आईएनएक्स केस / सुप्रीम कोर्ट चिदंबरम की याचिका पर सुनवाई को तैयार, हाईकोर्ट ने जमानत देने से इनकार किया था



पी चिदंबरम। (फाइल फोटो) पी चिदंबरम। (फाइल फोटो)
X
पी चिदंबरम। (फाइल फोटो)पी चिदंबरम। (फाइल फोटो)

  • पूर्व वित्त मंत्री चिदंबरम आईएनएक्स मीडिया के भ्रष्टाचार और मनी लॉन्ड्रिंग मामले में तिहाड़ में बंद हैं
  • दिल्ली हाईकोर्ट ने कहा था- चिदंबरम पर गंभीर आरोप, अगर जमानत दी गई तो लोगों के हितों के खिलाफ होगा

Dainik Bhaskar

Nov 18, 2019, 01:47 PM IST

नई दिल्ली. सुप्रीम कोर्ट पूर्व वित्त मंत्री पी. चिदंबरम की जमानत याचिका पर सुनवाई के लिए राजी हो गया है। चीफ जस्टिस एसए बोबडे की अध्यक्षता वाली पीठ मंगलवार या बुधवार को इस पर सुनवाई करेगी। चिदंबरम आईएनएक्स मीडिया से जुड़े मनी लॉन्ड्रिंग मामले में तिहाड़ जेल में बंद हैं, जबकि भ्रष्टाचार के मामले में उन्हें जमानत मिल गई थी।

 

दिल्ली हाईकोर्ट ने 15 नवंबर को आरोपों को गंभीर बताते हुए उन्हें जमानत देने से इनकार कर दिया था। कोर्ट ने कहा था कि इसमें कोई शक नहीं है कि जमानत लेना उनका अधिकार है, लेकिन ऐसे मामले में अगर जमानत दी जाती है तो यह बड़े पैमाने पर लोगों के हितों के खिलाफ होगा क्योंकि उन पर गंभीर आरोप हैं।

 

चिदंबरम के खिलाफ ईडी और सीबीआई के 2 केस

चिदंबरम पर आईएनएक्स मीडिया घोटाले में सक्रिय और मुख्य भूमिका निभाने का आरोप है। ईडी और सीबीआई अलग-अलग मामलों में उनके खिलाफ जांच कर रही है। सुप्रीम कोर्ट ने 22 अक्टूबर को उन्हें भ्रष्टाचार मामले में जमानत दे दी थी। मगर ईडी केस में जमानत मिलने के बाद ही वे जेल से बाहर आ सकेंगे। इससे पहले सीबीआई ने चिदंबरम को 21 अगस्त को गिरफ्तार किया था।

 

ईडी ने चिदंबरम की जमानत का विरोध किया था
कोर्ट ने हाल ही में चिदंबरम की न्यायिक हिरासत 27 नवंबर तक बढ़ा दी थी। इस पर चिदंबरम के वकील ने कोर्ट से कहा था कि उन पर देश छोड़कर जाने, गवाहों को प्रभावित करने और साक्ष्यों से छेड़छाड़ करने जैसे कोई आरोप नहीं हैं। ऐसे में उन्हें नियमित जमानत दी जानी चाहिए। ईडी ने चिदंबरम की जमानत याचिका का विरोध किया था। एजेंसी ने कोर्ट से कहा था कि चिदंबरम को अगर जमानत मिलती है, वे साक्ष्यों को प्रभावित कर सकते हैं।
 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना