नहीं था कि वह किस हाल में है। जब कोई उससे मिलने जाता, तो गर्भवती होने की बात कहकर नहीं मिलने दिया जाता था। इस दौरान महिला के दो बच्चे भी हुए। मामला उजागर होने के बाद महिला आयोग ने डीजीपी को पत्र लिखकर कड़ी कार्रवाई के निर्देश दिए हैं।

महिला के भाई ने कहा कि हमें इसका अंदाजा नहीं था कि वह किस हाल में है। जब कोई उससे मिलने जाता, तो गर्भवती होने की बात कहकर नहीं मिलने दिया जाता था। इस दौरान महिला के दो बच्चे भी हुए। मामला उजागर होने के बाद महिला आयोग ने डीजीपी को पत्र लिखकर कड़ी कार्रवाई के निर्देश दिए हैं।