पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • National
  • India China Eastern Ladakh Border Tension | India Army PLA LAC Clashes Update | Clashes Between India And China Troops In Pangong Tso

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

टकराव की आशंका:लद्दाख में 75 दिन बाद फिर तनाव: एक दिन पहले भारत ने चीनी सेना की घुसपैठ नाकाम की; चीन ने सीमा के पास फाइटर प्लेन भी तैनात किए

नई दिल्ली5 महीने पहले
तस्वीर लद्दाख में चीन सीमा के पास की है। 15 जून को गलवान झड़प के बाद भारतीय वायुसेना ने सीमावर्ती इलाकों में कई उड़ानें भरी थीं। (फाइल फोटो)
  • चीनी सैनिकों ने भारतीय इलाके में घुसपैठ करने की कोशिश की थी, हमारी सेना ने पैगॉन्ग सो झील के पास रोक लिया
  • 15 जून को लद्दाख के गलवान में चीन और भारत के सैनिकों में हिंसक झड़प हुई थी, भारत के 20 जवान शहीद हो गए थे
  • अब भारत की दो टूक- हम बातचीत के जरिए शांति कायम करने के लिए प्रतिबद्ध, लेकिन अपनी सीमाओं की सुरक्षा प्राथमिकता

चीन की घुसपैठ को लेकर रक्षा मंत्रालय ने सोमवार को एक नोट जारी किया। इसमें कहा गया है कि चीन ने फिर यथास्थिति (Status Quo) का उल्लंघन किया है। नोट के मुताबिक, 29 अगस्त की रात चीनी सेना ने पूर्वी लद्दाख के भारतीय इलाके में घुसपैठ की कोशिश की। भारतीय जवानों ने चीनी सैनिकों की इस कोशिश को नाकाम कर दिया। न्यूज एजेंसी एएनआई के मुताबिक, इससे पहले चीन ने लद्दाख के पास अपने जे-20 फाइटर प्लेन भी तैनात कर दिए थे।

रक्षा मंत्रालय ने यह भी बताया कि भारतीय सेना ने चीन के सैनिकों को पैंगॉन्ग सो झील के दक्षिणी किनारे पर ही रोक दिया। भारत ने यह भी कहा कि हमारी सेना बातचीत के जरिए शांति कायम करने के लिए प्रतिबद्ध है, लेकिन हम अपनी सीमाओं की सुरक्षा करना जानते हैं। इस मुद्दे को सुलझाने के लिए चुशूल में ब्रिगेड कमांडर लेवल की बातचीत भी हो रही है। 15 जून को लद्दाख के गलवान में चीन और भारत के सैनिकों में हिंसक झड़प हुई थी, जिसमें हमारे 20 जवान शहीद हो गए थे।

अब भी उड़ान भर रहे चीनी फाइटर
सरकारी अफसरों के हवाले से न्यूज एजेंसी ने बताया कि चीन की पीपुल्स लिबरेशन आर्मी एयर फोर्स (पीएलएएफ) ने होतान एयरबेस पर जे-20 फाइटर प्लेन तैनात किए हैं। ये फाइटर 29-30 अगस्त की दरमियानी रात हुई घटना के पहले ही डिप्लॉय किए गए। होतान एयरबेस लद्दाख से नजदीक है। चीन ने ये तैनाती रणनीति के तहत की है। लड़ाकू विमान अब भी उड़ान भर रहे हैं। 10 सितंबर को भारत के पांचों राफेल वायुसेना में शामिल किए जाएंगे।

बातचीत से कोई हल नहीं निकला
गलवान झड़प के बाद लद्दाख में विवादित इलाकों से सैनिक हटाने के लिए भारत-चीन के आर्मी अफसरों के बीच 2 बार मीटिंग हो चुकी हैं। ये बैठकें 30 जून और 8 अगस्त को चीन के इलाके में पड़ने वाले मॉल्डो में हुई थीं, लेकिन इसका कोई खास नतीजा सामने नहीं आया।

चीन 3 इलाकों से पीछे नहीं हट रहा
आर्मी और डिप्लोमैटिक लेवल की कई राउंड की बातचीत के बावजूद चीन पूर्वी लद्दाख के फिंगर एरिया, देप्सांग और गोगरा इलाकों से पीछे नहीं हट रहा। चीन के सैनिक 3 महीने से फिंगर एरिया में जमे हुए हैं। अब उन्होंने बंकर बनाने और दूसरे अस्थायी निर्माण करने भी शुरू कर दिए हैं।

सीडीएस रावत बोले थे- चीन नहीं माना तो सैन्य विकल्प तैयार
भारत-चीन सीमा विवाद को लेकर चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ (सीडीएस) जनरल बिपिन रावत ने हाल ही में बड़ा बयान दिया था। रावत ने कहा था, ‘‘चीन के साथ बातचीत से विवाद नहीं सुलझा तो सैन्य विकल्प भी खुला है। हालांकि, शांति से समाधान तलाशने की कोशिशें की जा रही हैं। आर्मी से लद्दाख में लाइन ऑफ एक्चुअल कंट्रोल (एलएसी) के आस-पास अतिक्रमण रोकने और इस तरह की कोशिशों पर नजर रखने के लिए कहा गया है। (पूरी खबर पढ़ें)

भारत-चीन विवाद को लेकर आप ये खबरें भी पढ़ सकते हैं...

1. भारत ने चीन के सुझाव को ठुकराया; चीन ने लद्दाख में फिंगर एरिया से दोनों देशों की सेनाएं बराबरी से पीछे हटाने का सुझाव दिया था

2. भारत-चीन तनाव:सीमा विवाद के समाधान को लेकर चीन गंभीर नहीं; भारत ने कहा- तनाव खत्म करने के लिए पूर्वी लद्दाख में पहले जैसी स्थिति बहाल हो

3. लद्दाख सीमा विवाद:भारत-चीन के बीच जॉइंट सेक्रेटरी लेवल की बातचीत हुई; कम्प्लीट डिसएंगेजमेंट और मामले को तेजी से हल करने पर सहमति बनी

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- व्यस्तता के बावजूद आप अपने घर परिवार की खुशियों के लिए भी समय निकालेंगे। घर की देखरेख से संबंधित कुछ गतिविधियां होंगी। इस समय अपनी कार्य क्षमता पर पूर्ण विश्वास रखकर अपनी योजनाओं को कार्य रूप...

और पढ़ें

Open Dainik Bhaskar in...
  • Dainik Bhaskar App
  • BrowserBrowser