तमिलनाडु जल संकट / मदुरै में हफ्ते में एक बार कूपन से मिल रहा पानी, बारिश के लिए प्रार्थना कर रहे लोग



मदूरै में कूपन के हिसाब से मिल रहा आरओ वॉटर। मदूरै में कूपन के हिसाब से मिल रहा आरओ वॉटर।
पानी के लिए प्रत्येक राशन कार्ड पर एक कूपन दिया जा रहा। पानी के लिए प्रत्येक राशन कार्ड पर एक कूपन दिया जा रहा।
Tamil Nadu water crisis in chennai madurai and koyanbathoor water tanker rate
X
मदूरै में कूपन के हिसाब से मिल रहा आरओ वॉटर।मदूरै में कूपन के हिसाब से मिल रहा आरओ वॉटर।
पानी के लिए प्रत्येक राशन कार्ड पर एक कूपन दिया जा रहा।पानी के लिए प्रत्येक राशन कार्ड पर एक कूपन दिया जा रहा।
Tamil Nadu water crisis in chennai madurai and koyanbathoor water tanker rate

  • बारिश के लिए अन्नाद्रमुक के सदस्य और तमिलनाडु सरकार के मंत्रियों ने मदुरै के मंदिर में पूजा की
  • चेन्नई में हर दिन 80 करोड़ लीटर पानी की आवश्यकता, सप्लाई हो रहा सिर्फ 52 करोड़ लीटर

Dainik Bhaskar

Jun 23, 2019, 01:47 PM IST

चेन्नई. तमिलनाडु में जल संकट छाया हुआ है। राजधानी चेन्नई में नगर निगम टोकन के जरिए टैंकरों से पानी सप्लाई कर रही है। वहीं, मदूरै कॉर्पोरेशन शहरवासियों को हफ्ते में एक दिन आरओ वॉटर (शुध्द किया हुआ पानी) उपलब्ध करा रहा है। मुदैरे कॉर्पोरेशन कूपन के हिसाब से लोगों को पानी उपलब्ध करा रहा है। साथ ही पानी के लिए प्रत्येक राशन कार्ड पर एक कूपन दिया जा रहा। जल संकट से जूझ रहे लोग भगवान से बारिश के लिए प्रार्थनाएं कर रहे हैं। डीएमके समेत सभी राजनीतिक पार्टियां भी पूजा कर रही हैं।

प्राइवेट टैंकर 3 से 4 हजार रुपए तक वसूल रहे

  1. चेन्नई अथॉरिटी ने पाइप लाइन से आने वाले पानी की आपूर्ति में 40% की कटौती की है। चेन्नई मेट्रो वॉटर एजेंसी पाइप के जरिए दिन में सिर्फ 52 करोड़ लीटर की आपूर्ति करती है, जबकि शहर को हर दिन 80 करोड़ लीटर पानी की आवश्यकता होती है। राजधानी के चार जलाशय सूख गए हैं। उधर, मद्रास हाई कोर्ट ने राज्य सरकार को नोटिस जारी कर पानी की समस्या के बारे में जवाब मांगा है।

  2. बारिश के लिए अन्नाद्रमुक (एआईएडीएमके) के सदस्य और तमिलनाडु सरकार के मंत्रियों ने मदुरै के मंदिर में पूजा की। मीनाक्षी मंदिर में अन्नाद्रमुक के सदस्यों के साथ तमिलनाडु सरकार में मंत्री सेल्लुर के राजू और मदुरै उत्तर के विधायक वीवी राजन चेलप्पा शामिल रहे। इन्होंने बारिश के लिए मीनाक्षी मंदिर में पूजा की। वहीं, कोयंबटूर में मंत्री एसपी वेलुमनी ने दरगाह में चादर चढ़ाने के साथ चर्च में प्रार्थना की।

    Tamil

  3. जल संकट का दूसरा कारण कर्नाटक के साथ चल रहा कावेरी विवाद भी है। दक्षिणी चेन्नई में लोगों को एक बाल्टी पानी के लिए 3 घंटे तक इंतजार करना पड़ रहा। प्राइवेट टैंकर मालिक प्रति टैंकर 3 से 4 हजार रुपए तक वसूल रहे। उसके लिए भी हफ्तों की वेटिंग है।

  4. मुख्यमंत्री पलानीस्वामी ने शुक्रवार को सरकार की बैठक के बाद बताया था कि सरकार ने जोलारपेट्टई से रेलमार्ग द्वारा प्रतिदिन 1 करोड़ लीटर पानी लाने की योजना बनाई है। जोलारपेट्टई चेन्नई से 220 किमी दूर है।

  5. राष्ट्रीय जल अकादमी के पूर्व निदेशक मनोहर खुशलानी ने बताया था कि चेन्नई में 2015 में बाढ़ आई थी। उसके बाद से यहां सूखा है। जलाशयों और नहरों में भी पानी सूख गया है। अब पानी संग्रहण करने की काफी जरूरत है। सरकार को शहर में बढ़ रहे अतिक्रमण को भी रोकना चाहिए।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना